ADVERTISEMENTREMOVE AD

Nepal: सोशल मीडिया पर कथित धार्मिक पोस्ट को लेकर नेपालगंज में तनाव, कर्फ्यू लागू

Nepal: तनाव के बीच ओंकार परिवार ने मंगलवार को नेपालगंज बंद बुलाया था.

Published
छोटा
मध्यम
बड़ा

नेपाल (Nepal) में कथित तौर पर सोशल मीडिया को लेकर बांके में हिंदू और मुस्लिम समुदाय आमने-सामने आ गए हैं. दंगे भड़कने की आशंका के बाद स्थानीय प्रशासन ने नेपालगंज उपमहानगरीय इलाके में अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगा दिया है. हालांकि, कहा जा रहा है कि तनाव का कारण कोई बड़ा नहीं है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

क्या है मामला?

28 सितंबर को मुस्लिम समुदाय ईद-मिलाद-उन-नबी मना रहा था. बांके नरैनापुर के एक युवक ने सोशल मीडिया पर धर्म विशेष को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट किया था. यह टिप्पणी कलुवा नाम की फेसबुक आईडी से लिखी गई थी. इसके न तो ज्यादा फॉलोवर्स थे और न ही इसे लिखने वाले की पहचान ही उजागर की गई थी. हालांकि, धार्मिक निंदा से मुस्लिम समुदाय में गुस्सा फैल गया.

Nepal: तनाव के बीच ओंकार परिवार ने मंगलवार को नेपालगंज बंद बुलाया था.

नेपालगंज में अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लागू

(फोटो: क्विंट हिंदी द्वारा प्राप्त)

ओंकार परिवार ने किया था नेपालगंज बंद का आह्वान

पूरे विवाद के बीच नेपालगंज उप-महानगरीय वार्ड नं. 5 के वार्ड अध्यक्ष मो. सराफत खान द्वारा कथित रूप से भड़काऊ बयान देने की भी बात सामने आई है. इसके बाद नेपालगंज में सुनियोजित विरोध की तैयारी शुरू हो गयी थी.

इन घटनाक्रमों से उपजे तनाव के बीच ओंकार परिवार ने मंगलवार को नेपालगंज बंद बुलाया. हालांकि, 'शांतिपूर्ण' रैली के बारे में स्थानीय प्रशासन को सूचित कर दिया गया था.

वहीं विभिन्न समुदायों द्वारा एक के बाद एक प्रदर्शन और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए स्थानीय प्रशासन ने एक सर्वदलीय बैठक भी. बैठक में सामाजिक और धार्मिक सद्भावना रैली निकालने का निर्णय लिया गया. हालांकि, ओंकार परिवार के नेपालगंज बंद और प्रदर्शन को नहीं रोका जा सका.

शोभा यात्रा के दौरान झड़प

मंगलवार सुबह नेपालगंज में आयोजित सद्भावना रैली में कुछ धार्मिक नेता, राजनीतिक कार्यकर्ता, उद्योगपति शामिल हुए, लेकिन कोई खास भागीदारी नहीं रही.

Nepal: तनाव के बीच ओंकार परिवार ने मंगलवार को नेपालगंज बंद बुलाया था.

जुलूस के दौरान झड़प

(फोटो: क्विंट हिंदी द्वारा प्राप्त)

बागेश्वरी मंदिर पूर्वी गेट से निकली ओंकार परिवार की शोभा यात्रा सेतु बिक चौक, धम्बोझी होते हुए वीपी चौक पहुंचने तक शांतिपूर्ण रही. जुलूस में शीशा फेंके जाने के बाद जुलूस में शामिल लोग तितर-बितर हो गये. इससे दोनों पक्षों में झड़प हो गई. वीपी चौक और ईदगाह रोड पर दोनों पक्षों के बीच पथराव को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने एक दर्जन बार हवाई फायरिंग की. झड़प में एक दर्जन पुलिस और प्रदर्शनकारी भी घायल हो गए.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

0
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×