ADVERTISEMENTREMOVE AD

राजस्थान के दलित बच्चे इंद्र मेघवाल की शवयात्रा का नहीं है ये वायरल वीडियो

राजस्थान के जालौर में दलित बच्चे Indra Meghwal की उसके टीचर ने बेरहमी से पिटाई की थी, जिसके बाद इंद्र की मौत हो गई

Published
छोटा
मध्यम
बड़ा

सोशल मीडिया पर सैनिक की शवयात्रा का वीडियो राजस्थान के दलित बच्चे इंद्र मेघवाल (Indra Meghwal) का बताकर वायरल है. इंद्र के शिक्षक ने कथित तौर पर 20 जुलाई को सिर्फ इस वजह से उसे पीटा था, क्योंकि उसने पानी के घड़े को छू लिया था.

सुराना गांव के सरस्वती विद्या मंदिर में पढ़ने वाले इंद्र ने 13 अगस्त को अपने टीचर के दिए गहरे जख्मों से लड़ते-लड़ते जान गंवा दी थी. पुलिस ने शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया था, हालांकि जाति से जुड़े किसी भी एंगल की पुष्टि अभी पुलिस ने नहीं की है. ये घटना मेन स्ट्रीम मीडिया में आई और खूब आलोचना भी हुई कि आजादी के 75 सालों बाद भी देश में जाति आधारित हिंसा से जूझ रहा है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

दावा

सोशल मीडिया पर ये वीडियो इंद्र मेघवाल की शवयात्रा का बताकर वायरल है,

राजस्थान के जालौर में दलित बच्चे Indra Meghwal की उसके टीचर ने बेरहमी से पिटाई की थी, जिसके बाद इंद्र की मौत हो गई

पोस्ट का अर्काइव यहां देखें

सोर्स : स्क्रीनशॉट/ट्विटर

यही दावा करते अन्य पोस्ट्स के अर्काइव यहां , यहां और यहां देखे जा सकते हैं.

0

पड़ताल में हमने क्या पाया ? 

वायरल वीडियो के कीफ्रेम्स को गूगलक्रोम के इनविड एक्सटेंशन पर रिवर्स सर्च करने हमें यूट्यूब पर 15 अगस्त 2020 को अपलोड किया गया एक वीडियो मिला. ये वीडियो Akhileshiyans नाम के यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया था. ये वीडियो वायरल हो रहे वीडियो का थोड़ा साफ वर्जन है और इसमें बताया गया है कि ये उत्तरप्रदेश के जौनपुर के रहने वाली भारतीय सेना के जवान जिलाजीत यादव की शवयात्रा है.

ADVERTISEMENT

यहां से क्लू लेकर हमने यूट्यूब पर अलग-अलग कीवर्ड सर्च किए. हमें 'NYOOOZ UP-Uttarakhand' यूट्यूब चैनल पर 5 मिनट का वीडियो मिला, जिसमें 23 सेकंड के बाद 'जिलाजीत भैया अमर रहें' का नारा सुना जा सकता है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

मामले से जुड़ी न्यूज रिपोर्ट्स सर्च करने पर पता चला कि जिलाजीत यादव साल 2020 में पुलवामा जिले में सुरक्षा बलों और आतंकियों की मुठभेड़ में शहीद हो गए थे.

ADVERTISEMENT

साफ है कि, सैनिक की शवयात्रा का वीडियो सोशल मीडिया पर दलित बच्चे इंद्र मेघवाल की शवयात्रा का बताकर गलत दावे के साथ वायरल है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENTREMOVE AD
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×