ADVERTISEMENT

UP में शख्स के साथ मारपीट का वीडियो बंगाल हिंसा से जोड़कर वायरल

लाइनमैन अनुज ने केबल रिपेयर करने से इनकार कर दिया था, जिस वजह से कुछ लोगों ने उसकी पिटाई कर दी

Updated
UP में शख्स के साथ मारपीट का वीडियो बंगाल हिंसा से जोड़कर वायरल
i

सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी शेयर किया जा रहा है जिसमें एक शख्स के साथ भीड़ मारपीट करती दिख रही है. इसे शेयर कर दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो पश्चिम बंगाल का है. साथ ही यह दावा भी किया जा रहा है कि अगर हिंदू अब भी नहीं जागे तो इस तरह की घटनाएं होती रहेंगी.

यह दावा ऐसे समय में वायरल हो रहा है जब पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हिंसा की कई घटनाओं की खबरें आई हैं.

ADVERTISEMENT

हालांकि, पड़ताल में हमने पाया कि यह वीडियो पश्चिम बंगाल का नहीं, बल्कि मुजफ्फरनगर का है. वीडियो में जिस शख्स की पिटाई होती दिख रही है उसकी पहचान बिजली का काम करने वाले लाइनमैन अनुज कुमार के तौर पर हुई है. उसने अपने सीनियर की अनुमति के बिना घर के अंदर केबल रिपेयर करने से इनकार कर दिया था, जिस वजह से उसकी पिटाई कर दी गई.

दावा

वीडियो को फेसबुक और ट्विटर पर इस कैप्शन के साथ शेयर किया जा रहा है, “बंगाल में आज जो हो रहा है वो आने वाले 20/25 सालों में सम्पूर्ण भारत में होगा और इसीलिए सारे हिंदुत्ववादी दिनरात सोये हुए हिंदुओं को जगाने का प्रयास कर रहे है| जागो हिंदू जागो |”

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

स्टोरी लिखते समय तक इस वीडियो को 12,000 से भी ज्यादा बार देखा जा चुका है.

फेसबुक पर इसी दावे के साथ शेयर किए गए पोस्ट के आर्काइव आप यहां और यहां देख सकते हैं. ट्विटर पर इन दावों का आर्काइव आपको यहां और यहां देखने को मिलेगा.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

हमने वीडियो को Invid गूगल क्रोम एक्सटेंशन का इस्तेमाल करके कई कीफ्रेम में बांटा और उनमें से हर फ्रेम पर रिवर्स इमेज सर्च करके देखा. हमें एक ट्वीट मिला जिसमें ये बताया गया था कि ये वीडियो मुजफ्फरनगर का है.

हमने ट्वीट पर किए गए कमेंट्स को ध्यान से देखा और पाया कि मुजफ्फनगर पुलिस ने इस घटना पर प्रतिक्रिया दी थी और लिखा था कि भोपा पुलिस स्टेशन में इस मामले में 7 लोगों के खिलाफ नामजद और 10-12 अज्ञात लोगों पर IPC की संबंधित धाराओं के अंतर्गत रिपोर्ट दर्ज की गई है. इस कमेंट में आगे ये भी बताया गया है कि आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

मुजफ्फरनगर पुलिस का ट्वीट
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

हमने मामले की जांच करने वाले अधिकारी संजय राघव से संपर्क किया, जिन्होंने हमें बताया कि ये विवाद सीकरी गांव में हाल ही में हुआ है.

उन्होंने बताया कि लाइनमैन खराब बिजली लाइन को ठीक करने के लिए सीकरी गया था. उसने गांव के एक घर में इलेक्ट्रिकल बोर्ड के जेई की अनुमति के बिना केबल रिपेयर करने से इनकार कर दिया था.

‘’इस वजह से वहां के लोगों को गुस्सा आ गया जिससे विवाद शुरू हो गया. हमने भोपा पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कर लिया है और आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. लाइनमैन की पहचान अनुज कुमार के तौर पर हुई है. इस घटना के पीछे किसी भी तरह की साम्प्रदायिक वजह नहीं है. ये व्यक्तिगत मामला था.’’  
ADVERTISEMENT

कई न्यजू रिपोर्ट में लिखा गया है इस घटना के बारे में

हमने घटना से जुड़े संबंधित कीवर्ड सर्च करके देखे और हमें Amar Ujala का एक आर्टिकल मिला. इस आर्टिकल के मुताबिक लाइनमैन अनुज के साथ वहां दो और लाइनमैन गए थे जिनके नाम योगेश और रहतू हैं. घटनास्थल से भागकर उन्होंने इमरजेंसी पुलिस लाइन (112) पर कॉल करके घटना की सूचना दी थी. अनुज के कपड़े फाड़ दिए गए थे और उसे गंभीर चोटें आई थीं.

हमें Jagran पर भी इस घटना से जुड़ी एक रिपोर्ट मिली. जिसके मुताबिक पावर स्टेशन में काम कर रहे लोगों में इस घटना की वजह से गुस्सा है. एसएचओ दीपक चतुर्वेदी ने कहा कि पुलिस 10 से 12 अज्ञात फरार लोगों की तलाश में क्षेत्र के सभी घरों की तलाशी ले रही है.

मतलब साफ है कि यूपी का वीडियो पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा का बताकर शेयर किया जा रहा है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और webqoof के लिए ब्राउज़ करें

ADVERTISEMENT
Published: 
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×