ADVERTISEMENTREMOVE AD

पीएम मोदी का अधूरा बयान मराठा समुदाय से जोड़कर वायरल

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) का एक वीडियो सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि उन्होंने मराठा समुदाय के खिलाफ बोला और उन्हें 'लुटेरा' कहा.

वीडियो के बारे में: 28 सेकेंड लंबे वीडियो में, पीएम मोदी को ये कहते सुना जा सकता है, "आप मुझे बताइए, क्या इस तरह का खेल आपको मंजूर है? पिछले दरवाजे से ओबीसी का आरक्षण लूट लिया जाए, क्या आपको मंजूर है? पूरी ताकत से बताओ कि आपको मंजूर है कि नहीं? यही काम ये लोग देश और राज्यों में करना चाहते हैं."

पोस्ट का अर्काइव यहां देखें

सोर्स : स्क्रीनशॉट/X

हमें इस वायरल वीडियो से संबंधित सवाल हमारी वॉट्सऐप टिपलाइन पर भी मिले. आप इसी तरह के दूसरे पोस्ट के आर्काइव यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

क्या ये दावा सच है?: नहीं, पीएम मोदी के इस वीडियो को एडिट कर बयानों को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है. उनके भाषण के लंबे वर्जन में उन्हें कर्नाटक में मुसलमानों को दिए गए ओबीसी आरक्षण का जिक्र करते हुए देखा जा सकता है.

हमें सच्चाई के बारे में कैसे पता चला?: हमने "पीएम मोदी महाराष्ट्र भाषण" शब्दों को यूट्यूब पर सर्च किया.

  • इससे हमें ऐसा वीडियो मिला, जिसमें पीएम मोदी ने एकदम वही कपड़े पहने हुए हैं, जो उन्होंने वायरल क्लिप में पहने हैं.

  • इस वीडियो को उनके आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर 7 मई को पब्लिश किया गया था, जिसका टाइटल था, "पीएम मोदी ने महाराष्ट्र के बीड में जनसभा को संबोधित किया."

    अपने भाषण में, उन्हें INDIA गठबंधन पर निशाना साधते और एनडीए के लिए समर्थन जुटाते देखा गया.

  • वीडियो में करीब 13:42 मिनट पर, पीएम मोदी कहते हैं, "आप भी जानते हैं, बाबासाहेब अंबेडकर ने दलितों, पिछड़ों और आदिवासियों को आरक्षण का अधिकार दिया था. बाबासाहेब ने इस बात का भी पुरजोर विरोध किया था कि भारत में धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं दिया जा सकता. आज से 75 साल पहले, पूरी संविधान सभा ने लंबी चर्चा कर के तय किया था कि धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं दिया जा सकता."

0
  • पीएम मोदी आगे कहते हैं, "लेकिन, कांग्रेस पार्टी दलितों, आदिवासियों और पिछड़ों का आरक्षण छीन कर उसे धर्म के आधार पर देना चाहती है." यहीं पर वो कर्नाटक का उदाहरण देते हैं.

कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार है. वहीं ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण मिला हुआ है. इन्होंने (कांग्रेस ने) क्या किया? रातोंरात, उन्होंने आदेश निकाल कर कर्नाटक में मुसलमानों को ओबीसी घोषित कर दिया. परिणाम क्या हुआ? ओबीसी समुदाय को बाबासाहेब अंबेडकर, संविधान और संसद ने जो 27 फीसदी आरक्षण दिया था, रातोंरात मुसलमानों को ओबीसी बना कर उन्हें भी इसमें शामिल कर दिया गया. उन्होंने ओबीसी से इसे लूट लिया. पहले ओबीसी को जो लाभ मिलता था, उसका एक बड़ा हिस्सा मुसलमानों को दे दिया गया."प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
नरेंद्र मोदी
ADVERTISEMENTREMOVE AD

यहीं पर पीएम मोदी को ये कहते सुना जा सकता है, "मुझे बताइए, क्या इस प्रकार का खेल आपको मंजूर है? पिछले दरवाजे से ओबीसी का आरक्षण लूट लिया जाए, क्या आपको मंजूर है? पूरी ताकत से बताओ कि आपको मंजूर है कि नहीं? यही काम ये लोग देश और राज्यों में करना चाहते हैं"

X प्लेटफॉर्म पर बीजेपी के आधिकारिक अकाउंट ने भी पीएम मोदी के भाषण के उस भाग को पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने मुसलमानों को आरक्षण देने पर कांग्रेस पर निशाना साधा है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

निष्कर्ष: पीएम मोदी के भाषण का अधूरा हिस्सा मराठा समुदाय के साथ जोड़कर गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है.

PM मोदी ने चुनावी भाषणों में एक नहीं, कई बार बोला 'हिंदू - मुसलमान'


(अगर आपक पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर  9540511818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं.)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×