ADVERTISEMENTREMOVE AD

Bihar: 'क्या मोदी जी गारंटी लेंगे, नीतीश जी पलटेंगे नहीं?' फ्लोर टेस्ट पर तेजस्वी का भाषण

Bihar Floor Test: तेजस्वी ने नीतीश के सामने रखी मांग- पुरानी पेंशन लागू कराइए.

छोटा
मध्यम
बड़ा

Bihar Floor Test: बिहार विधानसभा में नीतीश सरकार के फ्लोर टेस्ट से पहले स्पीकर अवध बिहारी चौधरी को अविश्वास प्रस्ताव लाकर पद से हटा दिया गया. इसके बाद पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने सदन में बोला. इस दौरान उन्होंने जमकर नीतीश कुमार पर जुबानी हमला बोला. उन्होंने कहा- "नीतीश कुमार हमेशा कहते रहें हैं कि हम उनके बेटे जैसे रहे हैं. उनको जनता को बताना चाहिए कि क्यों वो यूटर्न ले रहे हैं?"

ADVERTISEMENTREMOVE AD

इसके बाद उन्होंने कहा, "सबसे पहले हम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को धन्यवाद देना चाहते हैं कि लगातार 9 बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेकर इतिहास रच दिया. 9 बार तो शपथ ली ही लेकिन एक ही टर्म में उन्होंने तीन-तीन बार शपथ ली है. हमने ऐसा अद्भुत नजारा पहले कभी नहीं देखा."

पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा को डिप्टी सीएम बनने पर बधाई दी. उन्होंने कहा कि सिन्हा जी एक कार्यकाल में स्पीकर, नेता विपक्ष और डिप्टी सीएम बन गए. इसके बाद तेजस्वी ने सम्राट चौधरी को याद दिलाया कि वे पहले आरजेडी में थे.

"मुख्यमंत्री हमारे लिए आदरणीय थे, हैं और हमेशा रहेंगे... कई बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हमें बोलते रहे की तुम हमारे बेटे की तरह हो... हम भी नीतीश कुमार को राजा दशरथ की तरह ही पिता मानते हैं... इनकी मजबूरी रही होगी जैसे राजा दशरथ की रही थी कि भगवान राम को वनवास भेज दिया गया. हालांकि हम इसे वनवास नहीं मानते हैं. हमें तो इन्होंने (नीतीश कुमार) जनता के बीच भेजा है, उनके सुख और दुख का भागीदार बनने के लिए. नीतीश कुमार बताएं वो इस बार क्यों गठबंधन छोड़कर गये, ये उन्हें बताना चाहिए. बीजेपी को नीतीश कुमार बड़का झूठा पार्टी कहते थे लेकिन अब क्या हुआ?"

तेजस्वी यादव ने कहा, "कम से कम एक बार बता तो देते. आप तो कुछ बताए भी नहीं. हम आपको कुछ कहे हैं. आप हमसे कहे होते तो हम बाहर से समर्थन दे दिए होते. जो आप झंडा ले कर के चले थे कि मोदी को देश में रोकने हैं, अब आपका भतीजा झंडा उठा कर के मोदी को बिहार में रोकने का काम करेगा." 

Bihar Floor Test: तेजस्वी ने नीतीश के सामने रखी मांग- पुरानी पेंशन लागू कराइए.

बिहार विधानसभा में तेजस्वी यादव

0

नौकरी देने की क्रेडिट लेने पर क्या बोले तेजस्वी?

तेजस्वी ने नीतीश कुमार से पूछा कि सरकारी नौकरी का क्रेडिट क्यों न लें? उन्होंने कहा, "पहले तो नौकरी नहीं मिलता था. आरजेडी के पास था शिक्षा विभाग तो क्रेडिट हम लोग क्यों न लें? हम आप लोगों को सचेत कर देते हैं. अगर आप लोग अभी सरकार में हैं तो काम करेंगे तो आप क्रेडिट नहीं लेंगे क्या बताइए."

उन्होंने आगे कहा,

"...आपने (नीतीश कुमार) कहा था कि हम लोगों का एक ही लक्ष्य है कि ना प्रधानमंत्री बनना है, ना मुख्यमंत्री बनना है. देशभर के विपक्षों को गोलबंद करके जो तानाशाह है उसे दोबारा नहीं आने देना है... जब आप गवर्नर हाउस से बाहर आए, तो आपने (नीतीश कुमार) कहा 'मन नहीं लग रहा था. मन नहीं लग रहा था तो हम लोग नाचने गाने के लिए थोड़ी हैं... जो काम आप बोलते थे असंभव है उसे हम लोगों ने मुमकिन करके दिखाने का काम किया... मुख्यमंत्री जी, आप रोजगार बांटिए. उस पर हमारा समर्थन रहेगा. आपके साथ जो कैकेयी बैठे हैं, उन्हें पहचानिए."

