ADVERTISEMENTREMOVE AD

राहुल गांधी की राष्ट्रीयता पर सवाल करने वाला ये आर्टिकल अमेरिका में नहीं छपा

आर्टिकल की फोटो शेयर कर दावा किया गया कि अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को के एक न्यूजपेपर ने ये आर्टिकल छापा है.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

कांग्रेस (Congress) नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से जुड़ी एक न्यूजपेपर कटिंग की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें लिखा है, ''अमेरिकी पूछ रहे हैं कि राहुल भारत से हैं या पाकिस्तान से''.

क्या है दावा?: इसे शेयर कर दावा किया जा रहा है कि अमेरिका में राहुल गांधी के हालिया दौरे के बाद सैन फ्रांसिस्को के एक न्यूजपेपर ने ये आर्टिकल पब्लिश किया है.

आर्टिकल की फोटो शेयर कर दावा किया गया कि अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को के एक न्यूजपेपर ने ये आर्टिकल छापा है.

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

(ऐसे और भी पोस्ट के आर्काइव आप यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.)

ADVERTISEMENTREMOVE AD

सच क्या है?: वायरल न्यूजपेपर की कटिंग में जो आर्टिकल इंग्लिश में दिख रहा है, असल में वो एक हिंदी आर्टिकल का अनुवाद है.

  • आर्टिकल में दिख रहे टेक्स्ट में शब्दों का आकार एक जैसा नहीं है. वो कहीं बड़े तो कहीं छोटे हैं, जिससे साफ जाहिर होता है कि स्क्रीनशॉट में दिख रहा आर्टिकल इंग्लिश में अनुवादित किया गया है.

  • हालांकि, हम इस आर्टिकल के सोर्स का पता नहीं कर पाए, लेकिन ऐसा कोई भी आर्टिकल सैन फ्रांसिस्को के किसी भी न्यूजपेपर ने पब्लिश नहीं किया है.

हमने सच का पता कैसे लगाया?: सबसे पहले हमने वायरल आर्टिकल को ध्यान से देखा तो पाया कि इसमें दिख रहे टेक्स्ट का आकार और फॉन्ट एक जैसा नहीं है.

आर्टिकल की फोटो शेयर कर दावा किया गया कि अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को के एक न्यूजपेपर ने ये आर्टिकल छापा है.

आर्टिकल में इस्तेमाल किया गया फॉन्ट और टेक्स्ट एक जैसा नहीं है.

(फोटो: Altered by The Quint)

0
  • इसके बाद, हमने इंग्लिश हेडलाइन को हिंदी में अनुवाद किया, जो इस प्रकार है, ''अमेरिकी पूछ रहे हैं कि राहुल भारत से हैं या पाकिस्तान से?"

  • इसके बाद, इसे गूगल पर सर्च करने पर, हमें ट्विटर पर कई पोस्ट मिले जिसमें न्यूज आर्टिकल की एक ऐसी ही फोटो मिली, जिसमें हिंदी में लिखा हुआ था.

  • इस हिंदी वर्जन में टेक्स्ट या फॉन्ट में किसी भी तरह का अंतर नहीं था, जिससे हमें क्लू मिला कि ये असली आर्टिकल हो सकता है.

हिंदी आर्टिकल किस बारे में था?: इस आर्टिकल में राहुल गांधी के अमेरिका दौरे का जिक्र था.

  • इसमें पीएम नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार को लेकर राहुल गांधी के आलोचनात्मक दृष्टिकोण का जिक्र है, जहां राहुल ने भारत में अल्पसंख्यकों के खिलाफ हो रहे भेदभाव के बारे में बात की थी.

ADVERTISEMENTREMOVE AD
  • इसके अलावा, आर्टिकल में इस बारे में भी लिखा गया है कि सभा में खालिस्तान समर्थन में नारे लगाए जाने पर मुस्कुराने लगे.

  • आर्टिकल के मुताबिक, नारेबाजी को लेकर राहुल की इस प्रतिक्रिया पर उन्हें कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा.

निष्कर्ष: हालांकि, हम स्वतंत्र रूप से हिंदी आर्टिकल का सोर्स नहीं पता कर पाए, लेकिन ये साफ है कि ये आर्टिकल सैन फ्रांसिस्को के किसी भी न्यूजपेपर में नहीं पब्लिश हुआ.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×