ADVERTISEMENTREMOVE AD

Fact Check: कर्नाटक में चाकू मारने की घटना का वीडियो तमिलनाडु का बता वायरल

वीडियो बेंगलुरु का है जहां दो गुटों में लड़ाई के बाद नाबालिग को चाकू मार दिया गया था

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक शख्स जमीन पर खून में लथपथ पड़ा दिख रहा है. दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो एक बिहार (Bihar) के मजदूर का है जिस पर तमिलनाडु (Tamil Nadu) में हमला हुआ.

सोशल मीडिया पर कई भ्रामक वीडियो वायरल हो रहे हैं, जिन्हें शेयर कर दावा किया जा रहा है कि तमिलनाडु में बिहार के मजदूर असुरक्षित हैं.

(वीडियो विचलित कर सकता है. इसलिए हमने वीडियो से जुड़े किसी भी आर्काइव लिंक का इस्तेमाल नहीं किया है.)

वीडियो बेंगलुरु का है जहां दो गुटों में लड़ाई के बाद नाबालिग को चाकू मार दिया गया था

ये वीडियो फेसबुक और ट्विटर दोनों पर वायरल है.

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

ADVERTISEMENTREMOVE AD

सच क्या है?: ये वीडियो 17 फरवरी का है. तब बेंगलुरु में डोड्डाबल्लापुरा के डोड्डाबेलवांगला के पास एक कॉलेज फील्ड में पार्किंग को लेकर झगड़े में कथित तौर पर दो लोगों की मौत हो गई थी.

  • बेंगलुरु जिला (ग्रामीण) एसपी मल्लिकार्जुन बालदंडी ने क्विंट से पुष्टि की कि ये वीडियो तमिलनाडु में बिहारी मजदूरों पर हमले के हालिया दावों से संबंधित नहीं है.

हमने सच का पता कैसे लगाया?: वीडियो के बैकग्राउंड में कन्नड़ भाषा में सुनाई दे रहे ऑडियो को ट्रांसलेट करने पर पाया कि इसमें कहा जा रहा है, ''भाई आपके साथ ये किसने किया है? चाकू मारा है. कोई जल्दी से एंबुलेंस बुलाओ.''

  • यहां से क्लू लेकर हमने कर्नाटक में चाकू मारने से जुड़ी घटनाओं की न्यूज रिपोर्ट्स चेक कीं और वायरल वीडियो के बारे में जानने के लिए कुछ पुलिस थानों से संपर्क किया.

0
  • हमें एसपी बालदंडी ने बताया कि ये वीडियो बिहार के प्रवासी मजदूरों का नहीं है. उन्होंने कहा कि वीडियो में 17 साल के एक लड़के को देखा जा सकता है, जिस पर बेंगलुरु ग्रामीण के डोड्डाबेलवांगला गांव में कुछ स्थानीय लोगों ने हमला किया था.

  • उन्होंने कहा, ''ये घटना 17 फरवरी को हुई थी. तब पार्किंग को लेकर हुए झगड़े में दो स्थानीय लड़कों की चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में हमने अब तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसका वायरल दावों से कोई संबंध नहीं है.

बेंगलुरु की इस घटना से जुड़ा एफआईआर: एसपी ने हमें एफआईआर नंबर दिया, जिससे हमने ऑनलाइन एफआईआर चेक की.

  • इसमें पांच आरोपियों विनय, अनिल, त्रिमूर्ति, कोरी और दीपू के नामों का जिक्र है.

  • इस रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि पीड़ितों को अस्पताल ले जाते समय मृत घोषित कर दिया गया था.

ADVERTISEMENT

इस घटना से जुड़ी रिपोर्ट: 18 फरवरी की इस घटना पर Hindu, Indian Express, Times of India और Deccan Herald जैसे कई न्यूज ऑर्गनाइजेशन ने रिपोर्ट पब्लिश की थी.

  • इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, डोड्डाबेलवांगला में एक क्रिकेट टूर्नामेंट के दौरान कॉलेज के मैदान में एक ग्रुप ने कार खड़ी कर दी थी, जिसके बाद विवाद शुरू हो गया.

  • इसमें ये भी बताया गया है कि कार पर स्थानीय लोगों ने हमला किया, जिसके बाद कार से जुड़े लोगों ने दो लोगों को कथित तौर पर चाकू मार दिया.

  • रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने एक मृतक की पहचान 23 साल के भरत कुमार के तौर पर की है जो इंजीनियरिंग ग्रेजुएट था. वहीं दूसरा नाबालिग है.

प्रवासी मजदूरों के बारे में गलत सूचना के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई: बिहार पुलिस ने तमिलनाडु में प्रवासी मजदूरों पर कथित हमलों के भ्रामक वीडियो शेयर कर गलत सूचना फैलाने के आरोप में एक को गिरफ्तार किया है और तीन अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD
  • तमिलनाडु पुलिस ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रवक्ता प्रशांत उमराव, Dainik Bhaskar के एडिटर और पटना के पत्रकार मोहम्मद तनवीर पर "घृणा फैलाने" का आरोप लगाया है.

  • राइटविंग प्रोपगेंडा वेबसाइट OpIndia के सीईओ राहुल रौशन और एडिटर नूपुर शर्मा पर भी मामला दर्ज किया गया है.

  • इसके अलावा, ''फेक मैसेज'' शेयर करने के लिए राज्य में बीजेपी प्रमुख के अन्नामलाई के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है.

निष्कर्ष: खून से लथपथ शख्स का पुराना और किसी दूसरी घटना का वीडियो इस झूठे दावे से शेयर किया जा रहा है कि तमिलनाडु में बिहार के मजदूर पर हमला किया गया.

ADVERTISEMENT

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENTREMOVE AD
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×