ADVERTISEMENT

प्रदर्शनकारी किसान ने जेब में नहीं रखा था कंडोम, पुरानी एडिटेड फोटो वायरल

ये फोटो 2018 की है जिसे एडिट कर हाल में चल रहे किसानों के प्रोटेस्ट से जोड़कर शेयर किया जा रहा है.

Published
प्रदर्शनकारी किसान ने जेब में नहीं रखा था कंडोम, पुरानी एडिटेड फोटो वायरल
i

अकाली दल के पूर्व नेता सुच्चा सिंह लंगाह की एक एडिटेड फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. फोटो में उनके कुर्ते की जेब में कंडोम का पैकेट रखा नजर आ रहा है. इसे शेयर कर ये दावा किया जा रहा है कि ये फोटो हाल में चल रहे किसानों के प्रोटेस्ट में शामिल एक किसान की है.

हालांकि, हमने पाया कि लंगाह न तो किसान नेता हैं और न ही उनकी जेब में कंडोम का पैकेट देखा गया था. उनकी 2018 की फोटो एडिट कर उनकी जेब में कंडोम का पैकेट जोड़ दिया गया है.

ADVERTISEMENT

पिछले साल से चल रहे किसानों के प्रोटेस्ट को लेकर कई गलत सूचनाएं इसके पहले भी वायरल हुई हैं, जिन्हें क्विंट की वेबकूफ टीम ने खारिज किया है.

दावा

इस फोटो को इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है, ''जेब में आंदोलन के दस्तावेज लेकर घूमता हुआ किसान".

"पहली पिक में जिस जेब को हाइलाइट किया है, दूसरी पिक में उसी को जूम किया है। आप भी आंदोलन जीवियों का किसानी कानून देख लीजिए जो ये लोग अपने साथ लेकर चलते हैं!!''

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

एक सोशल मीडिया यूजर ने इस फोटो को शेयर कर पंजाबी में एक लाइन लिखी, "ਖ਼ਬਰਦਾਰ ਜੇ ਕਿਸੇ ਨੇ ਜੇਬ ਵੱਲ ਵੇਖਿਆ" (अनुवादः खबरदार,अगर किसी ने जेब में देखा.)

इस फोटो को फेसबुक और ट्विटर दोनों जगह काफी शेयर किया जा रहा है. इनके आर्काइव आप यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

वायरल फोटो को रिवर्स इमेज सर्च करने पर, हमें 18 अगस्त 2018 को Tribune पर पब्लिश एक न्यूज रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट की हेडलाइन थी, ''Langah asks Akal Takht to review excommunication" (लंगाह ने अकाल तख्त से उनके को बहिष्कार लेकर फिर से सोचने को कहा).

इस रिपोर्ट में वायरल फोटो का ही इस्तेमाल किया गया था, जिसमें उनकी जेब में कंडोम का पैकेट नहीं है.

ये फोटो 2018 की है यानी किसानों के प्रोटेस्ट के शुरू होने से काफी पहले की.

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/Tribune)

इन दोनों फोटो की तुलना करने पर पता चलता है कि दोनों एक ही फोटो हैं, जिनमें से एक को एडिट कर शेयर किया जा रहा है.

बाएं वायरल फोटो, दाएं ओरिजिनल फोटो

(फोटो: Altered by The Quint)

इस फोटो को ध्यान से देखने पर आप देख सकते हैं कि कंडोम के पैकेट की तस्वीर दूसरे पेन के नीचे होने के बजाय उसके ऊपर से दिख रही है.

रेड सर्कल के अंदर एडिटिंग की खामी साफ तौर पर देखी जा सकती है

(फोटो: Altered by The Quint)

ADVERTISEMENT
लंगाह अकाली दल के पूर्व नेता और पंजाब के कृषि मंत्री थे. साल 2017 में एक महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में लंगाह का वीडियो वायरल हुआ था. इसके बाद, उन पर बलात्कार, धोखाधड़ी, फिरौती और आपराधिक साजिश के आरोप में मामला दर्ज किया गया था.

आरोप सामने आने के बाद उन्हें पार्टी से बाहर निकाल दिया गया था और अकाल तख्त ने उन्हें सिख समाज से भी बहिष्कृत कर दिया था. हालांकि, बाद में लंगाह को बलात्कार के मामले में बरी कर दिया गया. क्योंकि अभियोजन पक्ष आरोप साबित नहीं कर पाया.

मतलब साफ है कि शिरोमणि अकाली दल के एक पूर्व नेता की पुरानी फोटो को एडिट किया गया है और एडिटेड फोटो को इस झूठे दावे से शेयर किया जा रहा है कि ये एक प्रदर्शनकारी किसान है जिसकी जेब में कंडोम का पैकेट है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और webqoof के लिए ब्राउज़ करें

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×