ADVERTISEMENTREMOVE AD

राहुल गांधी के भाषण से 'ट्रांसलेटर के भागने' वाले दावे का पूरा सच ये रहा

भाषण का अनुवाद कर रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता भरत सिंह ने वहां भाषण सुन रहे लोगों की मांग पर ट्रांसलेशन रोका था.

Published
छोटा
मध्यम
बड़ा

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का एक वीडियो वायरल है, जिसमें उनके भाषण का गुजराती में अनुवाद कर रहे शख्स बीच में अनुवाद रोक देते हैं. दावा किया जा रहा है कि अनुवादक भाषण के बीच में 'छोड़कर भाग गए'.

किस-किसने शेयर किया वीडियो ? : एबीपी न्यूज की एंकर शोभना यादव, बीजेपी मध्यप्रदेश के सोशल मीडिया इंचार्ज अभिषेक शर्मा समेत कई यूजर्स ने वीडियो को इसी दावे से शेयर किया. अर्काइव यहां और यहां देख सकते हैं. बीजेपी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से भी ये वीडियो शेयर हुआ.

भाषण का अनुवाद कर रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता भरत सिंह ने वहां भाषण सुन रहे लोगों की मांग पर ट्रांसलेशन रोका था.

पोस्ट का अर्काइव यहां देखें

सोर्स : स्क्रीनशॉट/ट्विटर

ADVERTISEMENTREMOVE AD

फिर सच क्या है?: राहुल गांधी के भाषण का अनुवाद कर रहे कांग्रेस नेता ने वहां खड़े भाषण सुन रहे लोगों में से एक शख्स की मांग के बाद ट्रांसलेशन रोका.

  • भाषण का अनुवाद गुजरात कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री भरत सिंह कर रहे थे. भरत सिंह ने क्विंट से कहा ''जनता से मांग उठी, उसके बाद मैंने राहुल गांधी की सहमति के बाद अनुवाद रोका.''

  • भाषण का पूरा वीडियो देखने पर स्पष्ट हो रहा है कि भरत सिंह ने पहले राहुल से कहा ''हिंदी में बोलेंगे चलेगा.” फिर राहुल ने जब जनता से पूछा कि चलेगा? तो जनता कि तरफ से रिस्पॉन्स भी आया.

  • दूसरे एंगल से शूट किए गए वीडियो में भरत सिंह को ट्रांसलेशन के बाद वापस अपनी कुर्सी की तरफ जाते देखा जा सकता है, वो ट्रांसलेशन के बाद मंच पर ही थे.

सूरत में 21 नवंबर को हुए राहुल गांधी के भाषण के वक्त वहीं मौजूद NDTV की रिपोर्टर तनुश्री पांडे ने पुष्टि की कि जनता में से एक शख्स की मांग पर भाषण का अनुवाद रोका गया था.

0
दरअसल, भीड़ में से एक बुजुर्ग शख्स ने खड़े होकर राहुल गांधी से हिंदी में ही बोलने की अपील की. इसके बाद अनुवाद कर रहे कांग्रेस नेता ने अनुवाद रोक दिया और राहुल से कहा कि वो हिंदी में बोलेंगे तो चलेगा. ''
तनुश्री पांडे, ग्राउंड पर मौजूद NDTV की रिपोर्टर

हमने सच कैसे पता लगाया? : वायरल हो रही क्लिप में ही सुना जा सकता है कि ट्रांसलेट कर रहे शख्स राहुल गांधी से कहते हैं ''आपका हिंदा चलेगा''. इसके बाद वो माइक छोड़कर गए. कांग्रेस के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल से गुजरात के सूरत में हुई राहुल गांधी की इस रैली की लाइव स्ट्रीमिंग हुई थी. लाइव स्ट्रीमिंग में...

  • 37:44 मिनट पर देखा जा सकता है कि राहुल अपने बचपन का किस्सा सुनाते हैं.

  • 38:07 सेकंड पर राहुल अपनी बात कहकर रुकते हैं, तो ट्रांसलेट कर रहे भरत सिंह राहुल को जारी रखने को कहते हैं. और कहते हैं ''आपका हिंदी चलेगा''.

  • फिर राहुल जनता की तरफ मुखातिब होकर कहते हैं ''चलेगा?''. सामने से जनता का आता रिस्पॉन्स भी वीडियो में सुना जा सकता है. हालांकि, जनता क्या कह रही है ये अस्पष्ट है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

ट्रांसलेशन रोकने के बाद मंच से चले गए थे भरत सिंह ?: हमने NDTV के यूट्यूब चैनल पर राहुल के भाषण की लाइव स्ट्रीमिंग देखी, जो कि दूसरे एंगल से शूट हुई थी. इस स्ट्रीमिंग में 8:59 मिनट पर भरत सिंह कहते हैं ''हिंदी में बोलेंगे चलेगा''. फिर भरत सिंह जनता की तरफ हाथ उठाकर कन्फर्म भी करते हैं. फिर राहुल गांधी पूछते हैं ''चलेगा''.

इसके बाद देखा जा सकता है कि भरत सिंह खाली कुर्सी की तरफ बैठने जाने लगते हैं. और जब राहुल की आवाज आती है कि ''करना नहीं चाहते क्या?''. तो भरत सिंह वापस राहुल की तरफ जाने लगते हैं. लेकिन, नेता उन्हें वापस इशारे में कुर्सी की तरफ आने के आग्रह करते हैं तो भरत सिंह कुर्सी की तरफ लौट जाते हैं.

जाहिर है कि भरत सिंह ट्रांसलेशन छोड़कर भागे नहीं, राहुल के बोलने पर वो राहुल के पास वापस जाते देखे जा सकते हैं. लेकिन, फिर कांग्रेस नेताओं ने उन्हें वापस कुर्सी पर बैठने का आग्रह किया.
ADVERTISEMENTREMOVE AD

मौके पर मौजूद कांग्रेस नेताओं ने क्या कहा? : गुजरात कांग्रेस के प्रवक्ता हेमंग रावल ने क्विंट से पुष्टि की कि जनता की मांग के बाद भरत सिंह ने ट्रांसलेशन रोका था.

मैं ही मंच का संचालन कर रहा था. भाषण के बीच में जनता की तरफ से मांग हुई कि ट्रांसलेशन रोक देना चाहिए. इसके बाद ट्रांसलेशन कर रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता भरत सिंह ने राहुल गांधी की सहमति के बाद ट्रांसलेशन रोक दिया. भरत सिंह राहुल गांधी को वापस चॉपर तक छोड़ने भी गए थे.
हेमंग रावल, गुजरात कांग्रेस प्रवक्ता

पड़ताल का निष्कर्श: मतलब साफ है, सोशल मीडिया पर किया जा रहा ये दावा सच नहीं है कि राहुल गांधी के भाषण का गुजराती में अनुवाद कर रहे ट्रांसलेटर भाग गए.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×