मां बनने पर लोग कहते हैं मोटी, अखाड़े में दूंगी जवाब: गीता फोगाट

गीता फोगाट बच्चे को जन्म देने के 7 महीने बाद टोक्यो ओलंपिक की तैयारियों में जुट गईं हैं

Published31 Jul 2020, 04:30 PM IST
न्यूज वीडियो
1 min read

रेसलर गीता फोगाट पहले बच्चे को जन्म देने के 7 महीने बाद टोक्यो ओलंपिक की तैयारियों में जुट गईं हैं. बेटे अर्जुन के आने के बाद से उनकी जिंदगी में वैसे तो काफी बदलाव आ गए हैं लेकिन वो दोबारा से रेसलिंग के मैदान में उतरने के लिए तैयार हैं.

कोरोना वायरस महामारी की वजह से टोक्यो ओलंपिक स्थगित कर दिए गए हैं. जिसकी वजह से गीता को तैयारी का थोड़ा वक्त मिल गया है. ऐसे में गीता इसे अवसर के रूप में देखती हैं और पूरी तैयारी के साथ ओलंपिक में जाकर मेडल जीतना चाहती हैं.

सभी पूछते थे कि अभी क्या प्लान है. क्या मैंने कुश्ती छोड़ दी? लेकिन मेरे मन में कभी खयाल नहीं आया कि मैंने कुश्ती छोड़ने का सोच भी रही हूं. ऐसे में जब ओलंपिक स्थगित हुआ तो मेरे मन में खयाल आया कि हो सके कि अच्छे के लिए हुआ हो. इसलिए ट्रेनिंग स्टार्ट कर दी. 
गीता फोगाट, रेसलर

गीता के कहना है कि जब वो सोशल मीडिया पर फोटो डालती हैं तो कुछ लोग कमेंट करते हैं कि 'मोटी' हो गई हैं, वजन कम करने की जरूरत है. मुझे वो चीजें मोटिवेट करती हैं. फिर लगता है कि मुझे लोगों को दिखाना है कि कोई भी कुछ भी चाहे तो वो कर सकता है.

पिछली बार गीता ने 57-58 कैटेगरी में हिस्सा लिया था. जहां साक्षी मलिक ने उन्हें ट्रायल में हराया था. साक्षी ने उस बार देश के लिए ओलंपिक मेडल भी जीता था. इस बार भी गीता का साक्षी से मुकाबला हो सकता है. ऐसे में गीता उनका सामना करने के लिए पूरी तैयारी में जुटी हुई हैं.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!