उर्दूनामा: ‘तब्दीली’ के साथ, एक बेहतर कल की उम्मीद

पिछले साल से सबक हासिल करते हुए इस साल आप किन चीजों में ‘तब्दीली’ चाहेंगे? 

Published
पिछले साल के सबक हासिल करते हुए इस साल आप क्या बदलना चाहेंगे?
i

साल 2020 में जिन घटनाओं से हम गुजरे हैं और कुल मिला कर जो सफर हमने तय किया है, वैसा अनुभव शायद ही कोई दोबारा करना चाहेगा. लेकिन फिर भी पिछले साल हुई ‘तब्दीलियां’ यानी परिवर्तन ने हमें बहुत कुछ सिखाया भी हैं. बाहर जाने की आजादी छीन गई, तो हमने घर में आजाद रहना सीखा... यानी वो काम सीख लिए जिनके लिए हम दूसरों की मदद पर निर्भर रहते थे.

इसीलिए उर्दूनामा के इस एपिसोड में हम बात करेंगे ‘तब्दीली’ शब्द पर और शायरों ने किन चीजों में परिवर्तन की कल्पना की है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!