ADVERTISEMENT

Pandora Papers: भारत,पाकिस्तान से लेकर स्पेन, ये देश करेंगे टैक्स चोरी की जांच

अब तक 9 देशों की सरकारों ने Pandora Papers में शामिल लोगों और संस्थानों की वित्तीय गतिविधियों की जांच की घोषणा की

Published
<div class="paragraphs"><p>Pandora Papers</p></div>
i

अपने आकर में पनामा पेपर्स खुलासे से भी बड़े पेंडोरा पेपर्स (Pandora Papers) ने जारी होने के बाद से ही सरगर्मी बढ़ा दी है. इसमें वर्तमान और पूर्व राष्ट्रपतियों, प्रधानमंत्रियों और राष्ट्राध्यक्षों सहित 35 वैश्विक नेताओं के द्वारा करोड़ों डॉलर की संपत्ति छिपाने के लिए ऑफशोर टैक्स हेवन के इस्तेमाल का दावा किया गया.

ADVERTISEMENT

अब तक कम से कम 9 देशों की सरकारों ने पेंडोरा पेपर्स में शामिल हाई-प्रोफाइल नेताओं, नागरिकों और संस्थानों की वित्तीय गतिविधियों की जांच की घोषणा की है. इसमें भारत से लेकर पाकिस्तान और स्पेन से लेकर मैक्सिको तक की सरकार शामिल है.

हालांकि कई ऐसे देश भी हैं जिन्होंने पेंडोरा पेपर्स के खुलासे को मन-गढंत बताते हुए आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है. देखते हैं विभिन्न देशों की इसपर प्रतिक्रिया.

भारत

भारतीय केंद्र सरकार ने 4 अक्टूबर को कहा कि वह "पेंडोरा पेपर्स" से संबंधित मामलों की जांच करेगी और कानून के अनुसार उचित कार्रवाई करेगी. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के प्रमुख की अध्यक्षता में प्रवर्तन निदेशालय (ED), भारतीय रिजर्व बैंक और फाइनेंसियल इंटेलिजेंस यूनिट के प्रतिनिधि रिपोर्टों की जांच करेंगे.

पाकिस्तान

पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने पेंडोरा पेपर्स में नामित सभी नागरिकों की जांच करने और गैर-कानूनी पाए जाने पर "उचित कार्रवाई करने" की बात कही है. इमरान खान ने 4 अक्टूबर को ट्वीट करते हुए कहा कि

"हम पेंडोरा पेपर्स का स्वागत करते हैं, जिसमें टैक्स चोरी और भ्रष्टाचार और फाइनेंसियल हेवन में मनी लॉन्ड्रिंग के जरिए जमा किए गए बड़े लोगों की संपत्ति को उजागर किया गया है”

पनामा

पनामा सरकार ने कहा कि वह पेंडोरा पेपर्स में सामने आये ऑफशोर प्रोवाइडर बैंकों/ वित्तीय संस्थानों का सुपरविजन /पर्यवेक्षण शुरू करेगी. इसके अलावा पनामा के टैक्स ऑथोरिटी ने कहा कि वह पनामा में उन सभी करदाताओं का ऑडिट करेगी जिनका उल्लेख पेंडोरा पेपर्स की जांच में किया गया है.

पनामा स्थित ऑफशोर प्रोवाइडर्स में से एक- लॉ फर्म, एल्कोगल ने लैटिन अमेरिका के राजनीतिक व्यक्तियों को टैक्स हेवन में शेल कंपनियों की स्थापना करने प्रमुख रूप से मदद की है.

ब्राजील

ब्राजील में विपक्ष के नेता एलेसेंड्रो मोलोन ने घोषणा की है कि वह देश के संघीय कानून प्रवर्तन को ब्राजील के वित्त मंत्री पाउलो गेडेस और देश के केंद्रीय बैंक के अध्यक्ष रॉबर्टो कैम्पोस की ऑफशोर अकाउंट्स की गतिविधियों की जांच करने के लिए कहेंगे.

ADVERTISEMENT

स्पेन

स्पेन के मिनिस्ट्री ऑफ ट्रेजरी ने 4 अक्टूबर को कहा कि स्पैनिश टैक्स एजेंसी इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स (ICIJ) द्वारा प्रकाशित पेंडोरा पेपर्स में नामित कई स्पेनिश व्यक्तियों की कथित भूमिका की जांच करेगी.

“स्पेन टैक्स धोखाधड़ी और विदेश में पैसा रखकर मुनाफाखोरी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय लड़ाई का समर्थन करने वाले देशों में से एक है. यह पहले भी संभावित टैक्स चोरी से जुड़े पत्रकारिता जांच पर काम कर चुका है”
मिनिस्ट्री ऑफ ट्रेजरी, स्पेन

चेक रिपब्लिक

चेक रिपब्लिक के अधिकारियों ने सोमवार, 4 अक्टूबर को ट्वीट किया कि वे पेंडोरा पेपर्स में नामित लोगों की जांच करेंगे. गौरतलब है कि इसमें प्रधान मंत्री लेडी बाबिस का नाम भी शामिल हैं, जो अभी आगामी चुनाव के प्रचार-प्रसार में व्यस्त हैं.

लीक हुए डॉक्युमेंट्स की जांच के बाद दावा किया गया कि प्रधान मंत्री लेडी बाबिस ने 22 मिलियन डॉलर के आलीशान महल के स्वामित्व की बात को छुपाया. CNN प्राइमा न्यूज द्वारा आयोजित एक टेलीविजन बहस के दौरान यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने संपत्ति खरीद के संबंध में कोई कानून तोड़ा है, बाबिस ने कहा, "बिल्कुल नहीं ... यह टैक्स का पैसा था."

रूस ने पेंडोरा पेपर्स की विश्वसनीयता पर उठाया सवाल

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का नाम लीक हुई फाइलों में तो नहीं है लेकिन उनके करीबी सहयोगी- जिसमें उनके हेड इमेज मेकर और एक महिला भी शामिल हैं, जो उनकी कथित गर्लफ्रेंड थी.

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने पेंडोरा पेपर्स से जुडी रिपोर्टिंग की विश्वसनीयता पर सवाल उठाया और कहा कि आगे की जांच की कोई योजना नहीं है. उन्होंने कहा कि "ईमानदारी से कहूं तो हमने वहां पुतिन के इनर-सर्किल से जुड़े किसी इंसान की कोई छिपी हुई संपत्ति नहीं देखी"

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT