चुनाव 2019: नतीजों से पहले पैसा कहां लगाएं कहां नहीं, यहां समझिए

चुनाव 2019: नतीजों से पहले पैसा कहां लगाएं कहां नहीं, यहां समझिए

न्यूज वीडियो

शेयर बाजार पर इलेक्शन के नतीजों का क्या असर होगा. हर इन्वेस्टर आजकल इस सवाल से जूझ रहा है. मार्केट एक्सपर्ट्स शर्मिला जोशी का कहना है कि बाजार का अभी जो हाल है उस पर अंतरराष्ट्रीय हालातों का असर है. लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि 23 मई को चुनाव नतीजों का बाजार पर बड़ा असर होगा.

बाजार के लिए स्थिरता जरूरी होती है. किसी की भी सरकार हो बाजार को स्थिरता का भरोसा होना चाहिए. अगर बाजार को लगा कि सरकार के पास बहुमत नहीं है और वह आगे अर्थव्यवस्था में सुधारों के लेकर नई और मजबूत नीतियां लागू नहीं कर पाएगी तो उसका बाजार पर निगेटिव रिएक्शन देखने को मिल सकता है. ऐसे हालत में शेयर बाजार में गिरावट का दौर दिख सकता है.

स्थिर सरकार यानी बाजार को रफ्तार

बाजार को लगेगा कि अगले पांच साल के लिए स्थिर सरकार बनेगी तो उसमें सुधार दिखेगा. 23 मई को नतीजों से अनिश्चितता खत्म हो जाएगी. अगर बाजार को लगा कि अगली सरकार स्थिर होगी तो बाजार में सुधार दिखेगा. बाजार को एक चीज सख्त नापसंद है और वह है अनिश्चितता. हालात स्थिरता की ओर बढ़ते हैं तो शेयर बाजार में बढ़त दर्ज हो सकती है. लेकिन उस वक्त आपको दो चीजों पर नजर रखनी होगी. एक उस दौर के अर्निंग सीजन और दूसरे ग्लोबल इकनॉमी और इंटरनेशनल मार्केट के हालात पर.

निवेश से पहले इन हालातों का कर लें विश्लेषण

अब ऐसे दौर में किन शेयरों में निवेश करें. चूंकि चौथी तिमाही के नतीजे आ गए हैं तो इस आधार पर आगे के सीजन पर नजर रखनी होगी. फिलहाल जो हालात हैं उनमें आईटी सेक्टर की कंपनियों के शेयरों में निवेश मुफीद रहेगा. जहां तक दूसरे सेक्टर में निवेश का सवाल है तो हमें मौजूदा हालातों पर गौर करना होगा. कंजप्शन आधारित कंपनियों के शेयरों में गिरावट दिखी है. इससे लग रहा है कंजप्शन घट रही है.

FMCG में गिरावट का दौर है. इसी तरह ऑटो और इससे जुड़े सेक्टर में गिरावट आई है. मेटल में गिरावट है. कच्चे तेल के दाम का असर रहेगा. चीन और अमेरिका के बीच ट्रेड वॉर का भी बिजनेस पर असर होगा. तो निवेश करते वक्त आपको इन हालातों पर नजर रखनी होगी. आप जिन कंपनियों के शेयर चुनेंगे उन्हें आपको इन कसौटियों पर कसना होगा.

आर्थिक सुधारों पर रखनी होगी नजर

अब सरकार की नीतियों पर आपको गौर करना होगा. अगर आपको लग रहा है कि सरकार आर्थिक सुधारों को आगे ले जाएगी, जो एक तरह से रुके हुए हैं तो आप उस हिसाब से सोचेंगे. अगर आपको लग रहा है कि सरकार इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में बड़ा निवेश करेगी तो इस सेक्टर से जुड़ी कंपनियों के शेयर आपके पोर्टफोलियो में होने चाहिए. ऐसे में सीमेंट कंपनियों के शेयर आप ले सकते हैं.

अभी के हिसाब से सुरक्षित निवेश के हिसाब से आईटी सेक्टर के शेयरों में पैसा लगा सकते हैं. इसके अलावा आप उन कंपनियों के नतीजों का विश्लेषण कर सकते हैं जिनके नतीजे अच्छे रहे हैं और जिनके आगे और अच्छा करने की संभावना है. इन्हें पहलुओं को ध्यान में रख कर आपको निवेश करना चाहिए.

ये भी पढ़ें : PM को पता थे रडार वाले इंटरव्यू के सारे सवाल? ट्विटर ने खोजा सबूत

(सबसे तेज अपडेट्स के लिए जुड़िए क्विंट हिंदी के Telegram चैनल से)

Follow our न्यूज वीडियो section for more stories.

न्यूज वीडियो

    वीडियो