रोहित शर्मा की चोट से जुड़े विवाद पर इन सवालों का जवाब मिलना बाकी

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 और वनडे सीरीज के लिए टीम इंडिया का हिस्सा नहीं हैं रोहित शर्मा.

Published
क्रिकेट
3 min read
रोहित शर्मा की चोट से जुड़े विवाद पर इन सवालों का जवाब मिलना बाकी

यह कैसे हो सकता है कि एक ‘चोटिल’ खिलाड़ी रिकवर होकर IPL में अपनी फ्रेंचाइजी के लिए 3 मैच खेलता है, लेकिन इंटरनेशनल सीरीज के लिए BCCI उसे 'फिट' नहीं मानती? रोहित शर्मा की हैमस्ट्रिंग चोट भारतीय क्रिकेट का सबसे ताजा विवाद बन गई है.

चोटिल होने का हवाला देकर रोहित शर्मा को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ T20 और ODI सीरीज के लिए चयनित टीम से बाहर कर दिया था. हालांकि, रोहित खुद कहते हैं कि वह ‘पूरी तरह’ फिट हैं.

रोहित शर्मा के लिए इस बार का IPL काफी सफल रहा. उनकी कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने अपना पांचवां IPL खिताब जीता.

लेकिन जहां ये सेलिब्रेशन ऑस्ट्रेलिया में भी जारी रहना चाहिए था, वहीं रोहित शर्मा वापस मुंबई लौट आए, और बाकी खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया सीरीज के लिए सिडनी पहुंचे.

तो रोहित को चोट से उबरने के लिए वापस भारत भेज दिया गया है, जिस चोट से वो पहले ही ‘उबर’ चुके हैं.

इस पूरे मामले में शामिल लोग भले ही अलग-अलग बात कह रहे हों, लेकिन एक बात तो साफ है- BCCI, क्रिकेटर और यहां तक कि नेशनल कोच भी हैमस्ट्रिंग चोट के बारे में एक मत नहीं हैं.

रोहित शर्मा की चोट की पूरी टाइमलाइन:

  • 18 अक्टूबर को, किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मैच में रोहित शर्मा के बाएं पैर की हैमस्ट्रिंग में चोट लग गई.
  • 26 अक्टूबर को, BCCI ने ऑस्ट्रेलिया टूर के लिए T20, ODI और टेस्ट स्कॉयड का ऐलान किया, और रोहित शर्मा का नाम तीनों ही फॉर्मैट से गायब था. BCCI ने बयान में कहा, “BCCI की मेडिकल टीम रोहित शर्मा और ईशांत शर्मा की प्रोग्रेस को मॉनिटर करती रहेगी.” जहां ईशांत शर्मा को चोट से उबरने के लिए वापस भारत भेज दिया गया, वहीं, रोहित शर्मा अपनी टीम के साथ UAE में ही रहे. BCCI के बयान के कुछ घंटों बाद ही, मुंबई इंडियंस ने रोहित शर्मा का नेट प्रैक्टिस का एक वीडियो पोस्ट किया.
  • 1 नवंबर को, भारतीय कोच रवि शास्त्री ने कहा कि रोहित की मेडिकल रिपोर्ट में कहा गया है कि “अगर वो सावधान नहीं रहेंगे तो वो फिर से खुद को चोटिल कर सकते हैं.”
  • 3 नवंबर को, BCCI चीफ सौरभ गांगुली ने PTI से कहा कि "रोहित अभी चोटिल हैं." उसी दिन शाम में, रोहित फील्ड पर वापस लौटे और सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच खेला. मैच के बाद, रोहित से जब उनकी हैमस्ट्रिंग चोट के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि वो ‘एकदम ठीक’ हैं.
  • 10 नवंबर को, रोहित ने ‘चोट से उबरने’ के बाद अपना तीसरा मैच खेला, और IPL फाइनल में 68 रन बनाकर मुंबई को खिताब जिताया.
  • 11 नवंबर को, BCCI ने ऑस्ट्रेलिया टूर के लिए टीम की अपडेट की हुई लिस्ट जारी की, और रोहित शर्मा का नाम इसमें शामिल किया, लेकिन केवल टेस्ट सीरीज के लिए, जो कि 11 दिसंबर से शुरू होगी.
तो अभी हमारे सामने जो तस्वीर साफ हो रही है, वो यही है कि एक खिलाड़ी है जो क्रिकेट खेल रहा है, एक BCCI बॉस है जो जोर देकर कहा रहा है कि वो चोटिल है, और एक IPL टीम है, जिसमें ‘चोटिल खिलाड़ी’ ने ‘अनफिट’ करार दिए जाने के बावजूद तीन मैच खेले.

रोहित शर्मा और उनकी चोट को लेकर हुए इस पूरे विवाद में, कुछ बड़े सवाल उठ रहे हैं.

  • अगर रोहित शर्मा चोटिल हैं, जैसा कि गांगुली कहते हैं, तो BCCI ने उन्हें मुंबई इंडियंस के लिए तीन मैच खेलने की अनुमति क्यों दी? क्या क्लब के लिए खेलना देश के लिए खेलने से बड़ा है?
  • उन्हें खेलने की अनुमति किसने दी? क्या उनके फील्ड पर वापस उतरने से पहले टीम इंडिया के फिजियो से सलाह ली गई? क्या खेलने और जैसा कि शास्त्री ने कहा था, चोटिल होने के खतरे के लिए, रोहित के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा?
  • जैसा कि रोहित ने कहा कि वो चोटिल नहीं हैं, तो उन्हें टूर से बाहर क्यों रखा जा रहा है? ऐसा टूर, जो कि इंडियन क्रिकेट कैलेंडर के अहम इवेंट में से एक है.
  • BCCI ने रोहित शर्मा को रिद्धिमान साहा की तरह ऑस्ट्रेलिया क्यों नहीं भेजा? साहा के भी हैमस्ट्रिंग में चोट लगी है और वो केवल टेस्ट सीरीज खेलेंगे. जहां साहा ने IPL में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए आखिरी के कुछ मैच चोट के कारण मिस कर दिए, तो वहीं रोहित ने सीजन के आखिरी 3 मैच खेले. लेकिन BCCI ने साहा को ऑस्ट्रेलिया भेजा, और रोहित को वापस मुंबई भेज दिया गया.
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!