अहमदाबाद: वोटर लिस्ट से नाम कट जाने पर लोगों ने किया विरोध

अहमदाबाद: वोटर लिस्ट से नाम कट जाने पर लोगों ने किया विरोध

वीडियो

2019 लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में गुजरात की सभी 26 लोकसभा सीटों पर वोटिंग हुई. अहमदाबाद पश्चिम के बोडकदेव में लोगों ने अचानक से इस बात का विरोध करना शुरू कर दिया कि वोटर लिस्ट से उनका नाम कट चुका है. इस वजह से ये लोग वोट भी नहीं दे सके.

हम लोग सुबह से यहां पर वोटिंग के लिए आए हैं. मेरी मम्मी का नाम है और मेरे पापा का नाम नहीं हैं. हमलोग सुबह से बोल रहे हैं तो वो कहते हैं कि डिलीट हो गया है. नाम और एड्रेस बदलने के एप्लिकेशन की हमारे पास रसीद है, लेकिन उसका भी यहां कोई पता नहीं है. ऐसा ही मेरी पत्नी के साथ भी हुआ है. उसका वोटर आईडी कार्ड बनकर आ गया है लेकिन लिस्ट में नाम नहीं है.
हर्षिल पी अंबावी, वोटर

जिस पोलिंग बूथ पर लोग नाम कटने की वजह से विरोध कर रहे थे वहीं एक ऐसे बुजुर्ग भी आए जिनका कहना था कि उनकी मृत पत्नी का नाम लिस्ट में है और उनका नाम कट गया है.

मैं जब बूथ पर आया तो मुझे कहते हैं कि आपका नाम कट गया है. कुछ वजह भी नहीं बताते. मेरी पत्नी गुजर गई थी उनका नाम हटाने के लिए एप्लिकेशन दिया था बर्थ सर्टिफेकेट दिया था. लेकिन उसका नाम है और मेरा नाम काट दिया है.
कौशिक पटेल

अहमदाबाद की डिप्टी कलेक्टर भारती वाघेला इस मुद्दे को लेकर असहाय दिखीं. लोगों के विरोध के जवाब में वो बस इतना कहती पाई गईं कि उनका नाम कट चुका है और वो वोट नहीं दे सकते.

उन्होंने शिकायत की है कि उनका नाम वोटर लिस्ट से कट गया है. जब हमने वोटर लिस्ट की जांच की तो पता चला कि उनके नाम सितंबर में कट गए थे. 2017 के विधानसभा चुनान के बाद हुई ड्राइव में इनके नाम कटे थे. इस ड्राइव में उनके नाम नहीं कटे हैं क्योंकि वो पहले ही कट चुके थे.
भारती वाघेला, डिप्टी कलेक्टर(अहमदाबाद)

ये भी पढ़ें : चुनाव में जोश कहां है? बीजेपी को इसका नुकसान होगा?

(सबसे तेज अपडेट्स के लिए जुड़िए क्विंट हिंदी के WhatsApp या Telegram चैनल से)

Follow our वीडियो section for more stories.

वीडियो

    वीडियो