ऑटो सेक्टर पर मंदी की मार, क्या वाकई उबर-ओला है गुनहगार। पॉडकास्ट

बिग पॉडकास्ट में सुनिए क्विंट के एग्जीक्यूटिव एडिटर नीरज गुप्ता के साथ आज की सबसे बड़ी खबर...

Published10 Sep 2019, 02:13 PM IST
पॉडकास्ट
1 min read

हरियाणा के मानेसर में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनकी सरकार की दूसरी पारी के 100 दिनों को तरक्की, भरोसे और बड़े बदलावों के रूप में याद किया जाएगा. लेकिन हाल फिलहाल में ऑटो इंडस्ट्री की जो खबरें आ रही हैं वो न केवल हरियाणा बल्कि पूरे देश के लिए चिंता का सबब है. कार बनाने वाली कंपनियों के हब यानी मानेसर में कई कार कंपनियों को प्रोडक्शन बंद करना पड़ा है.

हाल ये है कि जिस दिन मोदी सरकार 2.0 के 100 दिन पूरे हुए उसी दिन सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स यानी SIAM (सियाम) ने अगस्त महीने में बिक्री के आंकड़े जारी किए और ये आंकड़े डराने वाले हैं. अगस्त के आंकड़े बताते हैं कि अगस्त में ऑटो सेक्टर की ओवरऑल बिक्री में 23 फीसदी की गिरावट आई है. ये पिछले 21 सालों की सबसे बड़ी गिरावट है.

सियाम के मुताबिक अगस्त में पैसेंजर व्हीकल की बिक्री में पिछले साल अगस्त की तुलना में 18 फीसदी से ज्यादा की कमी आई है...

  • दो पहिया वाहनों की बिक्री में 22 फीसदी की कमी आई है.
  • घरेलू बाजार में कारों की बिक्री तो 41 फीसदी कम हो गई.
  • ओवरऑल कमर्शियल व्हीकल्स की बिक्री में तो करीब 39 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई
  • लेकिन मीडियम और हेवी कमर्शियल व्हीकल्स की बिक्री में इससे भी ज्यादा. 54 फीसदी की कमी आई है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!