हरियाणा: ‘बेटी बचाओ’ वाले राज्य में ‘बेटी पंचायत’ नाराज 

सर्वसम्मति से बनी हरियाणा की पहली महिला पंचायत वाला गांव भिवानी रोहिला

Updated10 May 2019, 03:17 PM IST
वीडियो
1 min read

वीडियो एडिटर: मो इब्राहिम

हरियाणा के हिसार जिले का गांव भिवानी रोहिला साल 2016 में सुर्खियों में छाया रहा. वजह थी कि महिलाओं को घूंघट और चौखट के भीतर रखने वाले समाज ने एक मिसाल कायम की. भिवानी रोहिला गांव ने सबकी सहमति से पूरी की पूरी पंचायत महिलाओं की बनवा दी. ये हरियाणा की पहली पंचायत है, जहां सरपंच और सभी 12 पंच महिलाएं हैं.

इस खास ‘बेटी पंचायत’ पढ़ी-लिखी है और गांव को लीड कर रही है.

लोकसभा चुनावों का इतिहास देखें तो देश की सबसे बड़ी पंचायत संसद में हरियाणा से अबतक सिर्फ 5 महिलाएं ही पहुंची हैं. ऐसे में ये गांव एक अच्छा उदाहरण पेश करती है.

लेकिन चुनावी यात्रा के दौरान जब क्विंट की टीम इस गांव में पहुंची तो इस गांव की चमक धुंधली दिखाई पड़ी.

सरपंच का कहना है कि गांव को जरूरत के मुताबिक ग्रांट न मिलने से कई विकास के काम रुके हुए हैं. आदर्श ग्राम होने के बावजूद गांव में गंदगी का अंबार है. पीने के लिए साफ पानी की भी किल्लत है.

हिसार से मौजूदा सांसद दुष्यंत चौटाला ने सांसद आदर्श गांव योजना के तहत इस गांव को गोद लिया था.

छठे चरण में हरियाणा में चुनाव

लोकसभा चुनाव 2019 के छठे चरण यानी 12 मई को हरियाणा की 10 सीटों पर वोट डाले जाएंगे.

बात करें हिसार सीट की तो यहां से जेजेपी के प्रत्याशी मौजूदा सांसद दुष्यंत चौटाला, बीजेपी के बृजेन्द्र सिंह और कांग्रेस के भव्य विश्नोई चुनावी रण में उतरे हैं.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 10 May 2019, 12:06 PM IST

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!