ADVERTISEMENT

2020 में श्रद्धा ने मुंबई पुलिस को लेटर में क्या लिखा था?

Shraddha Walker Letter To Police: श्रद्धा ने लेटर में जो डर जताया था, 2 साल बाद वह हकीकत बन गया. पढ़े पूरा लेटर.

Updated

"आज उसने मुझे जान से मारने की कोशिश की"

"वह मुझे डराता है, ब्लैकमेल करता है कि मार डालेगा"

"मेरे टुकड़े-टुकड़े करके फेंक देगा"

ये डर श्रद्धा वालकर (Shraddha Walker) का था. साल 2020 में उसने महाराष्ट्र के वसई में पुलिस के पास यही शिकायत दर्ज कराई थी. 2 साल बाद श्रद्धा का डर सही साबित हुआ. श्रद्धा के शिकायत पत्र पर महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा, अगर सही समय पर कार्रवाई होती तो वह बच जाती. जब वसई पुलिस पर सवाल उठा तो वहां से भी जवाब आया. क्रमवार तरीके से पूरा अपडेट समझते हैं.

ADVERTISEMENT

श्रद्धा ने लेटर में क्या लिखा?

"मैं श्रद्धा, विकास वालकर, उम्र 25, आफताब अमीन पूनावाला, उम्र 26 फोन नंबर- 7972**15**, 8177**32** अभी B-302 रिगल अपार्टमेंट, विजय विहार कॉम्प्लेक्स (एआरसी भवन के पास) के बारे में रिपोर्ट करना चाहती हूं कि वह मेरे साथ गाली गलौज और मारपीट करता है. आज उसने मुझे जान से मारने की कोशिश की और वह मुझे डराता है, मुझे ब्लैकमेल करता है कि वह मुझे मार डालेगा, मेरे टुकड़े-टुकड़े करके फेंक देगा. वह मेरे साथ पिछले छह महीने से मारपीट कर रहा है लेकिन मुझमें इतनी हिम्मत नहीं थी कि मैं पुलिस में उसकी शिकायत कर सकूं क्योंकि वह मुझे जान से मारने की धमकी दे रहा था."

"आफताब के माता-पिता उसके हिंसक व्यवहार के बारे में जानते हैं और ये भी जानते हैं कि उसने मुझे जान से मारने की धमकी दी है. वह ये भी जानते हैं कि हम एक साथ रहते हैं और वे उससे मिलने के लिए हफ्ते में एक बार घर भी आते हैं. मैं अब भी उसी के साथ रह रही हूं क्योंकि हम आने वाले दिनों में शादी करने वाले हैं. लेकिन अब मैं उसके साथ नहीं रहना चाहती लेकिन वो मुझे मारने की धमकी दे रहा है. जहां भी वो मुझे देखेगा वहां मारेगा."

"वह मेरे टुकड़े-टुकड़े करके फेंक देगा"-2020 में श्रद्धा ने की थी पुलिस से शिकायत

फोटो- एक्सेस्ड बाय क्विंट

वहीं श्रद्धा के माता-पिता उसके संपर्क में नहीं थे क्योंकि वे इस विवाह के खिलाफ थे. उन्होंने श्रद्धा और आफताब के रिश्ते को नहीं स्वीकारा था.

ADVERTISEMENT

"समय पर कार्रवाई होती तो हत्या को टाल सकते थे"

महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने श्रद्धा के शिकायत पत्र पर कहा, इस मामले में जांच की जरूरत है. किसी को दोष दिए बिना, हमें सच्चाई जानने की जरूरत है. अगर पुलिस ने समय पर कार्रवाई की होती, तो हत्या को टाला जा सकता था.

महाराष्ट्र पुलिस ने श्रद्धा की शिकायत पर क्यों कार्रवाई नहीं की थी? 

न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार, महाराष्ट्र पुलिस ने बुधवार को कहा कि 2020 में श्रद्धा वाकर की शिकायत के आधार पर उन्होंने जांच शुरू की थी, लेकिन लिखित में मामला वापस लेने के बाद मामला बंद कर दिया गया था. रिपोर्ट के अनुसार डीसीपी, सुहास बावचे ने कहा कि श्रद्धा ने अपने लिखित बयान में कहा था कि "उनके और आफताब पूनावाला के बीच विवाद सुलझा लिया गया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
Speaking truth to power requires allies like you.
Q-इनसाइडर बनें
450

500 10% off

1500

1800 16% off

4000

5000 20% off

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
Check Insider Benefits
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×