ADVERTISEMENTREMOVE AD

Amritpal Singh गिरफ्तारी से पहले गुरुद्वारे में दे रहा था प्रवचन, वीडियो जारी

Amritpal Singh Arrested: वीडियो में अमृतपाल सिंह रोडे गांव के एक गुरुद्वारे में प्रवचन देता दिख रहा है.

Published
छोटा
मध्यम
बड़ा

खालिस्तान समर्थक और वारिस पंजाब दे प्रमुख अमृतपाल सिंह (Amritpal Singh) को पंजाब पुलिस ने मोगा जिले से गिरफ्तार (Amritpal Arrested) कर लिया है. अब अमृतपाल सिंह का एक वीडियो सामने आया है, बताया जा रहा है कि ये वीडियो गिरफ्तारी से पहले का है. वीडियो में अमृतपाल सिंह रोडे गांव के एक गुरुद्वारे में प्रवचन देता दिख रहा है. इस दौरान अमृतपाल सिंह ने जनरैल सिंह भिंडरावाले की भी बात की है. अमृतपाल सिंह इस वीडियो में सरेंडर करने की भी बात कर रहा है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

'मैं सर्वशक्तिमान की अदालत में दोषी नहीं हूं'

इस वीडियो में अमृतपाल ने पंजाब पुलिस से बचने के अपने फैसले को सही ठहराते हुए कहा कि पिछले एक महीने में भगवंत मान के नेतृत्व वाली AAP सरकार का असली चेहरा "उजागर" हो गया. उसने कहा, "भले ही मैं देश की अदालत में दोषी हो सकता हूं, लेकिन मैं सर्वशक्तिमान की अदालत में दोषी नहीं हूं."

अपने सरेंडर की बात करते हुए उसने कहा कि, "एक महीने के बाद मैंने तय कर लिया है कि मैं भागूंगा नहीं. मैं अपने खिलाफ झूठे मुकदमों का सामना करूंगा." इसके साथ ही उसने संगत (समुदाय) का आभार भी जताया है.

जानकारी के मुताबिक, अमृतपाल सिंह ने गिरफ्तारी से पहले पुलिस को संपर्क किया था. उसने एक दिन पहले मोगा गुरुद्वारा में आत्मसमर्पण का वादा किया था. फिलहाल पंजाब पुलिस उसे गिरफ्तार कर असम ले जा रही है.

NSA के तहत हुई गिरफ्तारी

NSA के तहत अमृतपाल सिंह की गिरफ्तारी की गई है. पंजाब पुलिस के आईजी सुखचैन सिंह गिल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी देते हुए बताया कि अमृतपाल को रविवार सुबह 6 बजकर 45 मिनट पर रोडे गांव से गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा कि,

"अमृतपाल सिंह के खिलाफ NSA के वारंट जारी हुए थे जिसके बाद उसकी गिरफ्तारी NSA के तहत हुई है. उन्होंने बताया कि अमृतपाल को ऑपरेशन चलाकर सुबह 6:45 बजे गिरफ्तार किया गया."

बता दें कि 23 फरवरी को अमृतसर के अजनाला थाने पर अमृतपाल सिंह के समर्थकों ने लाठी, डंडे और तलवार से हमला कर दिया था. पुलिस बैरिकेड्स तोड़ डाले थे. यह हंगामा अमृतपाल के करीबी तूफान सिंह की गिरफ्तारी के विरोध में उसके समर्थकों ने किया था. इस घटना के बाद अमृतपाल सुर्खियों में आया था.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

0
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×