दावा-बंगाल हिंसा में घायल हुआ CISF जवान, सच कुछ और

झारखंड के धनबाद में लंगूर के हमले से घायल हुए जवान की फोटो गलत  दावे से वायरल

Published

वीडियो एडिटर - पूर्णेन्दु प्रीतम

पश्चिम बंगाल में चल रहे चुनावों के बीच कई नेता अपने विरोधियों को निशाना बनाने के लिए भ्रामक जानकारी फैला रहे हैं. हाल ही में बीजेपी नेता सुवेंदु अधिकारी और सौमित्र खान ने घायल CISF जवान की फोटो को शेयर करते हुए दावा किया कि ये जवान चौथे चरण के मतदान के दौरान घायल हुआ. बीजेपी नेताओं ने टीएमसी को इस हमले के लिए जिम्मेदार ठहराया.

पोस्ट का अर्काइव देखने के लिए <a href="https://archive.is/MXOP2">यहां </a>क्लिक करें
पोस्ट का अर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें
सोर्स : स्क्रीनशॉट/ट्विटर

ये दावा कूचबिहार जिले के सीतलकुची में हुई हिंसा के बाद किया गया. सीतलकुची में 10 अप्रैल को सुबह कथित तौर पर गांव वालों के हमले के बाद केंद्रीय बलों की ओर से की गई फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई थी.

लेकिन फोटो को गलत संदर्भ के साथ शेयर किया जा रहा है

हमने ये कैसे पता लगाया ?

हमने वायरल फोटो को गूगल पर ररिवर्स इमेज सर्च किया. हमें Dainik Jagran का 10 अप्रैल को प्रकाशित एक आर्टिकल मिला.

दावा-बंगाल हिंसा में घायल हुआ CISF जवान, सच कुछ और
सोर्स ; स्क्रीनशॉट/वेबसाइट

इस आर्टिकल में वायरल फोटो का इस्तेमाल किया गया था और बताया गया था कि झारखंड में धनबाद के बाघमारा में CISF कैंप में ड्यूटी पर तैनात एएसआई एसपी शर्मा पर 9 अप्रैल को रात में लंगूर ने हमला कर जख्मी कर दिया था.

सीआईएसएफ के सूत्रों ने इस घटना की पुष्टि की और हमें बताया कि एएसआई पर लंगूर के हमले की घटना 9 अप्रैल को बीसीसीएल धनबाद में हुई. और इस घटना का पश्चिम बंगाल में हुई घटना से कोई संबंध नहीं है.

मतलब साफ है कि वायरल हो रही इस फोटो का पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा से कोई संबंध नहीं है.

हम 5 राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों को लेकर किए जा रहे कई भ्रामक और गलत दावों की पड़ताल कर रहे हैं. अगर आपके पास चुनाव से जुड़ी कोई भ्रामक सूचना आती है, तो हमारे वॉट्सएप नंबर 9643651818 या मेल आइडी webqoof@thequint.com. पर भेजें. तब तक हमारी अन्य फैक्ट चेक स्टोरी पढ़ने के लिए फेसबुक और ट्विटर पर क्विंट हिंदी को फॉलो करें और वेबकूफ न बनें.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!