ADVERTISEMENT

किसी ने किया मजाकिया ट्वीट, R.Bharat ने बना दिया Breaking News- चीन में तख्तापलट

Republic Bharat ने ये भी दावा किया था कि China के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को घर में नजरबंद कर दिया गया है

Published

जॉर्ज फारियन नाम के एक जर्नलिस्ट के एक मजाकिया ट्वीट थ्रेड में लिखी गई बातों को न्यूज चैनल Republic Bharat ने चीन (China) की ''एक्सक्लूजिव न्यूज'' बताकर चलाया. जॉर्ज जर्मन न्यूज वेबसाइट Der Spiegel के बीजिंग में कॉरेस्पॉन्डेंट हैं.

हालांकि, फारियन ने अपने ट्वीट पर आए कमेंट्स पर जवाब में बताया है कि वो मजाक कर रहे थे. उन्होंने इस ओर भी लोगों का ध्यान दिलाया कि एक इंडियन न्यूज चैनल ने उनके थ्रेड के आधार पर रिपोर्टिंग की है.

ADVERTISEMENT

सोशल मीडिया पर ऐसी अफवाह है कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को नजरबंद कर लिया गया है और चीन में 'तख्तापलट' हो गया है.

सोशल मीडिया यूजर्स ने ये दावा भी किया है कि समरकंद में शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (SCO) की बैठक से लौटने के बाद शी जिनपिंग सार्वजनिक कार्यक्रमों से गायब हैं.

हालांकि, रिपोर्ट्स के मुताबिक ऐसा हो सकता है कि जिनपिंग विदेशी दौरे पर थे इसलिए वापस आकर वो क्वारंटीन में चले गए हों, न कि उन्हें हाउस अरेस्ट किया गया है. चीन में कोविड से जुड़े सख्त नियम लागू हैं.

ADVERTISEMENT

'चीन में तख्तापलट' पर Republic का बुलेटिन

सोशल मीडिया यूजर तो छोड़िए जर्नलिस्ट जॉर्ज फारियान के मजाकिया ट्विटर थ्रेड में जो तस्वीरें इस्तेमाल की गई हैं, उन्हीं का इस्तेमाल कर Republic Bharat ने चीन में 'तख्तापलट' से जुड़ा बुलेटिन प्रसारित कर दिया. इस बुलेटिन में उन बातों को भी इनपुट की तरह इस्तेमाल किया गया जो जॉर्ज ने ट्विटर पर लिखी थीं. ट्वीट में एक तस्वीर थी जिसमें जिनपिंग के घर के बाहर कुछ लोगों को दिखाया गया था, चैनल इन लोगों को ''एलीट फोर्स'' बता दिया.

बुलेटिन का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/यूट्यूब)

वीडियो में तस्वीरों को दिखाते हुए एंकर बोल रहे हैं कि ये तस्वीरें सिन्हुआ गेट के बाहर की हैं, जहां पर ''एलीट फोर्सेज'' तैनात हैं. पूरे वीडियो में एंकर चीन में ''तख्तापलट'' पर चर्चा करते सुने जा सकते हैं. साथ ही ये भी कह रहे हैं कि बीजिंग में सेना ने मूवमेंट शुरू कर दिया है और सिन्हुआ गेट के अंदर मौजूद घर में जिनपिंग को हाउस अरेस्ट कर लिया गया है.

एंकर कह रहे हैं कि चीनी मीडिया और चाइनीज कम्यूनिस्ट पार्टी (CCP) ने अभी तक तख्तापलट पर कोई बयान क्यों नहीं दिया है?

ADVERTISEMENT

शो में कुछ गेस्ट्स से भी इस मामले पर चर्चा सुनी जा सकती है. जिसमें कहा जा रहा है कि जिनपिंग की तानाशाही से लोग परेशान हैं. चीन की अर्थव्यवस्था, कोरोना और ताइवान से मामले पर चर्चा करते हुए उन्होंने ये भी कहा कि शी जिनपिंग असफल साबित हुए हैं.

जर्नलिस्ट का वो मजाकिया ट्वीट जिस पर बना दिया बुलेटिन

दरअसल Der Spiegel के जर्नलिस्ट जॉर्ज फारियान ने फोटो डालकर मजाकिया लहजे में लिखा था कि मैंने चीन में ''तख्तापलट'' की जांच की है, ताकि आपको ऐसा न करना पड़े. उन्होंने लिखा कि उन्होंने ''काफी जोखिम लिया है'' और बीजिंग की खास जगहों में जाकर परेशान करने वाली चीजें देखीं.

