ADVERTISEMENT

Budget 2022 से पहले Economic Survey पेश, FY23 में 8-8.5% GDP ग्रोथ का अनुमान

वित्त मंत्री कल संसद में वित्त वर्ष 2022-23 के लिए देश का बजट पेश करेंगी

Updated
Budget 2022 से पहले Economic Survey पेश, FY23 में 8-8.5% GDP ग्रोथ का अनुमान
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

संसद के बजट सत्र (Budget 2022) की शुरुआत हो चुकी है. राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्थिक सर्वेक्षण 2022 (Economic Survey 2022) देश के सामने रखा. इस आर्थिक सर्वेक्षण के जरिए वित्त मंत्री ने पिछले एक साल के दौरान भारत की अर्थव्यवस्था ने कैसे प्रगति की है इसका लेखा जोखा पेश किया.

आर्थिक सर्वेक्षण ने वित्त वर्ष 2022-23 की वास्तविक जीडीपी वृद्धि 8 से 8.5% रहने का अनुमान लगाया है.
ADVERTISEMENT

बैंकिंग प्रणाली अच्छी तरह से पूंजीकृत- आर्थिक सर्वेक्षण

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार आर्थिक सर्वेक्षण में कहा गया है कि यदि आवश्यक हो तो सरकार के पास अतिरिक्त सहायता के लिए स्थान है. इसके अलावा अगले वित्त वर्ष में विकास के मुख्य बिंदुओं के रूप में वैक्सीन कवरेज, कैपेक्स और निर्यात पर ध्यान दिया गया है.

इसमें कहा गया है कि भारत को आयातित इंफ्लेशन से अलग होने की जरूरत है. भारत की बैंकिंग प्रणाली अच्छी तरह से पूंजीकृत है. इसके अलावा अर्थव्यवस्था की रिकवरी के लिए सहायता प्रदान करने के लिए वित्तीय प्रणाली अच्छी स्थिति में है.

आर्थिक सर्वे की अहम बातें

ADVERTISEMENT
  • 2022-23 में चुनौतियों का सामना करने के लिए अर्थव्यवस्था अच्छी तरह से तैयार है

  • महामारी के कारण हुई तबाही के लिए भारत की आर्थिक प्रतिक्रिया रही है- डिमांड मैनेजमेंट के बजाय आपूर्ति पक्ष में सुधार

  • वित्त वर्ष 2013 में विकास को व्यापक वैक्सीन कवरेज, आपूर्ति-पक्ष सुधारों से लाभ और नियमों में ढील द्वारा समर्थित किया जाएगा

  • अगले वित्त वर्ष में विकास को समर्थन देने के लिए पूंजीगत खर्च में तेजी लाने के लिए मजबूत एक्सपोर्ट ग्रोथ और राजकोषीय स्थान की उपलब्धता

  • अर्थव्यवस्था की रिकवरी में मदद के लिए निजी क्षेत्र का निवेश वित्तीय प्रणाली के साथ अच्छी स्थिति में होगा

  • भारत 'फ्रैजाइल फाइव' देशों में से चौथे सबसे बड़े विदेशी मुद्रा भंडार में तब्दील

GDP को लेकर अन्य कुछ अनुमान

  • आईएमएफ ने वित्त वर्ष 22 के लिए भारत के सकल घरेलू उत्पाद के अनुमान को घटाकर 9% कर दिया

  • विश्व बैंक ने 2021-22 के लिए भारत की विकास दर 8.3% पर बरकरार रखी है

  • भारतीय रिजर्व बैंक 9.5 प्रतिशत की थोड़ी कम दर पर विकास का अनुमान लगाता है

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×