ADVERTISEMENT

राहुल गांधी ने खुद को मुस्लिम बताया,कहा पाकिस्तान की मदद जरूरी?फेक है स्क्रीनशॉट

ABP News ने Rahul Gandhi को लेकर ऐसा कोई बुलेटिन नहीं चलाया. ये तस्वीरें एडिटेड हैं.

Updated
राहुल गांधी ने खुद को मुस्लिम बताया,कहा पाकिस्तान की मदद जरूरी?फेक है स्क्रीनशॉट
i

सोशल मीडिया पर कई एडिटेड तस्वीरों का एक सेट वायरल हो रहा है. इसे इस दावे से शेयर किया जा रहा है कि ABP News ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को लेकर एक बुलेटिन चलाया है. और ये बुलेटिन उनकी उस टिप्पणी को लेकर चलाया गया है, जब उन्होंने कथित तौर पर कहा कि उनके पूर्वज और वो मुस्लिम हैं.

वायरल हो रही इन एडिटेड तस्वीरों में से एक के मुताबिक, राहुल गांधी ने कहा है, ''पाकिस्तान की मदद करना जरूरी है और हम ये जरूर करेंगे.''

ADVERTISEMENT

हालांकि, हमने पाया कि ये वायरल तस्वीरें ऑफिशियल ABP News बुलेटिन की फोटो को एडिट कर बनाई गई हैं. साथ ही, चैनल ने ऐसे विजुअल नहीं चलाए.

दावा

वायरल हो रही 4 तस्वीरों में से एक में लिखे टेक्स्ट के मुताबिक, राहुल गांधी ने कहा था कि कांग्रेस मुस्लिमों की है और उनकी ही रहेगी.

<div class="paragraphs"><p>पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://perma.cc/QS2Y-QRN7">यहां</a> क्लिक करें</p></div>

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

कई यूजर्स ने इन तस्वीरों को फेसबुक पर शेयर किया है. ये दावा साल 2018 से शेयर हो रहा है. इनके आर्काइव आप यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.

पड़ताल में हमने क्या पाया

हमें ABP News की ओर से शेयर किया गया नवंबर 2018 की एक ट्वीट मिला. इस ट्वीट में वायरल हो रहे स्क्रीनशॉट्स का इस्तेमाल कर चैनल की ओर से बताया गया था कि ये विजुअल चैनल ने नहीं चलाए.

चैनल ने ये भी बताया था कि वायरल विजुअल उनके ऑफिशियल टेम्प्लेट के साथ छेड़छाड़ करके बनाए गए हैं.

इसके बाद, हमने वायरल तस्वीरों की ABP News के 2018 के एक ऑफिशियल बुलेटिन से तुलना की. हमें दोनों के फॉन्ट में काफी अंतर नजर आया.

<div class="paragraphs"><p>बाएं वायरल फोटो, दाएं ABP News का 2018 का ऑफिशियल बुलेटिन</p></div>

बाएं वायरल फोटो, दाएं ABP News का 2018 का ऑफिशियल बुलेटिन

(फोटो: Altered by The Quint)

वायरल हो रहे स्क्रीनशॉट में से एक में हिंदी में 'कांग्रेस' शब्द लिखा हुआ है. ऑफिशियल न्यूज बुलेटिन से इसकी तुलना करने पर हमने पाया कि शब्द की स्पेलिंग गलत है. कांगेस की जगह कोंग्रेस लिखा हुआ है.

<div class="paragraphs"><p>बाएं वायरल फोटो, दाएं ABP News का 2018 का ऑफिशियल बुलेटिन</p></div>

बाएं वायरल फोटो, दाएं ABP News का 2018 का ऑफिशियल बुलेटिन

(फोटो: Altered by The Quint)

हमने ABP News के 'Breaking News' वाले टेम्प्लेट को भी ध्यान से देखा और पाया कि वायरल फोटो में दिखने वाला 'Breaking News' टेम्प्लेट और ABP News के टेम्प्लेट में फर्क है.

<div class="paragraphs"><p>मौजूदा ABP News बुलेटिन का टेम्प्लेट वायरल तस्वीरों में दिख रहे टेम्प्लेट से काफी अलग है.</p></div>

मौजूदा ABP News बुलेटिन का टेम्प्लेट वायरल तस्वीरों में दिख रहे टेम्प्लेट से काफी अलग है.

(फोटो: स्क्रीनशॉट/ABP News)

ADVERTISEMENT

क्या है राहुल गांधी की कथित टिप्पणी पर 2018 विवाद

जुलाई 2018 में, एक विवाद तब खड़ा हो गया जब एक उर्दू दैनिक Inquilab ने छापा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा था कि कांग्रेस एक "मुस्लिम पार्टी" थी.

बीजेपी ने तब कांग्रेस नेता को सवालों के घेरे में लिया था. जिसके बाद राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा था कि उनमें और उनकी पार्टी में सभी लोगों के लिए प्यार है और लोगों की जाति या धर्म कोई मायने नहीं रखती.

प्रियंका चतुर्वेदी, जो उस समय कांग्रेस से जुड़ी थीं, ने न्यूजपेपर की इस रिपोर्ट को खारिज कर दिया था.

<div class="paragraphs"><p>Inquilab में प्रकाशित रिपोर्ट को खारिज करने के लिए किया गया प्रियंका चतुर्वेदी का ट्वीट</p></div>

Inquilab में प्रकाशित रिपोर्ट को खारिज करने के लिए किया गया प्रियंका चतुर्वेदी का ट्वीट

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

इतिहासकार इरफान हबीब ने भी ट्वीट करके इस बारे में बताया था कि वो भी इस मीटिंग मे मौजूद थे और ''ऐसा कोई मुद्दा आया ही नहीं था.''

<div class="paragraphs"><p>इस मी़टिंग में इरफान हबीब भी मौजूद थे, ये उन्होंने खुद ट्वीट कर बताया था</p></div>

इस मी़टिंग में इरफान हबीब भी मौजूद थे, ये उन्होंने खुद ट्वीट कर बताया था

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

इस बीच Inquilab के लिए रिपोर्ट लिखने वाले पत्रकार मुमताज आलम रिजवी ने तब न्यूज एजेंसी ANI से कहा था कि कांग्रेस को राहुल गांधी के बयान से पीछे नहीं हटना चाहिए था.

रिजवी ने कहा था, ''अगर BJP ने हमें मुस्लिम पार्टी बना दिया है तो हां हम मुस्लिम पार्टी हैं. क्योंकि इस देश में मुसलमान कमजोर हैं और कांग्रेस हमेशा कमजोर के लिए खड़ी होती है. उन्होंने जो कहा, उसमें कुछ भी गलत नहीं है. इसलिए, कांग्रेस को इस मामले में रक्षात्मक नहीं होना चाहिए.

ABP News ने भी इस 2018 के इस मामले को कवर किया था. हालांकि, ऐसा कोई कंटेंट न्यूज चैनल की ओर से प्रसारित नहीं किया गया था, जैसा कि वायरल स्क्रीनशॉट में दिख रहा है.

मतलब साफ है कि कई सोशल मीडिया यूजर्स ने ABP News के बुलेटिन की एडिट की हुई तस्वीरें शेयर की हैं जिनमें राहुल गांधी के नाम से गलत बयान दिख रहे हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×