ADVERTISEMENTREMOVE AD

धन की बात एपिसोड 1: आज ही लें ये खास सेल्फी और बनाएं अपना GDP

आपकी GDP का मतलब आज समझ लीजिए, जेब भर जाएगी!

Updated
छोटा
मध्यम
बड़ा
ADVERTISEMENTREMOVE AD

वीडियो एडिटर- मो. इरशाद

आपको अपने फाइनेंशियल गोल किस तरह बनाने चाहिए, कौन सा म्युचूअल फंड आपके लिए सही साबित होगा, पहले नॉमिनेशन करें या पहले वसीयत बनाएं, लाइफ इंश्योरेंस ठीक फैसला होगा या टर्म इंश्योरेंस, टैक्स प्लानिंग फाइनेंशियल ईयर की शुरुआत में करें या साल के अंत में....ऐसे तमाम सवालों से आप जूझते होंगे जिनके लिए अब आपको न तो टीवी देखने की जरूरत पड़ेगी, न ही कहीं कुछ सर्च करने की. क्योंकि आपकी हर सर्च का ‘दी एंड’ होगा ‘धन की बात’ पर आकर. धन की बात के इस पहले एपिसोड में जाने-माने पर्सनल फाइनेंस एक्सपर्ट गौरव मशरूवाला बता रहे हैं कि कैसे आपको रखना है अपनी GDP का ख्याल.

कभी ये सेल्फी लेकर देखो, पछताओगे नहीं

सेल्फी तो बहुत से लोग लेते हैं. जी भरकर मुस्कुराते भी दिखते हैं उन सेल्फीज में. लेकिन क्या आपने परिवार के साथ वो सेल्फी ली है जिसको खींचकर, प्रिंट कराकर आप अपने रूम की अलमारी पर लगा सकें. जीहां, गौरव मशरूवाला यही सुझाव देते हैं. वो कहते हैं कि आप परिवार के साथ सेल्फी लें और उस पर वो सब लिख दें जो आप चाहते हैं. जो आपका सपना है जिसे आप आने वाले दिनों में हासिल करना चाहते हैं. ताकि वो आपकी नजरों से ओझल न होने पाए और अपने लक्ष्यों के लिए काम करें, भटकते हुए नहीं.

ये GDP का चक्कर क्या है?

गौरव कहते हैं कि देश की जीडीपी के अलावा आपको अपनी जीडीपी पर भी बराबर ध्यान बनाकर रखना चाहिए. GDP का मतलब है- Goals and Dreams Plan यानी अपने लक्ष्यों और सपनों का खाका. ख्वाहिशों और जिम्मेदारियों की लिस्ट बनाना बेहद जरूरी है. अगर आप ऐसा नहीं करते और सिर्फ पैसा कमाने में मसरूफ रहते हैं तो आप दूसरों के मुकाबले पिछड़ सकते हैं. तो गौरव के मुताबिक पर्सनल GDP पर देना है बेहद जरूरी.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

आप भी पूछिए सवाल

आप भी पर्सनल फाइनेंस से जुड़े अपने सवाल हमें भेज सकते हैं. हमारा ईमेल आईडी है- dhankibaat@thequint.com

ये सवाल म्यूचुअल फंड, इंश्योरेंस, सेविंग, SIP, पीपीएफ, वसीयत और तमाम ऐसी चीजों से जुड़े हो सकते हैं जो सीधे आपकी जेब पर असर डालते हैं. हर गुरुवार धन की बात पर गौरव मशरूवाला बढ़ाएंगे आपका पैसा!

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×