‘PUBG बैन से इकनॉमी तबाह होगी’-अमर्त्य सेन ने ऐसा कुछ नहीं कहा 

गेमिंग एप PUBG को बैन करने के बाद ये फेक न्यूज सोशल मीडिया पर वायरल हुई है.

Published
वेबकूफ
3 min read
 नोबोल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन का मनगढ़ंत बयान किया वायरल
i

सोशल मीडिया यूजर्स ने दावा किया कि अर्थशास्त्री और नोबोल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन (Amartya Sen) ने कहा है कि PUBG बैन होने से इंडियन इकनॉमी का और ज्यादा नुकसान होगा.

हालांकि अमर्त्य सेन की बेटी अंतरा देव सेन ने द क्विंट को बताया कि उनके पिता ने इस तरह का कोई बयान नहीं दिया है. उनका ये बयान गलत है. सूचना और तकनीकी मंत्रालय के गेमिंग एप PUBG को बैन करने के बाद ये फेक न्यूज सोशल मीडिया पर वायरल हुई है.

दावा

ट्विटर पर पोस्ट करते हुए दावा किया गया कि नोबोल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन ने कहा है कि PUBG बैन से इंडियन इकनॉमी का और ज्यादा नुकसान होगा. उनके इस कथित बयान को लेकर मजाक किया है. मीम बनाए गए. इस पर राइट विंग से जुड़े तथागत रॉय ने तस्तीक करते हुए लिखा 'एकदम सही.'

आर्काइव किया हुआ ट्वीट
आर्काइव किया हुआ ट्वीट
(Source: Twitter/ Screenshot)
आर्काइव किया हुआ ट्वीट
आर्काइव किया हुआ ट्वीट
(Source: Twitter/ Screenshot)

ट्विटर के अलावा फेसबुक पर भी इसे खूब शेयर किया गया.

आर्काइव किया हुआ ट्वीट
आर्काइव किया हुआ ट्वीट
(Source: Facebook/ Screenshot)

हमें क्या मिला?

जब हमने इसकी खोज में “Amartya Sen PUBG” इस की वर्ड से गूगल पर सर्च किया. तो हम कुछ बंगाली भाषा में लिखी गई लिंक तक पहुंचे. इसके अलावा हमें भारत न्यूज नाम का ब्लॉग स्पॉट भी मिला. इस पर ये 4 नवंबर को पब्लिश हुआ था.

उस आर्टिकल की हेडलाइन थी- ‘By shutting down PUBG, Modi has pushed the country’s economy further back: Amartya Sen.’ मतलब अमर्त्य सेन ने कहा है कि PUBG पर बैन लगाकर मोदी ने इंडियन इकनॉमी का और ज्यादा नुकसान कर दिया. लेकिन खास बात ये है कि आर्टिकल को हटा लिया गया. अब वो इंटरनेट पर मौजूद नहीं है.

ब्लॉग स्पॉट पर बंगाली में लिखा हुआ आर्टिकल
ब्लॉग स्पॉट पर बंगाली में लिखा हुआ आर्टिकल
(Source: Website/ Screenshot)

लेकिन क्या अमर्त्य सेन ने ऐसा सही में कहा. हमने इससे जुड़े जरूरी की वर्ड से सर्च किया लेकिन हमें इस तरह की कोई खबर नहीं मिली, जिसमें अमर्त्य सेन ने पबजी से जुड़ा कोई बयान दिया हो.

इसके बाद अमर्त्य सेन की बेटी ने द क्विंट को बताया कि उनके पिता ने इस तरह का कोई बयान नहीं दिया है. उनका कहना है कि ‘उनका बयान मनगढ़ंत है’

साफ है कि अमर्त्य सेन जैसी बड़ी शख्सियत के नाम का इस्तेमाल इस झूठ को फैलाने के लिए किया गया जबकि अमर्त्य सेन ने खुद ऐसा कुछ कहा ही नहीं.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!