ADVERTISEMENTREMOVE AD

भ्रामक हेडलाइन का शिकार तो नहीं हुए आप? ऐसे जानें पूरा सच

कई बार हेडलाइन भ्रामक हो सकती हैं. इसलिए जरूरी है कि किसी भी नतीजे पर पहुंचने से पहले पूरी स्टोरी पढ़ लें.

छोटा
मध्यम
बड़ा

वीडियो एडिटर - अभिषेक शर्मा

इलस्ट्रेशन - अरूप मिश्रा

कई बार होता होगा कि आपने किसी न्यूज रिपोर्ट की हेडलाइन पढ़ी और परेशान हो गए? और हो सकता है आप इसे दूसरों के साथ शेयर भी कर देते हों?

अगर इन सवालों का जवाब हां है, तो इसका बहुत ही आसान समाधान है.

सिर्फ हेडलाइन ही पढ़कर कोई राय न बनाएं

कई बार मीडिया आउटलेट क्लिकबेट हेडलाइंस का इस्तेमाल करते हैं, ताकि लोग उनकी स्टोरी पर क्लिक करें. लेकिन ऐसी हेडलाइन गुमराह करने वाली भी हो सकती हैं. इसलिए, जरूरी है कि आप उस पूरी स्टोरी को पढ़ें और स्टोरी में जो सोर्स बताए गए हैं उन्हें भी देखें.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

यहां कुछ चीजें बताई गईं हैं जिन्हें आपको फॉलो करना चाहिए.

  • पूरी स्टोरी पढ़ें: ऐसा मुमकिन है कि हेडलाइन और स्टोरी दोनों की जानकारी अलग-अलग हो. इसलिए पूरी स्टोरी पढ़कर राय बनाना चाहिए.

  • स्टोरी में बताए गए सोर्स चेक करें.

  • हेडलाइन पढ़ते ही किसी नतीजे पर न पहुंचें.

  • ये भी देख लें कि स्टोरी में कोई डिसक्लेमर तो नहीं दिया गया है. जैसे कि ये स्टोरी एक 'सटायर' है या 'प्रैंक' है.

इससे पहले कि आप किसी स्टोरी को पढ़ते ही शेयर करें, ये आसान से स्टेप्स फॉलो करके आप किसी सूचना की गंभीरता से जांच कर पाएंगे और फेक न्यूज भी फैलाने से बच जाएंगे.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×