शार्दुल और शमी ने बताया, आखिरी ओवर में  कैसे न्यूजीलैंड को रोका

भारत ने हैमिल्टन और वेलिंग्टन में आखिरी ओवर में न्यूजीलैंड को जीत से रोक दिया

Published
युजवेंद्र चहल के साथ मोहम्मद शमी और शार्दुल ठाकुर
i

भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड दौरे की शुरुआत शानदार अंदाज में की है और टी20 सीरीज पर कब्जा कर लिया है. टीम ने बीते दो मैचों में सुपर ओवरों में जीत हासिल की. तीसरे टी20 मैच में मोहम्मद शमी की बेहतरीन गेंदबाजी के कारण मैच सुपर ओवर में गया जबकि चौथे मैच में शार्दूल ठाकुर ने टीम को बचाते हुए सुपर ओवर में मैच को पहुंचा दिया. शार्दुल ने आखिरी ओवर में सात रनों का बचाव किया.

दोनों मैच में आखिरी ओवर के इन दो हीरो ने बताया कि वो ओवर कराते वक्त उनके दिमाग में क्या चल रहा था.

हर मैच के बाद BCCI की वेबसाइट पर युजवेंद्र चहल (चहल टीवी) मैच के हीरो से बात करते हैं और वेलिंग्टन में जीत के बाद चहल ने शमी और ठाकुर से बात की जहां दोनों ने इस बारे में बात की.

शमी ने कहा,

“मैं अच्छी यॉर्कर गेंदें फेंकने की कोशिश कर रहा था. मैंने पहली गेंद पर यही कोशिश की लेकिन गेंद हाथ से छूट गई और छक्का चला गया. इसके बाद मेरे पास कुछ बचा नहीं था. मैं सोच रहा था कि खाली गेंदें कैसे निकालूं. मुझे लगा कि हम पहले ही हार चुके हैं. इसलिए मैंने सोचा कि कुछ बाउंसर डालने की कोशिश करता हूं. विलियमसन आउट हो गए. मुझे लगा छोटी गेंद काम करेगी. स्कोर जब बराबर हो चुका था तो मेरे पास एक ही विकल्प बचा था कि मैं गेंद खाली निकालूं इसलिए मैं यॉर्कर के लिए गया और वो सफल रही.”

चौथे मैच में में मैन ऑफ द मैच चुने गए ठाकुर ने कहा कि उन पर दबाव काफी था, लेकिन उन्होंने बल्लेबाज को बड़ा शॉट खेलने के लिए उकसाने की रणनीति पर काम किया.

“काफी सारा दबाव था. मैं पहली गेंद से ही विकेट लेने की कोशिश कर रहा था. बल्लेबाज आमतौर पर चौका या छक्का मारने की कोशिश करता है और मैच को जल्दी खत्म करना चाहता है. मैंने सोचा था कि मैं धीमी गेंद डालूंगा और बल्लेबाज को बड़ा शॉट मारने के लिए उकसाऊंगा. प्लान काम कर गया.”
शार्दुल ठाकुर

उन्होंने कहा, "दूसरी गेंद पर जब चौका पड़ा तो मैं परेशान हो गया लेकिन मैंने उम्मीद नहीं छोड़ी. हमने देखा था कि शमी भाई ने पहली गेंद पर छक्का खाने के बाद वापसी की थी और तीन गेंदों पर 2 रन बचाए थे. यह तब हुआ तो यह दोबारा भी हो सकता है."

भारतीय टीम ने हैमिल्टन में तीसरा टी20 जीतकर सीरीज पर पहले ही कब्जा कर लिया था, जबकि चौथे टी20 में एक बार फिर हारी हुई बाजी अपने पक्ष में कर सीरीज में 4-0 की बढ़त हासिल कर ली थी. अब टीम इंडिया के पास रविवार 2 फरवरी को माउंट माउंगानुई में सीरीज का आखिरी मैच जीतकर ऐतिहासिक क्लीन स्वीप का मौका है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!