ADVERTISEMENT

Kuno National Park में चीते आने से 10 महीने पहले का है म्याऊ करते चीते का वीडियो

म्याऊ की आवाज निकालते चीते का 10 महीने पुराना वीडियो कुनो नेशनल पार्क में आए चीतों का बताकर वायरल है

Published

समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और महाराष्ट्र कांग्रेस सेवा दल के ट्विटर हैंडल से बिल्ली जैसी आवाज निकालते चीते का वीडियो, कुनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) में 17 सितंबर को नामीबिया से आए चीतों (Tigers) से जोड़कर शेयर किया. असल में ये वीडियो 10 महीने पुराना है.

हमें कुछ यूट्यूब शॉर्ट्स और Reditt पर यही वीडियो मिला जहां इसे दो चीते भाई किटू और लावणी का बताया गया है. अमेरिका में स्थित WILD CAT SANCTUARY के ऑफिशियल फेसबुक पेज पर इन दो चीते भाइयों के कई और भी वीडियो शेयर किए गए हैं और साथ ही सेंचुरी की वेबसाइट पर बताया गया है कि इन्हें अप्रैल 2021 को लाया गया था.

ADVERTISEMENT

दावा

अखिलेश यादव ने वीडियो ट्वीट कर लिखा : 'सबको इंतज़ार था दहाड़ का… पर ये तो निकला बिल्ली मौसी के परिवार का.'

पोस्ट का अर्काइव यहां देखें

सोर्स : स्क्रीनशॉट/ट्विटर

महाराष्ट्र कांग्रेस सेवा दल ने भी ये वीडियो कुनो में आए चीतों से जोड़कर शेयर किया. कई अन्य यूजर्स ने वीडियो को इसी दावे से शेयर किया, अर्काइव यहां, यहां और यहां देखे जा सकते हैं. Daily Motion पर OTV News नाम के वेरिफाइड चैनल पर वीडियो को कुनो में आए चीतों का बताकर शेयर किया गया.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया ? 

वायरल वी़डियो में पंजाब केसरी का लोगो है, हमने पंजाब केसरी की वेबसाइट और यूट्यूब पर ये वीडियो सर्च करना शुरू किया. ये वीडियो तो हमें चैनल पर नहीं मिला, लेकिन एक आर्टिकल हमें पंजाब केसरी पर मिला. जिसमें बताया गया है कि वीडियो वायरल होने के चलते पंजाब केसरी के फेसबुक पेज पर शेयर किया गया था. इस आर्टिकल में ये कहीं भी नहीं लिखा है कि वीडियो कुनो नेशनल पार्क का ही है.

ADVERTISEMENT

वायरल वीडियो को की फ्रेम्स में बांटकर गूगल पर रिवर्स सर्च करने से हमें यूट्यूब पर यही वीडियो मिला, जो कि 29 नवंबर 2021 को अपलोड किया गया था.

नवंबर 2021 के यूटयूब वीडियो में हमें यही वीडियो मिला

सोर्स : स्क्रीनशॉट/यूट्यूब

ADVERTISEMENT

वीडियो के डिस्क्रिप्शन में ये नहीं बताया गया है कि वीडियो किस जगह का है और कब का है. लेकिन, इसमें इन चीतों का नाम किट्टू और लावणी बताया गया है. हमने अलग-अलग कीवर्ड के जरिए इस वीडियो का असली सोर्स खोजने की कोशिश की.

ADVERTISEMENT

Reditt पर हमें इस वीडियो का लंबा वर्जन मिला, यहां ये वीडियो 10 महीने पहले अपलोड किया गया था. वीडियो में देखा जा सकता है कि चीते के म्याऊ करने के बाद एक और चीता उसके पास आता है. यहां भी इस वीडियो को दो चीते भाई किट्टू और लावणी का बताया गया है.

WILD CAT SANCTUARY नाम के वेरिफाइड फेसबुक पेज पर किट्टू और लावणी और भी कई वीडियो शेयर किए गए हैं. हालांकि, हमें ये सटीक जानकारी नहीं मिल पाई के ये वीडियो किस तारीख को शूट किया गया था. लेकिन, ये स्पष्ट है कि वीडियो कम से कम 10 साल पुराना है.

ADVERTISEMENT

अमेरिका में स्थित WILD CAT SANCTUARY की वेबसाइट पर बताया गया है कि इन दो चीते भाई किटू और लावणी को अप्रैल 2021 में सेंचुरी में लाया गया था. वेबसाइट पर ये भी बताया गया है कि किटू के मुंह का एक हिस्सा मुड़ा हुआ है.

ADVERTISEMENT

साफ है कि अमेरिका की वाइल कैट सेंचुरी में आए चीतों का 10 महीने पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर मध्यप्रदेश के कुनो में नामीबिया से आए चीतों का बताकर गलत दावे से शेयर किया जा रहा है.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और webqoof के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  Akhilesh Yadav   TIGER 

ADVERTISEMENT
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×