क्या चीन सरकार के पास जा रहा है Clubhouse ऐप यूजर्स का डेटा?

Clubhouse ने अपने बयान में क्या-क्या कहा है? 

Updated
Clubhouse ने अपने बयान में क्या-क्या कहा है? 
i

ऑडियो-बेस्ड प्लेटफॉर्म क्लबहाउस ने कहा कि वो स्टैनफोर्ड इंटरनेट ऑब्जर्वेटरी (एसआईओ) की ओर से पब्लिश की गई एक रिपोर्ट के बाद अपनी प्राइवेसी पॉलिसी की समीक्षा कर रहा है. इस रिपोर्ट में आरोप लगाया गया था कि ऐप में गंभीर सुरक्षा खामियां हैं, जिसके चलते कथित तौर पर इसके यूजर्स का डेटा चीनी सरकार के हाथ में हो सकता है.

बता दें कि यह इन्वाइट-ओनली सोशल मीडिया नेटवर्किंग ऐप, तब से काफी चर्चा में है, जब कुछ हफ्ते पहले स्पेसएक्स के संस्थापक एलन मस्क ने इसका इस्तेमाल किया और रॉबिनहुड सीईओ के साथ पॉडकास्ट होस्ट किया.

एसआईओ की बेवसाइट पर पब्लिश हुए बयान में कहा गया है, ''यूजर के यूनिक क्लबहाउस आईडी नंबर और चैट रूम आईडी प्लेन टेक्स्ट में ट्रांसमिट किए जाते हैं, और अगोरा की संभवतः यूजर के रॉ ऑडियो तक पहुंच होगी, जिससे संभवतः चीनी सरकार को एक्सेस मिल रहा होगा.''

एसआईओ ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि चूंकि अगोरा संयुक्त रूप से चीन और अमेरिका में स्थित है, इसलिए यह चीनी सरकार के साइबर सुरक्षा कानून के दायरे में भी है. इसका मतलब यह है कि अगर चीनी सरकार यह कहती है कि क्लबहाउस का इस्तेमाल राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालने के लिए किया जा रहा है, तो अगोरा ऐप के डेटा को लेकर सरकार का साथ देने के लिए कानूनी तौर पर बाध्य होगा.

रिसर्च की बड़ी बातें

एसआईओ की ओर से की गई रिसर्च की बड़ी बाते ये हैं:

  • क्लबहाउस सुरक्षा जांच के लिए अपने यूजर्स के सभी ऑडियो डेटा को स्टोर करता है. यह डेटा अमेरिकी सर्वरों में स्टोर है, लेकिन चीनी साझेदारी के साथ, ऐसे में डेटा पर अभी भी चीनी सरकार के कब्जे में होने का खतरा हो सकता है.
  • हो सकता है कि अगोरा की पहुंच एन्क्रिप्शन की तक हो. इसका मतलब है कि सेवा प्रदाता को आसानी से डेटा मिल सकता है.
  • अगोरा के पास कुछ ऐसा डेटा हो सकता है: यूजर की यूनिक क्लबहाउस आईडी, नंबर चैटरूम आईडी, और स्टोर्ड ऑडियो भी.

आरोप पर प्रतिक्रिया देते हुए, कंपनी ने कहा, "स्टैनफोर्ड इंटरनेट ऑब्जर्वेटरी के शोधकर्ताओं की मदद से, हमने कुछ क्षेत्रों की पहचान की है जहां हम अपने डेटा संरक्षण को मजबूत कर सकते हैं. अगले 72 घंटों में, हम अतिरिक्त एन्क्रिप्शन और ब्लॉक्स जोड़ने के लिए बदलावों को लागू कर रहे हैं, जिससे क्लबहाउस क्लाइंट्स को कभी भी चीनी सर्वरों को पिंग्स ट्रांसमिट करने से रोका जा सके.''

इस बीच, अगोरा ने एसआईओ को जवाब दिया है कि वो किसी भी ऑडियो फाइल या मेटाडेटा को स्टोर नहीं करता है, लेकिन नेटवर्क क्वालिटी की निगरानी करता है और सारा डेटा अमेरिका में स्थित सर्वर पर स्टोर है, इसलिए चीनी सरकार के लिए इसे हासिल करना संभव नहीं है.

बता दें कि चीन की सरकार ने क्लबहाउस को यह कहते हुए ब्लॉक कर दिया है कि उसने लाखों चीनी यूजर्स को "राजनीतिक और मानवाधिकारों के विषयों पर बिना सेंसर, सीमा-पार चर्चा" के लिए आकर्षित किया.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!