वायरल प्लाज्मा डोनर्स की लिस्ट शेयर करने से पहले उसका सच जानिए

सोशल मीडिया पर कई लोगों ने इस लिस्ट को गलत दावे के साथ शेयर किया है

Published21 Jul 2020, 04:32 AM IST
वेबकूफ
3 min read

कोरोना वायरस महामारी के इस समय में सोशल मीडिया पर एक लिस्ट वायरल हो रही है, जिसमें उन लोगों के नाम बताए जा रहे हैं जो भारत में प्लाज्मा डोनेट करने के लिए तैयार है. हालांकि, हमने जांच में पाया कि ये ब्लड डोनर्स की पुरानी लिस्ट है, और इसका कोरोना वायरस से कुछ लेना-देना नहीं है.

दावा

इस लिस्ट में करीब 64 लोगों के नाम, उनका ब्लड ग्रुप और फोन नंबर्स हैं. प्लाज्मा डोनेशन के रिस्पॉन्स में या जागरुकता फैलाने के नाम पर इस लिस्ट को शेयर किया जा रहा है.

वायरल प्लाज्मा डोनर्स की लिस्ट शेयर करने से पहले उसका सच जानिए
(फोटो: स्क्रीनशॉट)
प्लाज्मा थेरेपी में ठीक हो चुके COVID-19 मरीज का प्लाज्मा लिया जाता है. वायरस को रोकने के प्रयास में इस थेरेपी को भारत में ट्राई किया जा रहा है. ऐसा माना जा रहा है कि ठीक हो चुके COVID मरीजों का इम्यून सिस्टम वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडीज तैयार करता है. ये एंटीबॉडीज प्लाज्मा, खून का लिक्विड पार्ट, में पाई जा सकती हैं.

हमने देखा कि ये मैसेज ट्विटर और फेसबुक पर काफी शेयर हो रहा है. एक शख्स ने दावा किया कि ये लिस्ट मुंबई के लोगों की है, वहीं एक ने उसके फेसबुक पोस्ट पर जवाब देते हुए लिखा कि ये दिल्ली-एनसीआर की लिस्ट है.

वायरल प्लाज्मा डोनर्स की लिस्ट शेयर करने से पहले उसका सच जानिए
(फोटो: स्क्रीनशॉट)
वायरल प्लाज्मा डोनर्स की लिस्ट शेयर करने से पहले उसका सच जानिए
(फोटो: स्क्रीनशॉट)

हमें ये लिस्ट एक ब्लॉग पर भी मिली, जहां इसे प्लाज्मा डोनर्स के कॉन्टैक्ट बैंक के तौर पर शेयर किया गया था, और ये बाद में फेसबुक पर भी शेयर हुई.

हमें जांच में क्या मिला?

कई कीवर्ड्स के साथ सर्च करने पर, हमें यही लिस्ट एक फेसबुक पोस्ट में मिली, जो दिसंबर 2015 को शेयर किया गया था. इस लिस्ट में नाम में थोड़े बदलाव थे बस. हमें यही पोस्ट 5 दिसंबर 2015 तारीख पर The New Face of Society नाम के पेज पर भी दिखा.

इसके बाद से, ये कई बार शेयर किया जा चुका है. इसे 9 सितंबर 2016 को फेसबुक पेज BLOOD DONORS और 17 सितंबर 2019 को एक फेसबुक यूजर ने शेयर किया.

हमें I Love Trichy ब्लॉग पर भी ये पोस्ट मिला, जो 21 अक्टूबर 2016 को शेयर किया गया था. तेलंगाना जर्नलिस्ट्स नाम की एक वेबसाइट पर तीन साल पहले भी इसे इस नोट के साथ शेयर किया गया था कि ये लिस्ट हैदराबाद के लिए है. वहीं, Medium.com पर भी इसे 10 नवंबर 2017 को चेन्नई में ब्लड डोनर्स की लिस्ट बताते हुए शेयर किया गया था.

लिस्ट में ज्यादातर नंबर या तो काम नहीं कर रहे हैं, या फिर गलत है. क्विंट लिस्ट में से चार लोगों से संपर्क करने में कामयाब रहा, जिन्होंने ये कंफर्म किया कि वो चेन्नई बेस्ड ब्लड डोनर्स हैं. उनमें से दो ने ये भी बताया कि उन्होंने हाल ही के महीनों में ब्लड डोनेट किया है.

लिस्ट में शामिल वी मोहन ने क्विंट को बताया कि ये चेन्नई के ब्लड डोनर्स की लिस्ट थी, जो दो या तीन साल पहले बनी थी, और इसका कोरोना वायरस के संबंध में प्लाज्मा डोनेशन से कुछ लेना-देना नहीं है.

“लिस्ट को प्लाज्मा डोनर लिस्ट बताकर गलत तरीके से शेयर किया जा रहा है. कई लोगों को प्लाज्मा डोनेशन के लिए कॉल किया जा रहा है, कि उनमें से कुछ को अपना नंबर तक बदलना पड़ा है. प्लीज इसे प्लाज्मा डोनर्स के तौर पर फॉरवर्ड मत करें, हम आम ब्लड डोनर्स हैं.”
वी मोहन

इससे साफ होता है कि सोशल मीडिया पर प्लाज्मा डोनर्स का बताकर शेयर हो रही ये लिस्ट असल में चेन्नई के ब्लड डोनर्स की है.

आप हमारी सभी फैक्ट-चेक स्टोरी को यहां पढ़ सकते हैं.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!