बदायूं गैंगरेप पीड़िता की बताकर 2 साल पुरानी फोटो हो रही शेयर

पड़ताल में सामने आया कि फोटो 2 साल पहले उन्नाव में हुए एक हत्याकांड की है

Published
बदायूं गैंगरेप पीड़िता की बताकर 2 साल पुरानी फोटो हो रही शेयर

एक महिला के मृत शरीर की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. दावा किया जा रहा है कि फोटो उत्तर प्रदेश के बदायूं में 50 साल की महिला, जिसके साथ गैंगरेप हुआ उसकी है, जिस मामलें में मंदिर का पुजारी आरोपी है. वेबकूफ की पड़ताल में सामने आया कि फोटो असल में 2 साल पहले उत्तर प्रदेश के ही उन्नाव जिले में हुए हत्याकांड की है.

मौरावां गांव के थाना प्रभारी ने द क्विंट से हुई बातचीत में बताया कि वायरल फोटो गोल्डी यादव की है. 24 दिसंबर 2018 को महिला के रिश्तेदार सतीश कुमार ने एक तरफा प्रेम के चलते उसकी हत्या कर दी थी.

दावा

कई सोशल मीडिया यूजर फोटो को इस मैसेज के साथ शेयर कर रहे हैं - “बदायूं गैंगरेप-मर्डर केस, मंदिर गई 50 वर्षीय महिला का गैंगरेप के बाद मर्डर कर दिया गया. गैंगरेप के दौरान जो भयावहता की गई शायद राक्षस भी कांप जाता. लेकिन महंत और उसके चेले दानव निकले. बदायूं पुलिस 2 दिन तक मामला छिपाए रही. ये हैवानियत की पराकाष्ठा है”

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://archive.is/T6K4F">यहां </a>क्लिक करें
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://archive.is/ZLgZ7">यहां </a>क्लिक करें&nbsp;
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें 
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://archive.is/DRnLy">यहां </a>क्लिक करें
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://perma.cc/4Y39-68PP?type=image">यहां </a>क्लिक करें&nbsp;
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें 

पड़ताल में हमने क्या पाया

वायरल फोटो को गूगल पर रिवर्स सर्च करने से हमें 24 दिसंबर, 2018 के एक ट्वीट में यही फोटो मिली. साफ है कि चूंकि फोटो 2 साल पुरानी है इसलिए इसका 2021 में हुई बदायूं की घटना से कोई संबंध नहीं है.

बदायूं गैंगरेप पीड़िता की बताकर 2 साल पुरानी फोटो हो रही शेयर

2 साल पुरानी पोस्ट में यूजर ने दावा किया है कि फोटो मौरावां, उन्नाव की रहने वाली गोल्डी यादव की है. दावे से जुड़े कीवर्ड गूगल सर्च करने से हमें गांव कनेक्शन वेबसाइट की रिपोर्ट मिली.  इस रिपोर्ट के मुताबिक, 24 दिसंबर, 2018 को उन्नाव की रहने वाली गोल्डी यादव की उसके चचेरे भाई सतीश यादव ने बेरहमी से हत्या कर दी थी.

वेबकूफ टीम ने मौरावां पुलिस के एसएचओ से संपर्क किया. एसएचओ की तरफ से ये पुष्टि की गई कि वायरल हो रही फोटो गोल्डी यादव की है. उन्होंने आगे बताया - सतीश कुमार पिता कृष्ण पाल यादव को अपनी चचेरी बहन गोल्डी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है, उस पर धारा 302 के तहत मुकदमा भी दर्ज है. वर्तमान में सतीश जिला जेल में है.

हमने पीड़िता के रिश्तेदार फूलचंद्र से भी संपर्क किया. फूलचंद्र ने बताया कि वायरल फोटो गोल्डी यादव की ही है. सतीश ने एक तरफा प्रेम की वजह से पीड़िता की हत्या की थी. पीड़िता जब सुबह घर से बाहर निकली, उसी समय सतीश ने धारदार हथियार से गला रेंतकर उसकी हत्या कर दी. जब पीड़िता काफी समय तक घर नहीं पहुंची, तब आसपास के लोगों ने उसकी तलाश शुरू की. सभी के साथ जब मैं गोल्डी को ढूंढने पहुंचा, तो घटनास्थल पर वह खून से लथपथ दिखी. जिस समय हमने उसे ढूंढा, तब तक उसका काफी खून बह चुका था.

मतलब साफ है कि वायरल फोटो 2018 की है, इसका बदायूं की घटना से कोई संबंध नहीं है.

बदायूं में क्या हुआ है ?

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के बदायूं में रविवार रात 50 वर्षीय महिला की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई. मंगलवार को इस मामले में एफआईआर दर्ज हो चुकी है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पीड़िता के शरीर में गंभीर चोटें आई हैं. सूत्रों की मानें तो पीड़िता के प्राइवेट पार्ट पर भी गंभीर चोट पहुंचाई गई है.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक पुजारी समेत 3 अन्य इस मामले में आरोपी हैं. बदायूं पुलिस ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि इस मामले में 2 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं. तीसरे और मुख्य आरोपी की तलाश के बाद उसे भी पकड़ लिया गया है. है और लापरवाही बरतने पर स्थानीय थाने के एसएचओ को सस्पेंड कर दिया गया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!