Exclusive| परिवारवाद पर शरद पवार के पोते रोहित ने दिया जवाब

Exclusive| परिवारवाद पर शरद पवार के पोते रोहित ने दिया जवाब

वीडियो

वीडियो एडिटर: विशाल कुमार

वीडियो प्रोड्यूसर: हेरा खान

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में इस बार जिन सीटों पर कांटे का मुकाबला देखने को मिलेगा, उनमें से एक सीट है अहमदनगर कर्जत-जामखेड़ सीट. इस सीट से NCP चीफ शरद पवार के पोते रोहित पवार चुनाव मैदान में हैं. यहां उनका सीधा मुकाबला बीजेपी के ताकतवर नेता राम शिंदे से है जो राज्य की देवेंद्र फडणवीस सरकार में मंत्री हैं. रोहित पवार बारामती से जिला परिषद सदस्य हैं और पिछले कई सालों से एग्रो-इंडस्ट्री में काम कर रहे हैं.

Loading...

पवार परिवार के नेता रोहित ने द क्विंट से खास बातचीत में आदित्य ठाकरे से लेकर शरद पवार पर ED के आरोपों तक हर सवाल का बेबाकी के साथ जवाब दिया.

रोहित पवार ने अपने चुनाव प्रचार के दौरान कहा- ‘हमारी कोशिश है कि हम ज्यादा से ज्यादा लोगों की परेशानियों को सुनें और उन्हें बताएं कि उनके भविष्य के लिए हमारी पार्टी क्या कर सकती है.’

जब रोहित पवार से पूछा गया कि उन्हें प्रेरणा कहां से मिलती है तो उन्होंने अपने दादा और NCP सुप्रीमो का नाम लेते हुए कहा कि शरद पवार उन्हें अब भी 'यंग' लगते हैं. उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है साहब युवा हैं'

को-ऑपरेटिव बैंक मामले में शरद पवार के खिलाफ ED के आरोपों पर रोहित ने कहा-

ऐसे कई आरोप साहब (शरद पवार) पर लगे हैं लेकिन ये पहली बार है कि ED ने उन पर कोई आरोप लगाया है. लोगों में काफी चर्चा इस बात को लेकर थी कि साहब पर ED ने आरोप लगाया है. लेकिन साहब तो साहब हैं... 27 सितंबर को साहब ने कहा कि वो खुद ED के पास जाएंगे, लेकिन उसके बाद ED खुद बैकफुट पर आ गई, क्योंकि उनके पास कोई फाइल नहीं थी.
रोहित पवार, नेता, NCP

ये भी पढ़ें : महाराष्ट्र स्टेट बस में चुनावी चर्चा: वोटर के मन में क्या है?

आदित्य ठाकरे की राजनीति में एंट्री पर रोहित पवार ने कहा कि ठाकरे परिवार में किसी ने कभी चुनाव नहीं लड़ा है. एक युवा होने के नाते मैं उनके इस कदम का स्वागत करता हूं कि वो अब सक्रिय राजनीति में एंट्री कर चुके हैं. मैं उनकी मैच्योरिटी पर कोई सवाल नहीं उठाऊंगा, क्योंकि वो पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं.

लोग कह रहे हैं कि जिस सीट से आदित्य ठाकरे चुनाव लड़ रहे हैं वो सीट जीतना उनके लिए बहुत आसान होगा. लेकिन हमारी कोशिश रहेगी कि हम जीतें.
रोहित पवार, नेता, NCP

क्षेत्र में विकास की हालत पर गंभीरता जताते हुए रोहित ने कहा कि- 'सड़कें पहली प्राथमिकता नहीं हैं, यहां लोगों के पीने के लिए पानी नहीं है, खेती करने के लिए पानी नहीं है. लगभग 90% चुनावी क्षेत्र में लोगों को पानी की समस्या है. टैंकर से पानी पहुंचाया जाता है, लेकिन खेती करने के लिए पानी नहीं है.'

लोगों को वादे नहीं, चिकित्सा, शिक्षा और सशक्तिकरण चाहिए

पवार परिवार में विवादों की अफवाहों पर लगाम लगाते हुए रोहित ने कहा, लोग क्या कहते हैं उसके बजाय हम एक परिवार के तौर पर कैसे हैं वो मायने रखता है और हमारा परिवार एकजुट है. परिवार में किसी भी बात को लेकर विवाद नहीं है.’

ये भी पढ़ें : महाराष्ट्र चुनाव: BJP ने क्यों काटे 5 सबसे कद्दावर नेताओं के नाम?

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our वीडियो section for more stories.

वीडियो
    Loading...