ADVERTISEMENT

राम मंदिर और किसानों को लेकर मोदी-शाह के ये फेक ‘बयान’ वायरल

पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के नाम पर किसान और राम मंदिर से जुड़े विवादित बयान वायरल

Updated
राम मंदिर और किसानों को लेकर मोदी-शाह के ये फेक ‘बयान’ वायरल

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

सोशल मीडिया पर अखबार की दो क्लिप वायरल हो रही हैं. इन क्लिप के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के बताकर झूठे बयान शेयर किए जा रहे हैं.

पहली क्लिप की हेडलाइन है - कभी नहीं बनेगा राम मंदिर : अमित शाह, दूसरी हेडलाइन है - हिंदुओं का भरोसा जीतने के लिए मुस्लिमों किसानों को मरवाना जरूरी था : नरेंद्र मोदी . वेबकूफ की पड़ताल में सामने आया कि अखबार की दोनों क्लिप एडिटेड हैं.

ADVERTISEMENT

दावा

अखबार की क्लिप के साथ शेयर किया जा रहा कैप्शन है - बड़ी मुश्किल से अखबार की ये एक कापी मिली है! इसे मोदी सरकार ने गायब करा दिया है!

पोस्ट का आर्काइव यहां देखें
ADVERTISEMENT
पोस्ट का आर्काइव यहां देखें
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

2020 में भी ये दावा किया जा चुका है

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें
ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

वायरल फोटो को गूगल पर रिवर्स सर्च करने से हमें बीबीसी हिंदी की फैक्ट चेक रिपोर्ट मिली. 2 साल पुरानी इस रिपोर्ट में दावे को फेक बताया जा चुका है. रिपोर्ट में मोदी और अमित शाह के नहीं अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव के बयानों से जुड़ी अखबार की क्लिप है.

ADVERTISEMENT

दोनों क्लिप को मिलान करने पर साफ हो रहा है कि दोनों एक ही हैं. दोनों खबरों का डिजाइन बिल्कुल एक है. दोनों क्लिप में खबरों के बॉक्स एक विशेष जगह पर ही हैं. यहां तक की दोनों खबरों में कई टेक्स्ट भी एक हैं. जैसे संतो को मोहरा बना रही है भाजपा: सपा,” “न्यूज़ चैनल झूठे, प्रिंट मीडिया ठीक” और “अमर उजाला ब्यूरो

ADVERTISEMENT

कुछ कीवर्ड सर्च करने से हमें 2013 और 2014 की मीडिया रिपोर्ट्स भी मिलीं. जिसमें अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव के वायरल क्लिप में दिख रही खबर से मिलते-जुलते बयान हैं.

ADVERTISEMENT

ऐसी कोई रिपोर्ट हमें नहीं मिली जिससे पुष्टि होती हो कि अखिलेश यादव ने कभी भी राम मंदिर न बनने देने की बात कही थी. लेकिन वायरल क्लिप की खबर से मिलता सबहेड ( संतो को मोहरा बना रही है भाजपा: सपा) दैनिक जागरण के 23 अगस्त 2013 के आर्टिकल में मिला.

ADVERTISEMENT

आर्टिकल में समाजवादी पार्टी सरकार के अयोध्या में चौरासी कोस परिक्रमा पर प्रतिबंध लगाने का जिक्र है, जिसे विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने स्वीकार करने से इंकार कर दिया था, VHP ने कहा था कि सपा ने अपने मुस्लिम नेताओं के आगे घुटने टेक दिए हैं.

इस पर समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा था - भाजपा संतों को मोहरा बना रही है.

ADVERTISEMENT

अमर उजाला की वेबसाइट पर हमें 2013 का एक और आर्टिकल हमें मिला. जिसकी हेडलाइन है- चौरासी कोस यात्रा को लेकर चौकन्ना रहा प्रशासन

ADVERTISEMENT

मुलायम सिंह यादव का बयान

मुलायम सिंह यादव के बताए जा रहे बयान ( मुलायम: मुसलमानों का भरोसा जीतने के लिए हिदुओ पर गोलियां चलवाना जरूरी था”) की सत्यता जांचने के लिए हमने अलग-अलग कीवर्ड सर्च किए. हमें अमर उजाला वेबसाइट पर 7 फरवरी, 2014 को पब्लिश किया गया इससे मिलती-जुलती हेडलाइन का आर्टिकल मिला. हेडलाइन है. गोली नहीं चलवाता तो मुस्लिमों का भरोसा टूट जाता

ADVERTISEMENT

आर्टिकल के मुताबिक मुलायम सिंह यादव ने कहा - 1990 में उन्होंने अयोध्या में गोली चलवाई और 16 जानें भी गईं। उस समय यदि वह ऐसा नहीं करते तो देश के मुसलमानों का सपा से विश्वास टूट जाता

मतलब साफ है कि सोशल मीडिया पर अमित शाह और नरेंद्र मोदी के बयानों की बताई जा रही अखबार की क्लिप एडिटेड हैं.  दावा फेक है.

ADVERTISEMENT

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×