हरियाणा:PM मोदी से क्यों नाराज हैं पूर्व आर्मी चीफ के गांव के फौजी

हरियाणा:PM मोदी से क्यों नाराज हैं पूर्व आर्मी चीफ के गांव के फौजी

वीडियो

वीडियो एडिटर: अभिषेक शर्मा

Loading...

क्विंट की चुनावी चौपाल पहुंची हरियाणा के रोहतक लोकसभा क्षेत्र के बिशान गांव. इस गांव ने सेना को न सिर्फ जवान दिए हैं, बल्कि आर्मी चीफ भी दिया है. 2016, सर्जिकल स्ट्राइक के समय आर्मी चीफ रहे दलबीर सिंह सुहाग इसी गांव से हैं. करीब 3 हजार की आबादी वाले इस गांव में लगभग हर घर से कोई ना कोई सदस्य भारतीय सेना में काम कर चुका है या कर रहा है.

लोकसभा चुनाव में पुलवामा शहीदों के नाम पर राजनीति को लेकर सरकार और विपक्ष के वार-पलटवार के बीच हमने रिटायर्ड फौजियों और गांववालों से चुनाव पर इसके असर को लेकर उनकी राय जानने की कोशिश की.

32 साल सेना में अपनी सेवा देकर रिटायर हुए कैप्टन दल सिंह पीएम मोदी के बयान का हवाला देते हुए कहते हैं,

फौज किसी पार्टी की नहीं होती. सेना हर पार्टी की सरकार में अपना काम एक जैसी ईमानदारी से करती है. ऐसे में पाकिस्तान पर हमले का मामला हो या विंग कमांडर अभिनंदन की वापसी का, इसे राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल करना गलत है. पीएम मोदी का ये कहना कि नौजवान अपना पहला वोट पुलवामा शहीदों के नाम पर दें, ये बहुत ही गलत है.
कैप्टन दल सिंह

ये भी पढ़ें : भिवानी के किसानों का दर्द- न मोदी, न खट्टर, मदद के लिए कोई नहीं आए

ये भी पढ़ें : चुनाव 2019: क्या 2009 की जीत दोहरा पाएंगी श्रुति चौधरी?

गांववाले सरकार से खुश नजर नहीं आ रहे हैं. उनका कहना है कि मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए सेना के नाम का हर पार्टी भरपूर इस्तेमाल कर रही है.

वोटों का इस्तेमाल मुद्दों के ऊपर होना चाहिए. किसान का मुद्दा है, गरीब का मुद्दा है, उसपर राजनीति होनी चाहिए. लेकिन सरकार सिर्फ फौज के ऊपर राजनीति कर रही है. 
बलवान सिंह, पूर्व सूबेदार

बलवान सिंह के पिता सेना में थे, बलवान खुद सेना में रहें और अब उनका बेटा भी अपनी सेना में सर्विस दे रहे हैं.

गांववालों का साफ कहना है कि सेना के नाम पर राजनीति से उनके पूरे गांव में सरकार के खिलाफ नाराजगी है.

छठे चरण में हरियाणा में चुनाव

लोकसभा चुनाव 2019 के छठे चरण यानी 12 मई को हरियाणा की 10 सीटों पर वोट डाले जाएंगे.

बात करें रोहतक सीट की तो हुड्डा परिवार का गढ़ माने जाने वाली रोहतक लोकसभा सीट पर इस बार कांग्रेस प्रत्याशी दीपेंद्र हुड्डा हैं. यहां उनकी टक्कर बीजेपी के मौजूदा सांसद अरविंद शर्मा से है. जेजेपी उम्मीदवार प्रदीप देशवाल भी मैदान में हैं.

ये भी पढ़ें : सोनीपत: ‘जाटलैंड’ के वोटों की चाबी से किसकी खुलेगी किस्मत?

(हैलो दोस्तों! WhatsApp पर हमारी न्यूज सर्विस जारी रहेगी. तब तक, आप हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our वीडियो section for more stories.

वीडियो

वीडियो

Loading...