ADVERTISEMENT

फारियान ने बीजिंग की ही एक और फोटो शेयर की जिसमें कुछ लोग चलते हुए दिख रहे हैं. उन्होंने मजाकिया लहजे में इसे लेकर लिखा कि सादे कपड़े पहने ''ठगों'' ने तियानानमेन स्क्वायर को घेर लिया है.

वो मजाक को आगे बढ़ाते हुए फिर से लिखते हैं कि ''मैं काफी दिनों से चीन में हूं ताकि ये जान सकूं कि ये टूरिस्ट नहीं हैं.''

उन्होंने सड़क पर चलती कारों की फोटो शेयर कर मजाकिया लहजे में लिखा कि कैसे ''लोगों के ट्रैफिक'' के लिए सड़कें बंद कर दी गई हैं.

उनके इस मजाकिया ट्वीट और उसमें इस्तेमाल की गई तस्वीरों को चैनल ने ''एक्सक्लूजिव न्यूज'' बताकर चलाया और दावा किया कि शहर की सड़कों में और जिनपिंग के आवास के बार सेना तैनात कर दी गई है. जो साफ तौर पर सोशल मीडिया पर चल रही उन अफवाहों को बल देता है जिनके मुताबिक कथित तौर पर चीन में ''तख्तापलट'' हो गया है.

ADVERTISEMENT

ट्वीट में फारियान ने जिस तस्वीर को शेयर कर लिखा था कि इसमें ''एलीट पैराट्रूपर्स'' दिख रहे हैं, उसी तस्वीर को Republic Bharat ने ''एलीट फोर्सेज'' का बताकर कहा कि ये जिनपिंग के कथित हाउस अरेस्ट के दौरान उनके घर के बाहर खड़े हुए हैं. इसके अलावा, दूसरी तस्वीरें भी चैनल ने इस्तेमाल कीं.

(इन तस्वीरों को देखने के लिए दाईं ओर स्वाइप करें)

  • <div class="paragraphs"><p>फारियान का ट्वीट</p></div>

    फारियान का ट्वीट

    (सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

  • <div class="paragraphs"><p>बुलेटिन में इस्तेमाल की गईं तस्वीरें</p></div>

    बुलेटिन में इस्तेमाल की गईं तस्वीरें

    (सोर्स: स्क्रीनशॉट/रिपब्लिक भारत)

  • <div class="paragraphs"><p>फारियान का ट्वीट</p></div>

    फारियान का ट्वीट

    (सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

  • <div class="paragraphs"><p>बुलेटिन में इस्तेमाल की गईं तस्वीरें</p></div>

    बुलेटिन में इस्तेमाल की गईं तस्वीरें

    (सोर्स: स्क्रीनशॉट/रिपब्लिक भारत)

हालांकि, ट्वीट थ्रेड देखने पर साफ दिख रहा है कि फारियान ने एक कमेंट के जवाब में बताया था कि ये एक मजाक है.

फारियान ने इस ट्वीट को एक मजाक बताया

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

उन्होंने ट्वीट कर ये भी बताया कि एक इंडियन टीवी चैनल ने उनके थ्रेड पर बुलेटिन प्रसारित किया. इसलिए मैं दोबारा से कह रहा हूं ''दो चीजें अनंत हैं, एक ब्रह्मांड और दूसरी मनुष्य की मूर्खता''.

फारियान ने उनके ट्वीट पर न्यूज चलाने पर ये ट्वीट किया

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

ADVERTISEMENT

क्विंट ने जर्नलिस्ट जॉर्ज फारियान से संपर्क किया है. जवाब आते ही स्टोरी अपडेट की जाएगी.

मतलब साफ है, चीन में तख्तापलट पर मजाकिया लहजे में किए गए ट्वीट्स के आधार पर Republic Bharat ने बुलेटिन चलाया और उस पर चर्चा करते हुए उसे सही जानकारी के तौर पर पेश किया.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Speaking truth to power requires allies like you.
Q-इनसाइडर बनें
450

500 10% off

1500

1800 16% off

4000

5000 20% off

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
Check Insider Benefits
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें