ADVERTISEMENTREMOVE AD

Ukraine पर रूस का हमला जारी, पुतिन के समर्थक ने युद्ध को बताया जिहाद

Russia ने यूक्रेन पर डर्टी बम के उपयोग करने की आशंका जताई है.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

पिछले करीब आठ महीनों से रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध (Russia Ukraine War) चल रहा है. दोनों देशों के बीच युद्ध शुरू होने के बाद से दुनिया भर में परमाणु युद्ध की आशंका मंडरा रही है. यूक्रेन में सैन्य हमलों के तेज होने और परमाणु युद्ध के मौजूदा खतरे के बीच, युद्धग्रस्त देश में निवासियों के लिए इस साल की सर्दी और कठिन होने जा रही है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

रूस की Tass न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक मॉस्को की सेना खेरसॉन शहर को सड़क पर लड़ाई के लिए तैयारी कर रही थी. मॉस्को के मुताबिक अब तक लगभग 70 हजार लोग खेरसॉन से भाग चुके हैं. यूक्रेन का कहना है कि निकासी को रूस या कब्जे वाले क्षेत्रों में जबरन निर्वासन के रूप में वर्णित किया गया है.

"मुसलमान शैतानी ताकतों से लड़ें"

चेचन्या के कमांडर और रूसी राष्ट्रपति पुतिन के खास समर्थक रमजान कादिरोव ने युद्ध को जिहाद बताया है. कादिरोव ने टेलीग्राम मैसेजिंग ऐप पर एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि हमारा क्षेत्र जोपोरिज्जिया और खेरसॉन नहीं है. हमारा क्षेत्र ओडेसा, कीव, खार्किव है. सही तरह से यूक्रेन हमारा रूसी क्षेत्र है. इसके अलावा रमजान ने रूसी मुसलमानों को राक्षसों और शैतानी ताकतों के खिलाफ लड़ने का आग्रह किया है.

यूक्रेन पर रूस ने लगाया आरोप

रिपोर्ट के मुताबिक रूस ने आशंका जताई है कि यूक्रेन के खिलाफ डर्टी बम का इस्तेमाल कर सकता है, जो विकिरण फैलाने वाले रेडियोएक्टिव एलिमेंट्स जैसे जहरीले परमाणु से बनाया जाता है. दूसरी ओर यूक्रेन और उसके पश्चिमी सहयोगी देशों ने इनकार करते हुए कहा कि इस बात में कोई सच्चाई नहीं है.

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने रूस के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि रूस खुद पर पर्दा डालने के उद्देश्य से यूक्रेन पर आरोप लगा रहा है.

रूस ने भारत और चीन से बातचीत की

रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने बुधवार, 26 अक्टूबर को भारत और चीन के रक्षा मंत्रियों को फोन करके यूक्रेन के एक "डर्टी बम" का इस्तेमाल करने की योजना के बारे में मास्को की चिंता से अवगत कराया है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रूस के रक्षा मंत्री शोइगु से कहा कि यूक्रेन संघर्ष को बातचीत और कूटनीति के जरिए सुलझाया जाना चाहिए और किसी भी पक्ष को परमाणु हथियारों का सहारा नहीं लेना चाहिए.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि शोइगू ने राजनाथ सिंह को यूक्रेन में उभरती स्थिति के बारे में जानकारी दी, जिसमें संभावित "डर्टी बम के इस्तेमाल के जरिए उकसावे" के बारे में उनकी चिंताएं भी शामिल थीं.

ड्रोन हमलों से जूझ रहा यूक्रेन

रिपोर्ट के मुताबिक यूक्रेन रूसी सेनाओं द्वारा किए जा रहे ड्रोन हमलों से जूझ रहा है. मास्को ने पिछले हफ्ते यूक्रेन पर दर्जनों कामिकेज ड्रोन लॉन्च किए, ऊर्जा के बुनियादी ढांचे पर हमला किया और कई नागरिकों को मार डाला. यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने आरोप लगाया है कि रूस एक जलविद्युत बांध को उड़ाने की योजना बना रहा है, जिससे दक्षिणी यूक्रेन के एक बड़े हिस्से में बाढ़ आ जाएगी. जेलेंस्की ने कहा कि रूसी सेना ने विशाल नोवा काखोवका बांध के अंदर बम लगाए हैं.

यूक्रेन में हमले तेज करने के अलावा रूस ने अमेरिका से कहा है कि वह अपने परमाणु ठिकानों और बलों का वार्षिक अभ्यास करने की योजना बना रहा है. अमेरिका का अनुमान है कि रूस परमाणु बलों के अपने वार्षिक 'ग्रोम' अभ्यास के दौरान परमाणु हथियार परीक्षण करेगा. विशेषज्ञों ने इसको अमेरिका और उसके सहयोगियों के लिए संभावित खतरे के रूप में देखा है क्योंकि पुतिन ने युद्ध हारने से बचने के लिए परमाणु हथियारों का उपयोग करने की संभावना जताई है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×