ADVERTISEMENT

सेना के जवान की हत्या से नहीं है कांवड़ियों के बीच झगड़े के इस वीडियो का संबंध

वायरल वीडियो मेरठ जिले का है, जबकि सेना में जवान कार्तिक बालियान की हत्या रुड़की के मंगलौर इलाके में हुई थी.

Published
सेना के जवान की हत्या से नहीं है कांवड़ियों के बीच झगड़े के इस वीडियो का संबंध
i

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ लोग आपस में मारपीट करते दिख रहे हैं. वीडियो में भीड़ देखी जा सकती है और लोग एक साउंड सिस्टम से लैस गाड़ी में झगड़ते दिख रहे हैं. वीडियो को रुड़की के मंगलौर का बताकर शेयर किया जा रहा है और दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो उसी घटना का है जिसमें कांवड़ यात्रा (Kanwar Yatra) के दौरान हुए झगड़े में सिसौली के एक कांवड़ यात्री कार्तिक बालियान की हत्या कर दी गई थी.

ADVERTISEMENT
हरिद्वार से कांवड़ लेकर जा रहे मुफ्फरनगर के सेना के जवान कार्तिक बालियान की 26 जुलाई को डाक कांवड़ निकालने के विवाद में पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी. रुड़की जिले के मंगलौर में कांवड़ निकालने के विवाद को लेकर कांवड़ियों के दो गुट आपस में भिड़ गए थे. विवाद में शामिल कांवड़ियों का एक दल हरियाणा के पानीपत से तो दूसरा दल उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से था.

हालांकि, पड़ताल में हमने पाया कि वीडियो रुड़की का नहीं बल्कि मेरठ जिले का है. जहां कांवड़ियों के दो गुटों में मारपीट हो गई थी. इसके अलावा, इस वीडियो का कार्तिक बालियान से कोई संबंध नहीं है.

ADVERTISEMENT

दावा

वीडियो शेयर कर यूजर्स ने कैप्शन में लिखा, ''*रुड़की के मंगलौर इलाके में यूपी-हरियाणा के कांवड़ियों में संघर्ष। सिर में डंडा लगने से मुजफ्फरनगर में सिसौली के कांवड़िए कार्तिक बालियान की मौत। वह सेना में फौजी भी था। डाक कांवड़ आगे निकालने को लेकर विवाद हुआ था।*''

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

वीडियो को कई सोशल मीडिया यूजर्स ने फेसबुक और ट्विटर दोनों जगह शेयर किया है. इनमें से कुछ के आर्काइव आप यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

हमने कीवर्ड का इस्तेमाल कर ट्विटर पर सर्च किया. हमने पाया कि कई यूजर्स ने वीडियो को मेरठ का बताकर शेयर किया है.

यहां से क्लू लेकर हमने गूगल पर फिर से कीवर्ड सर्च किया. हमें 25 जुलाई 2022 को Amar Ujala पर पब्लिश एक रिपोर्ट मिली. रिपोर्ट में वायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट्स इस्तेमाल किए गए थे.

ये स्टोरी 25 जुलाई को पब्लिश हुई थी

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/Amar Ujala)

स्टोरी के मुताबिक, मेरठ जिले में हापुड़ रोड पर खरखौदा क्षेत्र में बुलंदशहर के व्यापारियों ने कांवड़ सेवा शिविर लगाया था. जहां हापुड़ के ही एक गांव बासतपुर के कांवड़ियों का एक जत्था बड़े डीजे के साथ निकल रहा था.

शिविर के सामने आते ही दोनों पक्षों में डीजे बजाने को लेकर कंपटीशन शुरू हो गया. दो घंटे चले इस कंपटीशन में किसी ने हार नहीं मानी तो झगड़ा शुरू हो गया. दोनों पक्षों में जमकर लाठी-डंडे बरसे.

ADVERTISEMENT

स्टोरी में ये भी बताया गया है कि सूचना पर पहुंचे सीओ किठौर अमित राय सहित क्षेत्र के लोगों ने कांवड़ियों को समझाया.

इसके अलावा, हमें इसी मामले से जुड़ी एक खबर Live Hindustan और Punjab Kesari पर भी मिली. जिस पर यही जानकारी दी गई थी.

हमें Punjab Kesari UP के ऑफिशियल यूट्यूब हैंडल पर 26 जुलाई को अपलोड किया गया मामले से जुडी एक वीडियो रिपोर्ट भी मिली. जिसमें वायरल वीडियो का भी इस्तेमाल किया गया था.

दोनों वीडियो के बीच तुलना आप नीचे देख सकते हैं.

बाएं वायरल वीडियो, दाएं पंजाब केसरी के यूट्यूब हैंडल पर पब्लिश वीडियो

(फोटो: Altered by The Quint)

हमने खरखौदा थाने में तैनात इंसपेक्टर जितेंद्र से बात की. उन्होंने वायरल दावे को खारिज करते हुए बताया:

घटना तो हुई थी, लेकिन जैसा दावा किया जा रहा है वैसा नहीं है. इसका कार्तिक बालियान से कोई संबंध नहीं है. वो दूसरी घटना है और ये दूसरी घटना. किसी को कई बड़ी चोट नहीं आई थी. पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाकर मामला शांत कर दिया था.
जितेंद्र, इंसपेक्टर, खरखौदा थाना मेरठ
ADVERTISEMENT

मतलब साफ है कि मेरठ जिले में हुई दो पक्षों के बीच मारपीट का वीडियो उस घटना से जोड़कर शेयर किया जा रहा है, जिसमें कार्तिक बालियान की मौत हो गई थी.

क्या है सेना के जवान कार्तिक बालियान की हत्या से जुड़ा मामला?

सेना के जवान और मुजफ्फरनगर निवासी कार्तिक बालियान हरिद्वार से कांवड़ लेकर जा रहे थे. जिनका 26 जुलाई को रुड़की जिले के मंगलौर में हरियाणा के कांवड़ियों से विवाद हो गया. दोनों पक्षों में मारपीट शुरू हो गई. हरियाणा के कांवड़ियों पर आरोप है कि लाठी-डंडों से पीट-पीटकर कार्तिक की हत्या कर दी. उत्तराखंड पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज करते हुए 6 लोगों की गिरफ्तारी की है.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और webqoof के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  Uttarakhand   Webqoof   Kanwar Yatra 2022 

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×