AstraZeneca ने रोका कोरोना वैक्सीन का ट्रायल, बताई ये वजह

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ वैक्सीन विकसित कर रही AstraZeneca

Published
दुनिया
1 min read
सांकेतिक तस्वीर
i

फार्मास्युटिकल कंपनी AstraZeneca ने मंगलवार को बताया कि उसने अपनी कोरोनावायरस वैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल को रोक दिया है. कंपनी ने स्टडी में हिस्सा लेने वाले एक वॉलंटियर के बीमार होने के बाद यह कदम उठाया है.

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ वैक्सीन विकसित कर रही यह कंपनी COVID-19 वैक्सीन की ग्लोबल रेस में फ्रंटरनर है.  

न्यूज एजेंसी एएफपी के मुताबिक, इस मामले पर एक प्रवक्ता ने बताया, ''ऑक्सफोर्ड कोरोना वायरस वैक्सीन के चल रहे रैंडमाइज्ड, नियंत्रित क्लिनिकल ट्रायल्स के हिस्से के रूप में, हमारी मानक समीक्षा प्रक्रिया शुरू हो गई थी और हमने एक स्वतंत्र समिति द्वारा सुरक्षा डेटा की समीक्षा की अनुमति देने के लिए स्वैच्छिक रूप से टीकाकरण रोक दिया.''

प्रवक्ता ने कहा कि यह एक रुटीन एक्शन है जो किसी भी ट्रायल में संभावित रूप से अस्पष्टीकृत बीमारी होने पर होती है.
स्नैपशॉट

कंपनी ने कहा है कि बड़े ट्रायल्स में, बीमारी कभी-कभी संयोग से होती है, लेकिन इसकी स्वतंत्र रूप से समीक्षा की जानी चाहिए. बता दें कि AstraZeneca उन नौ कंपनियों में से एक है जो अभी अपने वैक्सीन कैंडिडेट्स के लिए लेट-स्टेज फेज 3 ट्रायल्स में हैं.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!