ADVERTISEMENT

फाइजर की कोविड वैक्सीन लगने के बाद नर्स की मौत हुई? झूठा है दावा

एक पोस्ट वायरल हो गया है,जिसमें दावा किया जा रहा है कि अमेरिका में फाइजर की वैक्सीन लेने वाली एक नर्स की मौत हो गई.

Updated
फाइजर की कोविड वैक्सीन लगने के बाद नर्स की मौत हुई? झूठा है दावा

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो गया है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि अमेरिका में फाइजर की कोविड वैक्सीन लेने वाली एक नर्स की मौत हो गई.

हमने पाया कि वैक्सीन लगने के बाद नर्स को चक्कर आ गए थे, और उन्होंने बाद में सफाई भी दी थी कि किसी भी तरह का दर्द महसूस करने पर उन्हें चक्कर आ जाते हैं.

दावा

फेसबुक पर एक वायरल पोस्ट में लिखा है: “There are reports Tiffany Pontes Dover is dead. She is the nurse who collapsed on live television when being interviewed about the vaccine. We can't confirm it, we are trying to collect as much intel as possible.”

ट्रांसलेशन: “ऐसी खबर है कि टिफनी पॉन्टीज डोवर की मौत हो गई है. ये वो नर्स हैं जो वैक्सीन को लेकर इंटरव्यू के दौरान लाइव टीवी पर गिर गई थीं. हम इसकी पुष्टि नहीं करते हैं. हम ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाने की कोशिश कर रहे हैं.”

फाइजर की कोविड वैक्सीन लगने के बाद नर्स की मौत हुई? झूठा है दावा
फाइजर की कोविड वैक्सीन लगने के बाद नर्स की मौत हुई? झूठा है दावा
फाइजर की कोविड वैक्सीन लगने के बाद नर्स की मौत हुई? झूठा है दावा
फाइजर की कोविड वैक्सीन लगने के बाद नर्स की मौत हुई? झूठा है दावा

हमें ये सवाल क्विंट की WhatsApp टिपलाइन पर भी मिला, जिसके साथ मैसेज में लिखा था: “फाइजर की वैक्सीन लेने के बाद एक नर्स की तुरंत मौत हो गई!! हां ये 95% सेफ है, लेकिन 100% मौत निश्चित.”

ADVERTISEMENT

हमने जांच में क्या पाया?

हमने गूगल पर “nurse faints after COVID-19 vaccine” सर्च किया, जिसके बाद हमें WRCB में पब्लिश हुई एक रिपोर्ट मिली. WRCB अमेरिका के टेनेसी के चेटानूगा में NBC से संबंधित टीवी स्टेशन है. रिपोर्ट का टाइटल था: “First doses of COVID-19 vaccines administered at Chattanooga hospital on Thursday”.

ट्रांसलेशन: “गुरुवार को चेटानूगा अस्पताल में कोविड-19 वैक्सीन के पहले डोज दिए गए”.

रिपोर्ट के मुताबिक, अस्पताल में क्रिटिकल केयर यूनिट नर्स, टिफनी डोवर को वैक्सीन लेने के बाद चक्कर आ गए. इस रिपोर्ट में एक वीडियो भी शामिल है, जिसमें नर्स को चक्कर खाकर गिरते हुए देखा जा सकता है.

रिपोर्ट में, इस घटना के बाद नर्स का इंटरव्यू भी शामिल है, जिसमें वो WRCB रिपोर्टर को बताती हैं, “मेरी ओवर-रिएक्टिव वेगल रिस्पॉन्स की हिस्ट्री रही है, और इसलिए अगर मुझे किसी भी चीज से दर्द होता है, या अगर मैं अपने पैर की अंगुली को भी दबाती हूं, तो मुझे चक्कर आ जाते हैं.”

डोवर ने आगे कहा, “पिछले छह हफ्तों में मुझे कम से कम छह बार चक्कर आए हैं... ये कॉमन है मेरे लिए.”

ADVERTISEMENT

इसी अस्पताल में क्रिटिकल केयर फिजिशियन, डॉ जेस टकर को भी उसी दिन कोविड वैक्सीन का शॉट दिया गया. उसी वीडियो में, उन्हें यह कहते हुए देखा गया कि “इस बात पर संदेह करने का कोई कारण नहीं है कि ये (डोवर को चक्कर आना) वैक्सीन के कारण हुई हो.”

CHI मेमोरियल अस्पताल ने ट्विटर पर एक बयान भी जारी किया था, जिसमें लिखा था, "गुरुवार, 17 दिसंबर 2020 को, CHI मेमोरियल में 6 लोगों को फाइजर कोविड वैक्सीन दी गई- तीन फिजिशियन और तीन नर्स. इसके कुछ देर के बाद ही, मीडिया इंटरव्यू के दौरान, एक नर्स को चक्कर आने लगे. वो बेहोश नहीं हुई थीं और जल्द ही रिकवर हो गई थीं."

इस बयान में अमेरिका के सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) की वेबसाइट से एक रिपोर्ट को भी शामिल किया गया है, जिसमें लिखा है, "कई तरह के मेडिकल प्रोसीजर के कारण चक्कर आ सकता है. बल्कि, CDC को रिपोर्ट्स मिली हैं कि लोगों को लगभग सभी वैक्सीन के बाद चक्कर आते हैं."

फाइजर और उसकी जर्मन पार्टनर, बायोएनटेक द्वारा विकसित की गई इस वैक्सीन को 11 दिसंबर को अमेरिका के फूड एंड ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) से इमरजेंसी यूज की अनुमति मिली. अमेरिका में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. 21 दिसंबर को अमेरिका के प्रेसिडेंट-इलेक्ट जो बाइडेन ने भी इस वैक्सीन का पहला शॉट लिया.

इससे साफ होता है कि फाइजर वैक्सीन लगने के बाद नर्स की मौत का दावा झूठा है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT