जोमैटो-स्विगी को कई राज्यों में नहीं मिली डिलीवरी की अनुमति
ऑनलाइन डिलीवरी पर दिख रहा लॉकडाउन का असर
ऑनलाइन डिलीवरी पर दिख रहा लॉकडाउन का असर(फोटो: क्विंट हिंदी)

जोमैटो-स्विगी को कई राज्यों में नहीं मिली डिलीवरी की अनुमति

देशभर में लॉकडाउन के बीच, स्विगी और जोमैटो जैसी ऑनलाइन फूड डिलीवरी सर्विस को कई राज्यों में ऑपरेशन बंद करने के लिए कहा गया है. केंद्र सरकार के फूड डिलीवरी को 'जरूरी सर्विस' कैटेगरी में डालने के बावजूद ये आदेश आया है. ET Tech की एक रिपोर्ट के मुताबिक, तमिलनाडु, बिहार, असम, छत्तीसगढ़ और पुडुचेरी में सरकारों ने जोमैटो को लॉकडाउन के दौरान सर्विस बंद करने के लिए कहा है.

Loading...

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में सर्विस को कंट्रोल करने वाली ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन ने एक ट्वीट में लिखा कि "जोमैटो और स्विगी से सिर्फ कुक्ड फूड की सप्लाई को अनुमति नहीं है."

इससे पहले, जोमैटो के फाउंडर और सीईओ दीपिंदर गोयल ने ट्वीट कर कहा था कि ये लॉकडाउन के कारण कुछ मुद्दों को हल करने की कोशिश कर रहे हैं.

उन्होंने ये भी कहा था कि दिल्ली, महाराष्ट्र और कर्नाटक ने स्थानीय अधिकारियों को नोटिफिकेशन जारी कर ई-कॉमर्स को काम की इजाजत देने के लिए कहा है, लेकिन अभी तक सभी राज्यों में 100 फीसदी प्रभाव नहीं देखा गया है.

तेलंगाना जैसे राज्यों में फूड डिलीवरी सर्विस काम कर रही है. हालांकि, डिलीवरी सर्विस को केवल सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक अनुमति दी गई है और सभी डिलीवरी एजेंट को अपने साथ आईडी कार्ड रखना होगा.

इससे पहले ये भी खबर सामने आई थी कि ऑनलाइन ग्रॉसरी स्टोर 'अधिकारियों के प्रतिबंध' के कारण लोगों तक सामान नहीं पहुंचा पा रहे थे. ये चौंकाने वाला था क्योंकि COVID-19 महामारी को रोकने के प्रयास में किराने के सामान और दवाओं की ऑनलाइन डिलीवरी सहित सभी जरूरी सेवाओं को 21 दिन के लॉकडाउन से मुक्त किया गया है.

कोरोनावायरस के संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च की शाम देशभर में लॉकडाउन का ऐलान किया.

ये भी पढ़ें : ऑनलाइन ग्रॉसरी सर्विस पड़ी ठप, दिल्ली पुलिस पर पिटाई का आरोप

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our टेक और ऑटो section for more stories.

    Loading...