ADVERTISEMENT

बाबा रामदेव और रिलायंस के विरोध में बोलता ये शख्स 'हिमालय' कंपनी का मालिक नहीं

वीडियो में दिख रहा ये शख्स दिल्ली का रहने वाला वकील भानु प्रताप सिंह है. जिसने जनवरी 2020 में भाषण दिया था.

Published
बाबा रामदेव और रिलायंस के विरोध में बोलता ये शख्स 'हिमालय' कंपनी का मालिक नहीं
i

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें एक शख्स दिल्ली के मुस्तफाबाद में CAA के विरोध में हुए एक प्रदर्शन के दौरान, रिलायंस और बाबा रामदेव के उत्पादों को नहीं खरीदने के लिए बोलता दिख रहा है. इस वीडियो को शेयर कर ये दावा किया जा रहा है कि ये शख्स दवा बनाने वाली कंपनी 'हिमालय (Himalaya) का मालिक' है.

हालांकि, हमने पाया कि वीडियो में दिख रहा ये शख्स दिल्ली का रहने वाला वकील भानु प्रताप सिंह है. जिसने जनवरी 2020 में भाषण दिया था.

ADVERTISEMENT

दावा

2 मिनट 20 सेकंड के वीडियो में शख्स को लोगों से ये कहते हुए सुना जा सकता है कि वो अपने Reliance Jio के नंबर को Airtel, Vodafone जैसे दूसरे सर्विस प्रोवाइडर में स्विच कर लें.

वीडियो शेयर कर दावे में लिखा जा रहा है कि ये शख्स 'Himalaya कंपनी' का मालिक है. साथ ही, उस पर कटाक्ष करते हुए ये भी लिखा गया है कि वो आयुर्वेदिक दवाओं का इस्तेमाल कर सौंदर्य उत्पाद बना रहा है.

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

इस वीडियो को कई लोगों ने फेसबुक और ट्विटर दोनों जगह इसी दावे से शेयर किया है. इनके आर्काइव आप यहां, यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.

फेसबुक पर भी ये दावा वायरल है

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

वायरल वीडियो में लोगो में 'times express voice of democracy' लिखा दिख रहा है. हमने लोगो में लिखे शब्दों को कीवर्ड की तरह इस्तेमाल करके यूट्यूब पर सर्च किया. हमें 'Times Express' का यूट्यूब हैंडल मिला.

इसके बाद, हमने वीडियो से जुड़े जरूरी कीवर्ड इस्तेमाल करके इस यूट्यूब हैंडल पर सर्च किया. हमें इस हैंडल पर 25 जनवरी 2020 को अपलोड किया गया एक वीडियो मिला.

CAA के विरोध में प्रदर्शन के इस 12 मिनट के वीडियो में वायरल हिस्से को 4 मिनट 37 सेकंड से सुना जा सकता है. वीडियो में लिखे कैप्शन के मुताबिक दिल्ली के मुस्तफाबाद में स्पीच देते इस शख्स की पहचान एक वकील भानु प्रताप सिंह के रूप में की गई है.

हमने भानु प्रताप सिंह का सोशल मीडिया प्रोफाइल भी देखा. जिसके मुताबिक वो दिल्ली के एक वकील हैं.

ADVERTISEMENT

इसके बाद, हमने दवा बनाने वाली कंपनी Himalaya के फाउंडर से जुड़ी जानकारी भी देखी. कंपनी की वेबसाइट के मुताबिक, कंपनी के फाउंडर एम मनाल का 1986 में निधन हो गया था.

कंपनी के फाउंडर का निधन 1986 में हो गया था

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/Himalaya)

इसके अलावा, Himalaya के फाउंडर की एक फोटो भी उनकी वेबसाइट पर देखी जा सकती है. वायरल वीडियो में दिख रहे शख्स और उनके बीच काफी अंतर है.

कंपनी के फाउंडर और वायरल वीडियो में दिख रहे शख्स फोटो की तुलना

(फोटो: Altered by The Quint)

मतलब साफ है कि दिल्ली के मुस्तफाबाद में जनवरी 2020 में भाषण देने वाले एक वकील भानु प्रताप सिंह का वीडियो इस गलत दावे से शेयर किया जा रहा है कि ये Himalaya कंपनी के मालिक हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और webqoof के लिए ब्राउज़ करें

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×