"17 महीने में हमने काम करके दिखाया है"

मोदी जी की गारंटी" वाले बता दें कि अब (नीतीश) पलटेंगे मारेंगे कि नहीं. नीतीश कुमार को जाने से पहले एक बार बताना चाहिए था. हमने नीतीश कुमार से कमिटमेंट किया था लेकिन वो जाने से पहले हमसे पूछे तक नहीं. मोदी को हटाने का झंडा आपने उठाया था, लेकिन अब उसे मैं लेकर चलूंगा.

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा,

"हम बोले थे कि अगर हम आपके साथ आएंगे, आप विश्वास दिलाइए कि हमने जो वादा किया था कि 10 लाख नौकरी देंगे, उसके बाद सीएम ने कहा कि वित्त सचिव जा रहे हैं. वो आपको एक्सप्लेन कर देंगे. वो हमें फाइल दिखाते हैं, कैसे होगा. हमने बोल दिया किसी भी हालत में ये काम हमें करना है. आप असंभव बोल देते थे, लेकिन हमने 17 महीने में काम करके दिखाया. जो थके हुए मुख्यमंत्री थे, उनको हमने दौड़ाने का काम कराया है."
बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा "नीतीश जी, समय आएगा. कोई आए न आए, तेजस्वी आएगा. हम लालू जी के बेटे हैं. उनका खून हममें हैं. हम डरते नहीं हैं."

कर्पूरी ठाकुर को लेकर तेजस्वी ने BJP को घेरा

तेजस्वी यादव ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने पर चर्चा करते हुए कहा, "बिहार में जाति आधारित गणना को रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट में सॉलिसिटर जनरल को खड़ा कर दिया था. कर्पूरी ठाकुर जी के साथ, हमारे पिता के साथ काम कर चुके है. आपको तो पता था कि जनसंघ उस सरकार में था, कर्पूरी जब आरक्षण बढ़ा दिए तो यही जनसंघ वाला ही उनको हटाया था. वही बीजेपी वाले कहते थे कि आरक्षण कहां से आई और मुख्यमंत्री जी आप कहां चले गए?"

तेजस्वी यादव ने कहा,

भारत रत्न डील करने के लिए बना लिया है. सम्मान नहीं करते हैं, डीलिंग करते हैं. केवल वोटबैंक की राजनीति के लिए करते हैं.

तेजस्वी ने आगे कहा कि सीएम कब्जा छुड़वाने चले थे लेकिन अब (नीतीश) इन पर ही कब्जा हो गया. नौकरी देने के लिए इच्छाशक्ति चाहिए था, जो हमने करके दिखाया. नीतीश कुमार सब जानकर भी (बीजेपी में) चले गये. कर्पूरी ठाकुर ने सीएम रहते हुए आरक्षण बढ़ाया तो जनसंघ वालों ने उन्हें हटा दिया और आप अब उनके साथ चले गये.

"बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिले, पुरानी पेंशन स्कीम लागू हो"

तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा-केंद्र जो भी पैसा बिहार को देता है, वो मोदी जी के पॉकेट से नहीं आता रहे. उन्होंने नीतीश सरकार से अपील करते हुए कहा-बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिले, इसकी मांग कीजिए.

तेजस्वी ने आगे कहा, "हम लोग बिहार के हित और तरक्की के लिए, स्थिरता जब तक नहीं रहेगी सरकार में, तब तक विकास संभव नहीं है. मुझे JDU विधायकों के लिए बुरा लग रहा है, क्योंकि उन्हें जनता के बीच जाकर जवाब देना होगा. अगर कोई आपसे पूछे कि नीतीश कुमार ने 3 बार शपथ क्यों ली, तो आप क्या कहेंगे? पहले आप BJP की आलोचना करते थे, अब प्रशंसा कर रहे हैं. उन्हें, आप क्या कहेंगे? हम कहेंगे कि हमने नौकरियां दीं.

तेजस्वी ने अपने भाषण के अंत में पुरानी पेंशन स्कीम का मुद्दा उठाया. तेजस्वी ने कहा, "मुख्यमंत्री जी, आप ओल्ड पेंशन स्कीम लागू कराइए, हम क्रेडिट आपको दे देंगे."

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×