ADVERTISEMENT

Al-Zawahiri को अमेरिका ने किसी सीक्रेट मिसाइल से मारा? न धमाका,न कोई और नुकसान

रिपोर्ट्स के मुताबिक अल जवाहिरी बालकनी में खड़ा था, मिसाइल ने उसे मारा लेकिन घर में मौजूद किसी और नुकसान न हुआ

Updated
Al-Zawahiri को अमेरिका ने किसी सीक्रेट मिसाइल से मारा? न धमाका,न कोई और नुकसान
i

कुख्यात अल-कायदा प्रमुख अयमान अल-जवाहिरी (Al Zawahiri) को अमेरिका ने मार गिराया गया है. काबुल स्थित उसके घर को टारगेट करती हुई दो मिसाइलों से उसको खत्म कर दिया गया, लेकिन तस्वीरों में विस्फोट का कोई संकेत नहीं दिखा. अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि इस धमाके से किसी और को नुकसान नहीं हुआ. अमेरिका द्वारा उठाया गया यह कदम मैकाब्रे हेलफायर R9X के फिर से उपयोग की ओर इशारा करता है.

ADVERTISEMENT

अमेरिका में की दो एजेंसियों को चरमपंथी नेताओं की हत्या के लिए जाना जाता है. R9X मिसाइल पहली बार 2017 में दिखाई दी थी, जब अल-कायदा के सीनियर लीडर अबू अल-खैर अल-मसरी को ड्रोन हमले में मारा गया था.

इस दौरान कार की छत पूरी तरह से तहस-नहस हो गई थी, लेकिन कार के बाकी हिस्सों को कोई नुकसान नहीं हुआ था.

हालांकि पेंटागन या CIA द्वारा कभी सार्वजनिक रूप से स्वीकार नहीं किया गया. हेलफायर मिसाइलें टारगेट अटैक में ड्रोन द्वारा दागी गईं, जो शक्तिशाली विस्फोटों और मौतों के लिए जानी जाती हैं. 2017 के बाद हुए हमलों में इसी तरह के रिजल्ट देखने को मिलते हैं.

इसे "निंजा बम" भी कहा जाता है, यह मिसाइल नागरिक नागरिकों को बचाते हुए आतंकवादी समूहों के नेताओं को मारने के लिए अमेरिका का पसंदीदा हथियार बन गया है और कहा जा रहा है कि ऐसा ही जवाहिरी के साथ भी हुआ है.

ADVERTISEMENT

अल-जवाहिरी को कैसे मारा गया?

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक एक अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि 31 जुलाई की सुबह जवाहिरी अपने काबुल स्थित आवास की बालकनी पर अकेले खड़ा था, तभी एक अमेरिकी ड्रोन ने दो हेलफायर दागे. इमारत की स्पष्ट तस्वीरों में एक मंजिल पर खिड़कियां उड़ती हुई दिखाई दे रही हैं, लेकिन अन्य मंजिलों पर खिड़कियों सहित शेष इमारत अभी भी वैसी ही दिख रही है.

जवाहिरी के परिवार के सदस्य घर में मौजूद थे, लेकिन जानबूझकर उन्हें निशाना नहीं बनाया गया और उन्हें नुकसान नहीं पहुंचाया गया. हमारे पास इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि इस हमले में नागरिकों को किसी भी तरह का नुकसान पहुंचा है.

काफी दिनों से चल रही थी अमेरिका की प्लानिंग

CNN की रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन अल जवाहिरी को मारने का आदेश देने से पहले यह जानना चाहते थे कि वह कहां छिपा है? अमेरिका ने भले ही एक ही ड्रोन हमले में जवाहिरी को मार गिराया हो, लेकिन इसके लिए जो बाइडेन और उनके सलाहकारों को कई महीनों तक गुप्त बैठक करके प्लानिंग करनी पड़ी.

ADVERTISEMENT

रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिक के राष्ट्रपति बाइडेन (Joe Biden) को सबसे पहले अप्रैल में जवाहिरी के काबुल में छिपे होने की जानकारी मिली थी. अमेरिकी अधिकारियों को जवाहिरी को काबुल में नेटवर्क से मिलने वाली हेल्प के बारे में जानकारी थी. इसके अलावा अमेरिकी खुफिया एजेंसियों के जरिए उसकी पत्नी, बेटी और परिवार की पहचान की गई.

यह भी कहा जा रहा है कि जवाहिरी के घर में मौजूद महिलाएं आतंकवादी 'ट्रेडक्राफ्ट' का इस्तेमाल करती थीं, जिसको इस तरह से डिजाइन किया गया था कि काबुल में जवाहिरी की लोकेशन की जानकारी सामने न आए.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और world के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  America   Al-Zawahiri   al-zawahiri killed 

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×