ADVERTISEMENTREMOVE AD

FIFA WC 2022: एम्बाप्पे को Golden Boot, मेसी ट्रॉफी के साथ ले गए गोल्डन बॉल

FIFA World Cup 2022: एमी मार्टिनेज को मिला Golden Glove, लियोनेल मेसी ले गए Golden Ball

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

FIFA World Cup 2022 Golden Boot winner: अर्जेंटीना ने  FIFA World Cup 2022 के फाइनल में फ्रांस को पेनल्टी शूटआउट में मात दे दी है. इस तरह लियोनेल मेसी ने अपना पहला और अर्जेंटीना ने अपना तीसरा वर्ल्डकप खिताब जीत लिया है. अर्जेंटीना अपना तीसरा वर्ल्डकप जीतकर ब्राजील (5), जर्मनी (4) और इटली (4) के बाद अबतक सबसे अधिक वर्ल्डकप अपने नाम करने वाली टीमों की लिस्ट में चौथे नंबर पर पहुंच गयी है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

किलियन एम्बाप्पे के नाम गोल्डन बूट 

फाइनल में किलियन एम्बाप्पे ने हैट्रिक स्कोर कर वर्ल्डकप में सबसे अधिक गोल करने वाले प्लेयर को दिया जाने वाला पुरस्कार, गोल्डन बूट जीत लिया है.

फाइनल में 2 गोल करने वाले लियोनेल मेसी 7 गोल के साथ गोल्डन बूट की रेस में दूसरे नंबर पर रहे. इसके बाद अर्जेंटीना के स्ट्राइकर जूलियन अल्वारेज और फ्रांस के सेंटर फ़ॉरवर्ड ओलिवियर जिरूड 4-4 गोल के साथ गोल्डन बूट की इस रेस में दावेदार थे.

Golden Boot जीतने का शर्त क्या है? अगर दो खिलाड़ियों का गोल बराबर हो फिर?

फाइनल मुकाबला पूरा होने के बाद टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ी को गोल्डन बूट दिया जाता है. फीफा के नियमों के अनुसार, यदि दो या दो से अधिक खिलाड़ी गोल से बराबरी पर हैं, तो सबसे अधिक असिस्ट करने वाले को गोल्डन बूट मिलता है.

किसने कितना असिस्ट किया है, यह फीफा टेक्निकल स्टडी ग्रुप के सदस्यों द्वारा निर्धारित किया जाता है.

यदि असिस्ट काउंट करने के बाद भी दो या अधिक खिलाड़ी भी बराबर हो, तो टूर्नामेंट में खेले गए कुल मिनटों को ध्यान में रखा जाता है. जिसमें कम मिनट खेला हो उस खिलाड़ी को गोल्डन बूट दिया जाता है. दूसरे और तीसरे सबसे ज्यादा गोल करने वालों को क्रमश: सिल्वर बूट और ब्रॉन्ज बूट दिया जाता है.

0

FIFA World Cup 2022: अबतक के इतिहास में गोल्डन बूट विजेताओं का नाम

1930 - गिलर्मो स्टेबल (अर्जेंटीना) - 8 गोल

1934 - ओल्डरिच नेजेडली (चेकोस्लोवाकिया) - 5 गोल

1938 - लियोनिदास (ब्राजील) - 7 गोल

1950 - अडेमिर (ब्राजील) - 9 गोल

1954 - सांडोर कॉक्सिस (हंगरी) - 11 गोल

1958 - जस्ट फॉनटेन (फ्रांस) - 13 गोल

1962 - फ्लोरियन अल्बर्ट (हंगरी), वैलेन्टिन इवानोव (सोवियत संघ), गैरिंचा (ब्राजील), वावा (ब्राजील), ड्रैजन जेरकोविक (यूगोस्लाविया), लियोनेल सांचेज (चिली) - 4 गोल

1966 - यूसेबियो (पुर्तगाल) - 9 गोल

1970 - गर्ड मुलर (पश्चिम जर्मनी) - 10 गोल

1974 - ग्रेजगोर्ज लेटो (पोलैंड) - 7 गोल

1978 - मारियो केम्पेस (अर्जेंटीना) - 6 गोल

1982 - पाओलो रॉसी (इटली) - 6 गोल

1986 - गैरी लाइनकर (इंग्लैंड) - 6 गोल

1990 - सल्वाटोर शिलासी (इटली) - 6 गोल

1994 - ओलेग सालेंको (रूस), हिस्टो स्टोइकोव (बुल्गारिया) - 6 गोल

1998 - डावर सुकर (क्रोएशिया) - 6 गोल

2002 - रोनाल्डो (ब्राजील) - 8 गोल

2006 - मिरोस्लाव क्लोज (जर्मनी) - 5 गोल

2010 - थॉमस मुलर (जर्मनी), वेस्ले स्नेजिडर (नीदरलैंड), डेविड विला (स्पेन), डिएगो फोर्लान (उरुग्वे) - 5 गोल

2014 - जेम्स रोड्रिग्ज (कोलंबिया) - 6 गोल

2018 - हैरी केन (इंग्लैंड) - 6 गोल

2022- किलियन एम्बाप्पे- 8 गोल

गोल्डन ग्लव्स 2022

एमी मार्टिनेज (अर्जेंटीना)

गोल्डन बॉल 2022 

लियोनेल मेसी

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×