ADVERTISEMENTREMOVE AD

UAE के शहर का नाम 'हिंद सिटी' रखे जाने को भारत से जोड़ते दावों का पूरा सच

दुबई के शासक ने मिन्हाद शहर का नाम बदलकर हिद सिटी कर दिया है

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

यूनाइटेड अरब अमीरात (UAE) के प्रधानमंत्री और दुबई के शासक शेख मोहम्मत बिन राशिद अल मख्तूम ने मिन्हाद शहर का नाम बदलकर 'हिंद शहर' (Hind City) कर दिया है. सोशल मीडिया पर शहर का नाम बदले जाने को हिंदू समुदाय और भारत से जोड़कर कई दावे किए जा रहे हैं. कुछ यूजर सोशल मीडिया पर ये दावा करते हुए कह रहे हैं कि ये भारतीयों और हिंदू समुदाय के लिए ये गर्व की बात है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

किसने किया ये दावा ? बीजेपी (BJP) के राष्ट्रीय प्रवक्ता आरपी सिंह ने ट्विटर पर ये दावा किया. एक अन्य हैंडल Megh Updates ने भी यही दावा किया, जिसे रिपोर्ट लिखे जाने तक 10 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है.

दुबई के शासक ने मिन्हाद शहर का नाम बदलकर हिद सिटी कर दिया है

पोस्ट का अर्काइव यहां देखें

सोर्स : स्क्रीनशॉट/ट्विटर

दुबई के शासक ने मिन्हाद शहर का नाम बदलकर हिद सिटी कर दिया है

पोस्ट का अर्काइव यहां देखें

सोर्स : स्क्रीनशॉट/ट्विटर

यही दावा करते अन्य पोस्ट्स के अर्काइव यहां और यहां देखें

0

सच क्या है ? : द क्विंट को मेल पर दिए जवाब में दुबई सरकार के मीडिया विभाग ने स्पष्ट किया कि नाम बदले जाने का किसी अन्य देश से कोई संबंध नहीं है.

  • हमने HH शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मख्तूम का ट्विटर हैंडल भी चेक किया, यहां भी ऐसी कोई जानकारी हमें नहीं मिली जिससे पुष्टि होती हो कि नाम बदले जाने का भारत से कोई संबंध है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

नाम बदले जाने की आधिकारिक घोषणा में क्या ? : 'अल मिन्हाद' का नाम बदले जाने को लेकर दुबई सरकार ने 29 जनवरी को एक प्रेस रिलीज जारी की थी.

  • ''UAE के उप राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मख्तूम ने अल मिन्हाद और उसके आसपास के इलाके का नाम बदलकर हिंद शहर रखे जाने की घोषणा कर दी है''

ADVERTISEMENTREMOVE AD

फन फैक्ट : दुबई के शासक की पहली पत्नी का नाम शेखा हिंद बिंत मख्तूम बिन जुमा अल मख्तूम है.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×