ADVERTISEMENTREMOVE AD

मस्जिद में सफाई करते पुलिसकर्मियों की ये फोटो बंगाल नहीं, तेलंगाना की है

ये फोटो 2016 की है, जब तेलंगाना पुलिस ने स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत मंदिरों और मस्जिदों में सफाई की थी.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

सोशल मीडिया पर एक मस्जिद की सफाई करते पुलिस कर्मियों की फोटो वायरल हो रही है. इसे शेयर कर दावा किया जा रहा है कि ये फोटो सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के नेतृत्व वाली सरकार में पश्चिम बंगाल (West Bengal) पुलिस की स्थिति को दर्शाती है.

हालांकि, हमने पाया कि ये फोटो तेलंगाना के भैंसा की है और हाल की नहीं बल्कि जून 2016 की है, जब तेलंगाना के पुलिस कर्मियों ने स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत मंदिरों और मस्जिदों की सफाई की थी.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

दावा

शेयर हो रही फोटो में लिखा है कि ममता बनर्जी की सरकार में पश्चिम बंगाल पुलिस मस्जिदों की सफाई कर रही है, ताकि लोग नमाज अदा कर सकें.

ये फोटो 2016 की है, जब तेलंगाना पुलिस ने स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत मंदिरों और मस्जिदों में सफाई की थी.

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

कई फेसबुक यूजर्स ने इस फोटो को इसी दावे के साथ शेयर किया है, जिनके आर्काइव आप यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.

पड़ताल में हमने क्या पाया

फोटो को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने पर, हमें 2017 का एक फेसबुक पोस्ट मिला, जिसमें वायरल फोटो इस्तेमाल की गई थीं.

ये फोटो 2016 की है, जब तेलंगाना पुलिस ने स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत मंदिरों और मस्जिदों में सफाई की थी.

ये वायरल फोटो 2017 में फेसबुक पर शेयर की गई थी

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

फोटो को ध्यान से देखने पर हमें एक 'SK TOYS' नाम की दुकान दिखी.

ये फोटो 2016 की है, जब तेलंगाना पुलिस ने स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत मंदिरों और मस्जिदों में सफाई की थी.

फोटो में पीेछे SK TOYS नाम की दुकान देखी जा सकती है

(फोटो: स्क्रीनशॉट/फेसबुक/Altered by The Quint)

इसके बाद, TinEye पर रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें 2017 की एक फोटो मिली, जिसमें वायरल विजुअल देखे जा सकते हैं. फोटो के साथ इस्तेमाल किए गए टेक्स्ट के मुताबिक फोटो में हैदराबाद पुलिस दिख रही है.

ये फोटो 2016 की है, जब तेलंगाना पुलिस ने स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत मंदिरों और मस्जिदों में सफाई की थी.

टेक्स्ट के मुताबिक फोटो में हैदराबाद पुलिस दिख रही है

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/TinEye)

ADVERTISEMENTREMOVE AD

वायरल फोटो तेलंगाना की है, पश्चिम बंगाल की नहीं

ऊपर बताए जा चुके क्लू का इस्तेमाल कर, हमने गूगल पर SK Toys सर्च करके देखा और पाया कि 'SK Toys World' नाम की दुकान तेलंगाना के भैंसा में स्थित है.

हमें 18 जून 2016 का एक फेसबुक पोस्ट भी मिला जिसमें वायरल फोटो को थोड़ा ज्यादा साफ वर्जन मिला. इसके कैप्शन में लिखा था कि पुलिस भैंसा के पंजेशा मस्जिद में सफाई कर रही है.

हमने इस फोटो की तुलना गूगल मैप्स पर मौजूद 'SK Toys World' दुकान से की और दोनों में कई समानताएं देखीं.

ये फोटो 2016 की है, जब तेलंगाना पुलिस ने स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत मंदिरों और मस्जिदों में सफाई की थी.

बाएं वायरल फोटो, दाएं गूगल मैप्स पर मौजूद फोटो

(फोटो: Altered by The Quint)

पंजेशा मस्जिद की तस्वीरें गूगल मैप्स पर भी मौजूद हैं. इन तस्वीरों में 'SK Toys World' नाम की दुकान को मस्जिद के सामने देखा जा सकता है.

(नोट: तस्वीरें देखने के लिए दाएं स्वाइप करें)

  • गूगल मैप्स पर मौजूद फोटो

    (सोर्स: स्क्रीनशॉट/गूगल मैप्स)

गूगल मैप्स की मदद से हमें जानकारी मिली की ये दुकान पंजेशा मस्जिद से 20 मीटर की दूरी पर है.

ये फोटो 2016 की है, जब तेलंगाना पुलिस ने स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत मंदिरों और मस्जिदों में सफाई की थी.

गूगल मैप्स के मुताबिक ये दुकान पंजेशा मस्जिद से थोड़ी दूरी पर है

(फोटो: स्क्रीनशॉट/गूगल मैप्स)

ADVERTISEMENTREMOVE AD

वर्दी पर दिख रहा चिह्न तेलंगाना पुलिस का है

हमने ये भी देखा कि वायरल फोटो में पुलिस ऑफिसर की वर्दी पर दिख रहा प्रतीक चिन्ह पश्चिम बंगाल पुलिस का नहीं, बल्कि तेलंगाना पुलिस का है.

ये फोटो 2016 की है, जब तेलंगाना पुलिस ने स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत मंदिरों और मस्जिदों में सफाई की थी.

बाएं वायरल फोटो,बीच में तेलंगाना पुलिस, दाएं प. बंगाल पुलिस

(फोटो: Altered by The Quint)

क्विंट की वेबकूफ टीम से बातचीत में, भैंसा के ASP किरन खरे ने बताया कि ये फोटो 2016 की है और इसे भैंसा में लिया गया था.

''ये फोटो भैंसा में मौजूद पंजेशा मस्जिद की है और इस फोटो को 2016 में स्वच्छ भारत अभियान के तहत लिया गया था. इस अभियान में भैंसा पुलिस ने भाग लिया था.''
किरन खरे, ASP भैंसा

तेलंगाना राज्य पुलिस के फेसबुक अकाउंट से 20 जून 2016 को तस्वीरें शेयर की गईं थीं और बताया गया था कि कैसे भैंसा के डीएसपी और दूसरे पुलिस ऑफिसर ने स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत मंदिरों और मस्जिदों की सफाई की थी.

ये फोटो 2016 की है, जब तेलंगाना पुलिस ने स्वच्छ भारत कार्यक्रम के तहत मंदिरों और मस्जिदों में सफाई की थी.

तेलंगाना पुलिस ने 2016 में मंदिर और मस्जिद दोनों जगह सफाई कार्य किया था

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

मतलब साफ है कि तेलंगाना की 5 साल पुरानी फोटो इस गलत दावे से शेयर की जा रही है कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार में पुलिस मस्जिदों में सफाई कर रही है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×