ADVERTISEMENTREMOVE AD

यूक्रेन-रूस विवाद पर UNSC की इमरजेंसी बैठक, किस देश ने क्या कहा?

बैठक में यूक्रेन ने मांग की है कि रूस कब्जे वाली जगहों से अपने सैनिकों को तत्काल हटाए.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

रूस के यूक्रेन के दो अलगाववादी राज्यों को मान्यता देने के बाद, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने 22 फरवरी को एक इमरजेंसी बैठक बुलाई. इस बैठक में रूस और यूक्रेन (Ukraine-Russia Crisis) के बीच तनाव घटाने और कोई बीच का रास्ता निकालने को लेकर चर्चा हुई. UNSC बैठक में भारत ने कहा कि यूक्रेन बॉर्डर पर बढ़ता तनाव चिंता का विषय है और ये क्षेत्र में शांति और सुरक्षा को कमजोर कर सकता है. भारत ने साथ ही यूक्रेन में भारतीय नागरिकों की सुरक्षा पर जोर दिया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

संयुक्त राष्ट्र (UN) में भारत के प्रतिनिधि टीएस तिरुमुर्ति ने कहा, "हम सभी पक्षों से संयम बरतने के लिए कहते हैं. हमें विश्वास है कि इस मुद्दे को केवल राजनयिक बातचीत के माध्यम से ही सुलझाया जा सकता है. हमें उन दलों द्वारा हाल ही में की गई पहलों को अहमियत देने की जरूरत है, जो तनाव को दूर करना चाहते हैं."

"नागरिकों की सुरक्षा जरूरी है. 20,000 से ज्यादा भारतीय स्टूडेंट्स और नागरिक यूक्रेन के अलग-अलग हिस्सों में पढ़ और रह रहे हैं. भारतीयों की सुरक्षा हमारे लिए प्राथमिकता है."
टीएस तिरुमुर्ति, UN में भारत के प्रतिनिधि

बता दें कि भारत दो बार अपने नागरिकों को यूक्रेन छोड़ने की सलाह दे चुका है. हाल ही में जारी कि गई एडवाइजरी में कीव स्थित भारतीय दूतावास ने कहा था कि स्टूडेंट्स और नागरिक अस्थायी रूप से यूक्रेन छोड़ दें.

यूक्रेन ने कहा- 'उकसावे के आगे नहीं झुकेंगे'

UN में यूक्रेन के एंबैस्डर Sergiy Kyslytsya ने कहा कि यूक्रेन शांति चाहता है. उन्होंने कहा, "हम एक राजनीतिक और कूटनीतिक समझौते के लिए प्रतिबद्ध हैं, हम उकसावे के आगे नहीं झुकेंगे."

यूक्रेन ने मांग की है कि रूस कब्जे वाली जगहों से अपने सैनिकों को तत्काल हटाए.

वहीं, रूस ने कहा कि यूक्रेन मामले के कूटनीतिक हल के लिए तैयार है, लेकिन उसका इरादा 'डोनबास में खूनखराबे' की अनुमति देने का नहीं है.

UNSC की बैठक में रूस ने कहा, "हम अमेरिका के नेतृत्व में हमारे पश्चिमी सहयोगियों द्वारा निभाई गई नेगेटिव भूमिका को नोट करने के लिए मजबूर हैं."

ADVERTISEMENTREMOVE AD

अमेरिका ने क्या कहा?

UNSC बैठक में अमेरिका ने कहा कि ये संयुक्त राष्ट्र के सदस्य के रूप में यूक्रेन की स्टेटस पर हमला है, और ये अंतरराष्ट्रीय कानून के बुनियादी सिद्धांतों का उल्लंघन करता है. अमेरिकी प्रतिनिधि ने कहा कि रूसी राष्ट्रपति पुतिन का ये कदम स्पष्ट रूप से यूक्रेन पर आगे आक्रमण करने के रूस के प्रयास का आधार है.

"कल, अमेरिका, अंतरराष्ट्रीय कानून के स्पष्ट उल्लंघन के लिए रूस को जवाबदेह ठहराने के लिए और कदम उठाएगा. हम और हमारे सहयोगी इस मुद्दे पर स्पष्ट हैं कि यूक्रेन पर और आक्रमण करने के लिए रूस को गंभीर प्रतिक्रिया दी जाएगी."
UNSC बैठक में अमेरिका

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 22 फरवरी को पूर्वी यूक्रेन के दो क्षेत्रों- लुहान्स्क और डोनेट्स्क की स्वतंत्रता को मान्यता देने की घोषणा की.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×