कश्मीर के ब्लैकआउट में रोशनी दिखाती ‘इंटरनेट एक्सप्रेस’ 

वीडियो
1 min read

रिपोर्टर और कैमरा: सयैद शहरियार

प्रोड्यूसर: वत्सला सिंह

वीडियो एडिटर: पुनीत भाटिया

स्कॉलरशिप एप्लीकेशन सबमिट नहीं होने के कारण ओवैस अहमद को कई बार कश्मीर में तंगधार के कुपवाड़ा जिले से जम्मू के बनिहाल तक 500 किलोमीटर का सफर करना पड़ा.

दो दिन के इस सफर और 2500 रुपये के खर्च के बाद भी ओवैस अपनी एप्लीकेशन वक्त पर सबमिट करने में असफल रहे.

श्रीनगर और बनिहाल के बीच ट्रेन सुविधा 17 नवंबर को बहाल हुई, उसके बाद से हाईवे टाउन के इंटरनेट कैफे कश्मीर के लोगों से भरे रहे. कोई GST फाइल करने तो कोई लाइसेंस, तो कोई टैक्स रिटर्न के लिए इंटरनेट कैफे आते थे. 4 अगस्त से कश्मीर में इंटरनेट बंद है, जो अब तक का सबसे लंबा इंटरनेट शटडाउन है.

इस स्टोरी के लिए क्विंट ने 'इंटरनेट एक्सप्रेस' से 110 किलोमीटर का सफर किया, ये ट्रेन कश्मीरियों को इस इंटरनेट ब्लैकआउट में उस जगह तक पहुंचाती है जहां लोग कुछ वक्त के लिए इंटरनेट चला सकते हैं.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!