ADVERTISEMENTREMOVE AD

Social Media के दौर में पॉपुलर होने के लिए जान को दांव पर लगाने के लिए तैयार युवा

पॉपुलर होने के लिए अपनी जान जोखिम में डालने के लिए तैयार युवा

Published
न्यूज
3 min read
story-hero-img
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female
ADVERTISEMENTREMOVE AD

वे दिन गए जब लोगों को पॉपुलर होने के लिए टैलेंट और स्पेशल स्किल की आवश्यकता होती थी। आज की जनरेशन जल्द से जल्द प्रसिद्धि चाहती है और इसे पाने के लिए वे कई सोशल मेडिकल प्लेटफार्म्स का इस्तेमाल करके किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हैं।

सोशल मीडिया पर इस तरह का क्रेज देखने को मिल रहा है कि युवा कानून-नियमों का उल्लंघन कर अपनी जान जोखिम में डालने को भी तैयार हैं। एक्सपर्ट्स का कहना है कि सोशल मीडिया की व्यापक पहुंच युवाओं को तुरंत फेमस पाने के लिए कुछ असामान्य, पागल या खतरनाक करने के लिए प्रेरित कर रही है।

उन्होंने बताया कि पहले, व्यक्ति टैलेंट के लिए या म्यूजिक, डांस, एक्टिंग, आर्ट और साहित्य जैसे क्षेत्रों में स्किल डेवलप करके प्रसिद्धि प्राप्त करते थे, लेकिन आज सोशल मीडिया ने उन लोगों के लिए मार्ग बनाया है, जिनके पास प्रसिद्धि पाने के लिए कोई अनूठी प्रतिभा नहीं है।

चंद सेकेंड के वीडियो बनाकर और फेसबुक, यूट्यूब और इंस्टाग्राम जैसे प्लेटफॉर्म पर अपलोड करके युवा इंस्टेंट फेमस होना चाहते हैं। कई लोगों का मानना है कि विभिन्न सोशल मीडिया टूल उन्हें ग्लोबल स्तर पर रातोंरात सेलिब्रिटी बनने का अवसर प्रदान करते हैं।

यूट्यूबर और कुछ अन्य जो पिछले कुछ वर्षो से विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मौजूद हैं, अपने सब्सक्राइबर्स को बढ़ाने या अधिक लाइक पाने के लिए नए तरीके तलाश रहे हैं, वहीं कुछ अन्य लोग भी हैं, जो अपने डेयरडेविलरी के सिर्फ एक वीडियो के साथ प्रसिद्धि हासिल करना चाहते हैं।

तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के तेलुगु राज्यों ने हाल ही में ऐसे कई उदाहरण देखे हैं जिनमें युवाओं ने तत्काल प्रसिद्धि के लिए कुछ नाटकीय का सहारा लिया।

पिछले महीने तेलंगाना के हनमकोंडा जिले में एक हाई-स्पीड ट्रेन के करीब चलते हुए एक वीडियो शूट करने की सनक ने एक 17 वर्षीय युवक की जान ले ली।

वीडियो बनाते समय ट्रेन की चपेट में आने से 12वीं कक्षा का छात्र गंभीर रूप से घायल हो गया। वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, लेकिन उस तरह से नहीं जैसा युवक चाहता था, वह पीछे से आने वाले खतरे की परवाह किए बिना काजीपेट रेलवे स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक पर खतरनाक तरीके से चलते हुए दिखाई दे रहा है।

वीडियो की शूटिंग में मशगूल युवक जेब में हाथ डाले पीछे से आ रही ट्रेन के साथ ट्रैक पर चलता नजर आ रहा है। कुछ ही सेकंड में ट्रेन ने उसे टक्कर मार दी और उसे एक तरफ फेंक दिया। उसका दोस्त जो मोबाइल फोन पर वीडियो रिकॉर्ड कर रहा था, उसे युवक को गिराए जाने से पहले चेतावनी देते हुए सुना गया।

चिंताकुला अक्षय राजू हाई-स्पीड ट्रेन के साथ एक वीडियो को इंस्टाग्राम पर अपलोड करने के लिए बैकग्राउंड में शूट करना चाहते थे। इस जुनून के कारण उसके पैर और हाथ में चोट आई।

जुलाई में हैदराबाद मेट्रो ट्रेन में एक लड़की का डांस करते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। तमिल सॉन्ग रा रा पर डांस करते हुए, युवा लड़की ने इंस्टाग्राम रील्स बनाई।

चूंकि ट्रेन या प्लेटफॉर्म पर फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी की अनुमति नहीं है, हैदराबाद मेट्रो के अधिकारियों ने कहा कि वे नियमों का उल्लंघन करने के लिए उसके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

लड़की के इस कृत्य पर सोशल मीडिया पर मिली-जुली प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। जहां कुछ ने उसकी हिम्मत के लिए प्रशंसा की, वहीं अन्यों ने उसके खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

एक यूजर ने लिखा, बेशर्मी की हद.. ये लड़कियां सार्वजनिक रूप से ऐसा व्यवहार करती हैं, हम किस समाज में रह रहे हैं। सार्वजनिक स्थानों पर यह बकवास बंद करो, मेट्रो कार्रवाई करो।

पड़ोसी राज्य आंध्र प्रदेश में, जुलाई में विशाखापत्तनम में एक जंगली सूअर के बाड़े में घुसने पर पांच युवकों को गिरफ्तार किया गया था। 19 से 21 वर्ष की आयु के बीच, वे बाड़े में घुस गए और इंस्टाग्राम वीडियो बनाने के लिए जानवरों को छेड़ना शुरू कर दिया। वे अपने फॉलोअर्स की संख्या बढ़ाना चाहते थे।

पांचों आरोपी इंदिरा गांधी प्राणी उद्यान के बाड़े में घुसने के लिए गार्ड रेल से कूद गए। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। युवकों ने कुछ मिनटों तक जंगली सूअर को छेड़ा और उनका पीछा किया।

एक सूअर ने सीधे आदमियों पर हमला किया और उनमें से एक को नीचे गिरा दिया। फिर उन्हें बाहर निकलने के लिए बाड़े की दीवार फांदते देखा गया। युवकों को वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत गिरफ्तार किया गया था।

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

0
ADVERTISEMENTREMOVE AD
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×