ADVERTISEMENT

स्कूलों में सिर्फ मुगल नहीं, मराठा, अशोक, राजपूतों का भी इतिहास पढ़ाया जा रहा है

दावा किया गया है कि स्कूलों में सिर्फ मुगलों का इतिहास पढ़ाया जाता है, मराठा, राजपूत, विजयनगर साम्राज्यों का नहीं

Updated

(ये स्टोरी पहली बार 1 सितंबर 2021 को पब्लिश की गई थी. हम अपने अर्काइव से इस स्टोरी को दोबारा पब्लिश कर रहे हैं, ANI को दिए अक्षय कुमार के उस इंटरव्यू के बाद जिसमें उन्होंने इसी दावे को दोहराया)

वीडियो एडिटर - प्रशांत चौहान

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक मैसेज में ये दावा किया जा रहा है कि स्कूलों में सिर्फ मुगल साम्राज्य का इतिहास पढ़ाया जाता है.

दावा है कि मराठा, राजपूत, अहोम और चोल जैसे साम्राज्यों का इतिहास स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता. क्विंट की वेबकूफ टीम ने इस दावे की पड़ताल के लिए नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग (NCERT) की इतिहास की किताबें खंगालीं.

सामने आया कि छठवीं से 12वीं कक्षा की इतिहास की किताबों में मुगलों के साथ ही विजयनगर, मराठा, समुद्रगुप्त, अशोक समेत भारत के कई शासकों के बारे में विस्तार से बताया गया है. इतिहास के सिलेबस को लेकर फैलाया जा रहा ये नैरेटिव नया नहीं है. आए दिन ऐसे दावे सोशल मीडिया पर वायरल होते हैं.

ADVERTISEMENT

दावा

Abhi and Niyu नाम के वेरिफाइड ट्विटर हैंडल से 27 अगस्त को एक ट्वीट हुआ. जिसका हिंदी अनुवाद है - अगर मुगल राष्ट्र निर्माण कर रहे थे तो मौर्य, गुप्त, मराठा, राजपूत, अहोम, चोलऔर विजयनगर साम्राज्य क्या कर रहे थे? बाबर की विरासत हर कोई जानता है. हमें स्कूल में पढ़ाया गया है. अब समय आ गया है कि हम दूसरों के बारे में भी जानें.

मैसेज में ये कहने की कोशिश की गई है कि स्कूलों के सिलेबस में सिर्फ मुगल साम्राज्य के बारे में बताया गया है. मौर्य, मराठा, राजपूत, अहोम, चोल, विजयनगर और गुप्त साम्राज्य के बारे में नहीं पढ़ाया जाता.

पोस्ट का अर्काइव यहां देखें 

सोर्स : स्क्रीनशॉट/ट्विटर

Abhi and Niyu के ट्विटर पर 1.11 लाख से ज्यादा फॉलोवर हैं. इस हैंडल से मैसेज ट्वीट होते ही कई यूजर्स ने बिना इसका सच जाने मैसेज शेयर करना शुरू कर दिया. अर्काइव यहां और यहां देख सकते हैं.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया 

वायरल मैसेज में दावा किया गया है कि, स्कूल में मौर्य, मराठा, राजपूत, अहोम, चोल, विजयनगर और गुप्त साम्राज्यों के बारे में नहीं पढ़ाया जाता. हमने सिलेबस तैयार करने वाली संस्था नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग (NCERT) की इतिहास की किताबें खंगालनी शुरू कीं, तो सामने आया कि वायरल मैसेज में किए गए दावे झूठे हैं.

ADVERTISEMENT

कक्षा : 12वीं, किताब: भारतीय इतिहास के कुछ विषय-2

वायरल मैसेज में विजयनगर साम्राज्य को लेकर दावा किया गया है कि इसके बारे में स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता. NCERT की 12वीं कक्षा की इतिहास की किताब 'भारतीय इतिहास के कुछ विषय-2' में 14वीं शताब्दी से 16वीं शताब्दी तक चले विजयनगर साम्राज्य के बारे में बताया गया है. वहीं इसके बाद वाले चैप्टर में मुगल साम्राज्य के बारे में बताया गया है.

ADVERTISEMENT

कक्षा: सातवीं, किताब: हमारे अतीत- 2 

NCERT की कक्षा सातवीं की इतिहास की किताब 'हमारे अतीत-2' का दूसरा चैप्टर है 'नए राजा और उनके राज्य' इस चैप्टर में सातवीं से बारहवीं सदी के बीच भारत में जिन राजवंशों का उदय हुआ, उन्हें नक्शे के जरिए समझाया गया है. यहां चहमान, गुर्जर, चंदेल, परमार समेत कई राजवंशों का जिक्र है.

सोर्स : स्क्रीनशॉट/वेबसाइट/NCERT

आगे हर राजवंश की संस्कृति के बारे में भी इस किताब में विस्तार से बताया गया है.

छठवीं कक्षा की 'हमारे अतीत-2' किताब के 10वें चैप्टर में मराठा साम्राज्य के बारे में भी बताया गया है. इस चैप्टर में खासतौर पर उन साम्राज्यों के उदय के बारे में बताया गया है, जिनके आने से मुगल साम्राज्य की सीमाएं छोटी होने लगीं और साम्राज्य के सामने संकट खड़ा हो गया.

राजपूत शासकों के बारे में भी बताया गया है.

ADVERTISEMENT

कक्षा: छठवीं, किताब: हमारे अतीत-1

NCERT की छठवीं कक्षा की इतिहास की किताब है 'हमारे अतीत-1'. इस किताब में राजा के शासन वाले साम्राज्यों के अलावा अन्य तरह की व्यवस्थाओं जैसे जनपद और महाजनपद के बारे में भी बताया गया है. पांचवें चैप्टर में बताया गया है कि 2500 साल पहले मगध भारत का सबसे शक्तिशाली जनपद बन गया था.

यही नहीं, इस किताब का सातवां चैप्टर सिर्फ सम्राट अशोक और उनके साम्राज्य (मौर्य) के बारे में बताता है. इसी किताब के 10वें चैप्टर में समुद्रगुप्त के साम्राज्य के बारे में भी विस्तार से बताया गया है.

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT

Abhi and Niyu के ट्वीट के जवाब में कई पत्रकार, लेखकों और शिक्षकों के साथ छात्रों ने भी दावे को तथ्यातमक रूप से गलत बताया है.

ADVERTISEMENT

मतलब साफ है सोशल मीडिया पर किया जा रहा ये दावा झूठा है कि स्कूलों के सिलेबस में सिर्फ मुगलों का ही इतिहास पढ़ाया जाता है.

हमारी पड़ताल में सामने आया कि NCERT के सिलेबस में छठवीं से 12वीं कक्षा के बीच मुगलों के साथ ही विजयनगर, मराठा, समुद्रगुप्त, अशोक समेत भारत के अलग-अलग हिस्सों में राज करने वाले तमाम शासकों के बारे में विस्तार से बताया गया है. गलत नैरेटिव सेट करने के लिए सोशल मीडिया पर झूठा दावा किया जा रहा है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और webqoof के लिए ब्राउज़ करें

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×