ADVERTISEMENT

Fact Check:लड़कियों को चाकू दिखाते शख्स का वीडियो झूठे सांप्रदायिक दावे से वायरल

`वीडियो में चाकू दिखाकर युवतियों को धमकाते शख्स का वीडियो इस झूठे दावे से शेयर किया गया कि वो मुस्लिम समुदाय से है

Published

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक शख्स दो लड़कियों को चाकू दिखाकर धमकाते हुए दिख रहा है. वीडियो शेयर कर युवक को 'लव जिहादी' बताते हुए इशारा किया जा रहा है कि मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) में एक मुस्लिम समुदाय (Muslim Community) के युवक हिंदू बच्चियों को डरा रहा है.

हालांकि, पड़ताल में हमने पाया कि वायरल वीडियो मध्य प्रदेश के इंदौर का तो है, लेकिन इसके साथ शेयर हो रहा दावा सही नहीं है. वीडियो में दिख रहा शख्स मुस्लिम कम्यूनिटी से नहीं बल्कि हिंदू कम्यूनिटी से है. संबंधित थाने के इंसपेक्टर ने भी दावे को खारिज करते हुए आरोपी को हिंदू समुदाय का बताया है.

ADVERTISEMENT

दावा

वीडियो शेयर कर एक फेसबुक यूजर ने लिखा, ''यह देखो लव जिहादी हिंदू बच्चियों को कैसे डरा धमका कर अपने जाल में फंसाते है अगर किसी भी बच्ची को कोई भी इस प्रकार से धमकाए तो डरने की जरूरत नही है तुरंत अपने घर वालो को जानकारी देकर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराए*तो यह लोग अपने मकसद में कामयाब नही हो पाएंगे''

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

पोस्ट को कई सोशल मीडिया यूजर्स ने ऐसे ही दावे से शेयर किया है. इनमें से कुछ के आर्काइव आप यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया?

वायरल वीडियो एमपी के इंदौर शहर का बताया जा रहा है. यहां से क्लू लेकर हमने गूगल पर वीडियो से जुड़े जरूरी कीवर्ड डालकर सर्च किया.

हमें News 18 पर 27 जुलाई को पब्लिश एक रिपोर्ट मिली, जिसमें इस्तेमाल की गई फोटो में वही शख्स देखा जा सकता है जो वायरल वीडियो में दिख रहा है.

रिपोर्ट की हेडलाइन थी, ''Indore: शादी के लिए चाकू की नोक पर युवती को धमकाया, सनकी आशिक गिरफ्तार''.

ये स्टोरी 27 जुलाई 2022 को पब्लिश हुई थी

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/News18)

रिपोर्ट के मुताबिक, ये मामला इंदौर के एमआईजी थाना क्षेत्र का है. जहां 25 जुलाई को पीयूष उर्फ शानू नाम के एक सिरफिरे आशिक ने एक युवती और उसकी सहेली को चाकू की नोक पर धमकाया था.

ADVERTISEMENT

स्टोरी में, एमआईजी थाना प्रभारी अजय वर्मा के हवाले से बताया गया है कि वीडियो के वायरल होने के बाद आरोपी पीयूष को गिरफ्तार कर लिया गया है. हालांकि, युवती की तरफ से कोई शिकायत नहीं की गई. लेकिन पुलिस ने स्वत: संज्ञान लेकर कार्रवाई की.

हमने मध्य प्रदेश पुलिस की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर भी देखा. हमें मामले से जुड़ी 25 जुलाई 2022 की कॉपी मिली.

एफआईआर के मुताबिक, भरत सिंह रावत के बेटे पीयूष रावत को चाकू लहराने के जुर्म में आर्म्स एक्ट की धारा 25 के तहत गिरफ्तार किया गया था.

मामले से जुड़ी FIR कॉपी

(सोर्स:एमपी पुलिस ऑफिशियल वेबसाइट)

ADVERTISEMENT

हमने ज्यादा जानकारी के लिए, एमआईजी थाने से भी संपर्क किया. थाने में तैनात इंसपेक्टर अजय वर्मा ने हमें वायरल दावे का खंडन करते हुए बताया कि:

मामले में कोई कम्युनल एंगल नहीं है. आरोपी और युवतियां दोनों ही हिंदू समुदाय से हैं. हमने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया है.
अजय वर्मा, इंसपेक्टर, एमआईजी थाना, इंदौर

मतलब साफ है कि वीडियो को गलत कम्यूनल दावे से शेयर किया जा रहा है.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और webqoof के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  वेबकूफ   Webqoof   madhya pradesh 

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×