ADVERTISEMENTREMOVE AD

ऑपरेशन के दौरान डॉक्टरों में बहस का वीडियो न तो चंडीगढ़ का है, न ही पाकिस्तान का

Fact Check: ये वीडियो जोधपुर के एक अस्पताल का है और 2017 का है.

Published
छोटा
मध्यम
बड़ा

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें ऑपरेशन थिएटर के अंदर डॉक्टरों को बहस करते देखा जा सकता है.

क्या है दावा?: वीडियो शेयर कर दावा किया जा रहा है कि चंडीगढ़ (Chandigarh) में पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (PGI) का है.

वहीं पाकिस्तानी-कनाडाई स्तंभकार तारिक फतह ने भी ये वीडियो शेयर किया है और इसे पाकिस्तान का बताया है. तारिक फतेह इसके पहले भी कई बार फेक दावे शेयर कर चुके हैं.

  • पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

    (सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

(ऐसे और भी पोस्ट के आर्काइव आप यहां और यहां देख सकते हैं.)

ADVERTISEMENTREMOVE AD

सच क्या है?: ये वीडियो न तो पाकिस्तान का है और न ही चंडीगढ़ का. हमने पाया कि ये वीडियो 2017 का है और राजस्थान के जोधपुर में मौजूद उमेद हॉस्पिटल का है.

हमने सच का पता कैसे लगाया?:

  • वीडियो वेरिफिकेशन टूल InVID का इस्तेमाल कर हमने वीडियो के कई कीफ्रेम निकाले और उनमें से कुछ पर रिवर्स इमेज सर्च किया.

  • इससे हमें Deccan Herald का 30 अगस्त 2017 का एक ट्वीट मिला. इसके कैप्शन के मुताबिक, ये वीडियो राजस्थान के जोधपुर का है.

यहां से क्लू लेकर, गूगल पर कीवर्ड सर्च किया. इससे हमें 2017 की इस घटना से जुड़ी कई न्यूज रिपोर्ट्स (यहां, यहां और यहां) मिली.

Hindustan Times की रिपोर्ट के मुताबिक, ये वीडियो जोधपुर के उमेद हॉस्पिटल में शूट किया गया था. जहां गायनेकोलॉजिस्ट अशोक नैनवाल एक ऑपरेशन के दौरान एनेस्थिसिया एक्सपर्ट मथुरालाल टाक से बहस कर रहे थे.

BBC की रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसा कन्फ्यूजन हुआ था कि डॉक्टरों की बहस की वजह से बच्चे की मौत हुई थी. हालांकि, जोधपुर के उमेद हॉस्पिटल की अधीक्षक डॉ. रंजना देसाई ने कहा कि बच्चे की मौत की वजह ये बहस नहीं थी.

निष्कर्ष: जोधपुर का पुराना वीडियो हाल का बताकर गलत दावे से शेयर किया जा रहा है.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×